माफियातंत्र के ख़िलाफ़ धर्मयुद्ध में CM को मिला विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चन्द्र अग्रवाल का साथ

 

 

 

देहरादून।
जी हा भ्रष्टाचारियों और माफियातंत्र के ख़िलाफ़ धर्मयुद्ध में CM त्रिवेंद्र सिंह रावत को विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल का भी साथ मिल गया है। बता दे कि
विधानसभा में पत्रकारों से बात करते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने भ्रष्टाचार व माफिया राज पर कड़ा प्रहार किया। उन्होंने कहा कि छोटे राज्यों का बहुत बड़ा दुर्भाग्य है कि इस तरह के माफिया तंत्र बीच-बीच में विकसित होते रहते हैं। उन्होने कहा कि मेरा यह मानना है कि ऐसे तंत्रों से हम सबको मिलकर मुकाबला करना है। सरकार के अस्थिर होने से विकास में बाधा पहुंचती है। हमारे छोटे राज्य को विकास की दरकार है। इन माफिया मंत्रों पर नकेल कसी जानी चाहिए। हम सबको एकजुट होकर इनका मुकाबला करना होगा।

वही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि तमाम भ्रष्टाचारी और माफिया लोग मुख्यमंत्री को घेरना चाहते हैं। पहले मुख्यमंत्रियों के साथ उन्होंने ऐसा किया। लेकिन वे अपनी गलतफहमी दूर कर लें। इस राज्य में उन्हें बिल्कुल जगह नहीं दी जाएगी। उनको यहां घुसने नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े तीन साल से उनके खिलाफ तमाम तरह के षड्यंत्र हुए हैं।
ओर उनकी सरकार के खिलाफ साजिश हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके और उनकी सरकार के खिलाफ साढ़े तीन सालों में तमाम तरह के षड्यंत्र हुए। उन्होंने कहा, हम जिस नीति पर चल रहे हैं, उस पर हम पूरी तरह से अडिग हैं। कोई हमें हमारे रास्ते से अलग नहीं कर सकता है। सीएम का इशारा भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति की ओर था। उन्होंने कहा कि करप्शन के खिलाफ पहले दिन से जो संकल्प व्यक्त लिया था, उस पर जिस दिन तक कुर्सी पर हैं, उसी ऊर्जा और उसी भाव के साथ डटे रहेंगे।
पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि स्टिंगबाज राज्य की राजनीति की सफाई करने के बजाय उसे और गंदा कर रहे हैं। 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here