दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे के बनने का रास्ता तो पहले ही साफ हो गया था। अब जल्द ही इस के निर्माण का काम भी शुरू हो जाएगा। करीब 13 हजार करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला ये नया इकोनॉमिक कॉरिडोर यूपी से होकर गुजरेगा। इस एक्सप्रेस-वे के बनने के बाद देश की राजधानी से उत्तराखंड की राजधानी का सफर महज ढाई घंटे में तय किया जा सकेगा। ये एक्सप्रेस-वे ग्रीनरी से लेकर हर आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस पर ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन के तहत 2022 तक एक नए भारत का निर्माण करने के लिए विश्व स्तरीय ट्रांसपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास को प्राथमिकता दी गई है। उन्होंने इस एक्सप्रेस वे के लिए सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी व केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह का आभार जताया। साथ ही कहा कि इस एक्सप्रेस वे के बनने से प्रदेश में पर्यटन की गतिविधियां निश्चित तौर पर बढ़ेगी। इसका लाभ प्रदेश के युवाओं को मिलेगा।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि देहरादून-दिल्ली एक्सप्रेस वे बनने से प्रदेश को खासा लाभ होगा। उन्होंने कहा कि इससे न केवल देहरादून से दिल्ली की दूरी कम होगी बल्कि प्रदेश में पर्यटन गतिविधियों को भी बढ़ावा मिलेगा। केंद्र सरकार ने हाल ही में दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस वे को मंजूरी प्रदान कर दी है। प्रस्तावित एक्सप्रेस वे की लंबाई 210 किमी है। इसके निर्माण की लागत 13 हजार करोड़ रुपये आंकी गई है। दिल्ली से देहरादून तक इसे चार सेक्शन में बांटा गया है। पहला सेक्शन दिल्ली से बागपत का है। इसमें छह लेन कमर्शियल वे और छह लेन एक्सप्रेस वे बनाई जाएंगी। दूसरा सेक्शन बागपत से सहारनपुर तक है। 

तकरीबन 118 किमी का यह मार्ग ग्रीन फील्ड मार्ग होगा। तीसरा सेक्शन सहारनपुर से गणेशपुर का होगा। इस मार्ग पर अतिरिक्त अंडर पास व अतिरिक्त सर्विस रोड बनाए जाएंगे और सड़क किनारे सुविधाएं विकसित की जाएंगी। चौथा व आखिरी सेक्शन गणेशपुर से देहरादून तक होगा। इसका अधिकांश हिस्सा वन भूमि से गुजरेगा। इसमें छह किमी मौजूदा रास्ता व 14 किमी का हिस्सा एलीवेटेड रोड का होगा। इस मार्ग से देहरादून से दिल्ली की दूरी 25 किमी कम होगी लेकिन एक्सप्रेस वे बनने के कारण इसमें बहुत कम समय लगेगा। अभी देहरादून से दिल्ली तक पहुंचने में छह घंटे का समय लगेगा। भविष्य में केवल ढाई घंटे में देहरादून से दिल्ली पहुंचा जा सकेगा।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here