तो रूठे सतपाल महाराज! फिर क्या मान जायगे अगर ये काम हो गया तो!

भगवान सिंह की रिपोर्ट                                                                           अब लोकसभा चुनाव 2019 के लिए समय कम रह गया लिहाज़ा उत्तरखण्ड राज्य की 5 लोकसभा सीट मैं से किसको कहा टिकट मिलेगा ये कयास लगाए जाने लगे है सबसे ज्यादा चर्चा पौड़ी लोक सभा सीट की है कि 2019 मैं बीजेपी ज़ यहा किसको टिकट मिलेगा आपको बता दे कि पौड़ी लोकसभा सीट से मेजर जरनल पूर्व सीएम भुवन चन्द्र खण्डूड़ी ओर वर्तमान सांसद पौड़ी गढ़वाल का इस चुनाव के मैदान मे उतरना मुस्किल है लिहाजा हर कोई बीजेपी नेता यहा से अपने टिकट की दावेदारी कर रहा है जो लाज़मी भी है टिकट किसको दिया जाए इसके लिये बीजेपी 2019 के चुनाव से पहले जनता के सुझाव तथा आंतरिक सर्वे के आंकलन के बाद ही टिकटों का बंटवारा करेगी. आपको बता दे कि उत्तराखंड कि पोड़ी लोकसभा सीट से बीजेपी से टिकट के लिये काफी लोगो के नाम चर्चा में है. लेकिन इस बार सबकी नजर उत्तराखण्ड सरकार में पूर्व कैबनेट मंत्री अमृता रावत पर टिकी है जो कि तीन बार उत्तराखंड में MLA ओर Cabinet Minister रह चुकी है अमृता रावत पूर्व केंद्रीय मंत्री तथा उत्तराखंड सरकार में कैबनेट मंत्री सतपाल महाराज जी की धर्म पत्नी है. सतपाल महाराज जी 1996 ओर 2009 में पौड़ी सीट से सांसद भो रह चुके है . अमृता रावत की छवि साफ बताई जाती है आपको बता दे कि जब अमृता रावत ने कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी का दामन थाम था तो उनके साथ गए सभी काग्रेस के नेताओ को जो आज बीजेपी के नेता है ओर त्रिवेन्द्र सरकार मैं आज मंन्त्री भी है सभी को टिकट बीजेपी ने दिया था पर रावत को टिकट नही मिला था इस लिहाज़ा से अमृता रावत का टिकट पौड़ी लोकसभा सीट से मजबूत माना जा रहा है समय समय पर ख़बर भी आती है कि सतपाल महाराज की उपेक्षा त्रिवेन्द्र राज मैं होती रहती है जिससे सतपाल महाराज भी नाराज़ नज़र आते है कभी कभी क्योकि सतपाल महाराज जी भी सीएम पड़ के प्रबल दावेदार थे पर बीजेपी हाईकमान ने त्रिवेन्द्र रावत को सीएम बनाया अब हमारे सूत्र बताते है कि बीजेपी हाईकमान पौड़ी लोकसभा से अमृता रावत को अगर टिकट दिकर मैदान मे उतरती है तो काफी हद तक सतपाल महाराज जी की नारजगी दूर हो जाएगी और पौड़ी लोकसभा सीट पर सतपाल महाराज हो या अमृता रावत दोनों का वोट बैंक भी ठीक ठाक है इस लिहाज़ा से बीजेपी हाईकमान ये तुरुप का इका निकालकर ये कार्ड खेल सकती है क्योंकि अगर अमृता को टिकट मिला तो उनके लिए दिल से हरक सिंह रावत वोट मांगेंगे क्योकि अमृता रावत हरक सिंह रावत के बुरे वक्त की सहयोगी रही है, जरनल खण्डूड़ी भी साथ देगे , सतपाल महाराज तो है ही ओर इन तीनो लोगों की बात पौड़ी लोकसभा की जनता सुनती भी है बस अब देखना ये है कि बीजेपी क्या अमृता रावत को पौड़ी लोकसभा से टिकट देती है या नही                                                                                      दूसरी तरफ उत्तराखण्ड के लाल अजीत डोभाल ओर अजीत डोभाल के लाल शौर्य डोभाल के नाम की चर्चा omभी तेज है अगर बीजेपी हाईकमान को किस को मनाना ना पढ़े कोई रूठे ना ओर जीत की समीकरण ठीक बैठी तो शौर्य डोभाल को भी बीजेपी पौड़ी लोकसभा से चुनाव के मैदान मे उतार सकती है कारण साफ है बीजेपी हाईकमान युवाओ को आगे लाने का काम कर रहा है और शौर्य डोभाल इसमें सबसे आगे है साथ ही उनके सर पर अपने ईमानदार पिता जो देश की सेवा कर रहे है जिनके। नाम से ही दुश्मन थर थर कांपते है पौड़ी गढ़वाल के पुत्र अजीत डोभाल का हाथ है बहराल ये दोनो ही पौड़ी लोकसभा सीट के लिए अभी बीजेपी से मजूबत उम्मीद वार है पर जहा तक राजनीतिक समीकरण की बात करे तो सतपाल महाराज जी का 2019 मैं बीजेपी प्रचार के लिए पूरा इस्तेमाल करेगी क्योकि सतपाल महाराज जी के पूरे भारत मे लोकप्रिय है अगर सबकुक ठीक रहा तो अमृता रावत का टिकट पौड़ी लोकसभा से तय माना जा रहा है और यदि बीजेपी हाईकमान ने कुछ और रास्ते निकाले जिससे महाराज ओर अमृता रावत ख़ुश रहे तो शौर्य डोभाल पर बीजेपी दाव खेलेगी पौड़ी गढ़वाल से अभी आगे आगे बहुत कुछ उतार चढ़ाव भी देखने को मिल सकते है इस सीट से पर बीजेपी हाईकमान इस सीट पर जरनल खण्डूड़ी की रॉय भी जरूर लेगा ये भी संभव है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here