तो लाखों लोगो को बेरोजगार करने का षडयंत्र है! और सच्चे दरबार की छवि खराब करने का!

: रतन नेगी की कलम से ……. .. .. 

 

गुरु राम राय दराबर साहिब ( ट्रस्ट) के खिलाफ षडयंत्र पार्ट-1

बोलता उतराखंड पहले भी बोल चुका है कि ये देवभूमि उत्तराखंड है जहा है भगवान बद्रीविशाल ,भगवान केदारनाथ, माँ गंगोत्री, माँ यमुनोत्री, हेमकुंड साहिब , पिरायन किलियर , यही है उत्तराखंड की पहचान ,ओर इस देवभूमि की राजधानी देहारादून मे है श्री गुरु राम राय जी का सच्चा दरबार जहा लाखो , करोड़ो लोग का है अटूट विस्वाश की यहा पर आने वाले भक्त की मुराद उनकी मनोकामना गुरु राम राय जी महाराज पूरी करते है ओर वर्तमान मे श्री महंत देवेंन्द्र दास जी महाराज जी से उनके लाखो ,करोड़ो भक्त उनसे आशीष लेकर अपने आप को शोभाग्यशाली मानते है और माने भी क्यो ना आखिर उनकी मनोकामना पूरी जो होती है गुरु के द्वार पर आकर सदियों से लगने वाला झंडे जी का मेला इसी बात का उदहारण है। पर आज कुछ असामाजिक तत्व ओर तथाकथित लोग श्री गुरु राम राय ट्रस्ट के द्वारा किये जा रहे जनहित के कामो पर उनके नेक कामो पर भी लगतार सवाल उठा रहे है इस बात को बोलता उतराखंड ने पहले भी कहा था और आज फिर बोल रहा है । श्री महंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी की बढ़ती लोकप्रयिता कुछ असामाजिक तत्वों को रास नही आ रही है इसलिए वो अब श्री महाराज जी की लोकप्रिय छवि को धूमिल करने का ,श्री महाराज जी के खिलाफ आये दिन षड्यंत्र रचने का काम करते है।ओर जब पर गुरु राम राय के आशीष से उनके सारे षड्यंत्र विफल हो जाते है। तब वो फिर आये दिन नए षडयंत्र पर फोकस करते है ।
बोलता उत्तराखंड ने आपको पहले भी बताया था कि 16 वीं सदी में ही पंजाब से श्री गुरु राम राय आये और उन्होंने यहां अपना डेरा लगाया था उस दौरान भारत के शासक ओरंगजेब के दिशा और निर्देश पर गढ़वाल के राजा जी ने श्री गुरु राम राय जी महाराज को 7 गांव खुदबुड़ा(खेड़ादोहा),राजपुर,चामासारी,धामावाला (धर्मावाला),धरतावाला,मिंयावाला,पंडितवाड़ी सर्वधिकार सहित दिए ये कहकर की जिससे खेती कर व लगान आदि प्राप्त कर दरबार साहिब की देखरेख का खर्च ,ओर यहा काम करने वालो के खर्च आदि की व्यवास्था हो सके तब श्री गुरु राम राय जी महाराज जी ने द्रोण घाटी को एक नया जीवन देकर एक नगर की स्थापना की ओर धीरे धीरे जनता यहा बस्ती चली गई इसके साथ ही श्री गुरु राम राय जी महाराज जी निर्धन ,गरीब और बेसहारा लोगो का सहारा बने और उन सबकी समय समय पर सहायता करते आये अब जनता यहा से जाने को तैयार ना थी वो गुरु राम राय की भक्ति मैं लीन हो गयी थी और होती भी क्यो ना उनके बिगड़े काम गुरु राम राय जी महाराज के आशीष से बन जाते थे और आज भी बनते है गुरु राम राय जी के भक्त आज भी यही कहते है कि गुरु राम राय जी से वो जो भी सचे मन से मागते है गुरु राम राय जी उन सबकी मनोकामना पूरी करते है गुरु राम राय जी के दरबार से कोई भी खाली हाथ नही जाता, गुरु राम राय महाराज जी के डेरा डालने के बाद यह स्थान द्रोणघाटी से डेरा द्रोण ओर आज वर्तमान मे देहरादून के नाम से जाना जाता है 

देहरादून का झण्डा दरबार साहिब ( श्री गुरु राम राय दरबार) देहरादून का संरक्षक है जो देहरादून की हर तरह से रक्षा करता है। ओर देवभूमि उत्तराखंड के सभी उन लोगो की मदद के लिए खड़ा रहता है जो हकीकत में मदद या सहायता के असली हकदार होते है
श्री गुरु राम राय जी महाराज के ब्रह्मलीन होने के उपरांत झण्डा दरबार साहिब के समय समय पर सजदा नशीन आदरणीय महन्त जी ने इस नगर में निवास करने वाले हर प्राणी को अपना आशीर्वाद दिया है ओर जो आज भी जारी है दरबार साहिब आज भी अपने पुराने स्वरूप मैं खड़ा है आज भी अपनी पुरानी परंपरा को निभा रहा है वो बात अलग है कि दरबार साहिब कि सरपरस्ती मे देखते देखते ये नगर समृद्ध होता चला गया कभी वो दौर भी था जब पूरे देहारादून के निवासी दरबार मे रोजाना लगने वाले लंगर मैं तीनो टाइम भोजन कर गुरु राम राय के जयकारे लगाती थी क्योकि दरबार मै लगने वाले रोजना लंगर मे उनको भरपूर भोजन मिलता था लेकिन समय के बदलते च्रक मे लोग धनवान होते चले गए गुरु राम राय जी की किरपा से , बस फिर जरूरतमंद लोग ही लंगर मैं अब भोजन करने आते है और ये लंगर आज भी जरुतमंद लोगो के लिए भोजन उपलब्ध कराता है निर्धन ओर असहाय लोगो के लिए गुरु राम राय ट्रस्ट सदेव मदद के लिए खड़ा रहता है बोलता उत्तराखंड इस बात को डंके की चोट पर कहता है और हमेशा कहेगा ।ओर आपको सच बताएगा 

अब बात आज कल की करते है सुनने में आ रहा है की कुछ लोग अपने निजी लाभ के लिए तो कुछ असामाजिक तत्व ओर कुछ वो लोग जो श्री महंत देवेंन्द्र दास जी महाराज जी की आये दिन बढ़ती लोकप्रियता से घबरा गए है ओर लगातार दरबार साहिब के खिलाफ षडयंत्र जारी है । आपको बता दे कि कभी
मातावालाबाग के नाम पर तो कभी आये दिन श्री महंत इन्दरेश अस्पताल को बदनाम करने , अस्पताल की छवि खराब करने का काम लगातार जारी है।आप सभी जानते है कि जब इतना बड़ा ट्रस्ट होगा तो इस के अंदर कुछ वो लोग भी होंगे या थे जो खुद भी अपने निजी स्वार्थ के लिए मिशन को नुकसान पहुँचा रहे थे पर समय रहते ओर समय पर गुरु राम राय महाराज जी ने खुद उनकी पोल खोल दी और आज वो मिशन से लगभग सभी दायित्व से मुक्त है।  पर इसके  बाद भी ये गुरु राम राय महाराज की किर्पा ही है कि इतना सबकुछ हो जाने के बाद भी उनको मिशन से कार्यमुक्त नही किया गया ताकि उनका रोजगार चल सके और वो सीख लेकर अब ईमानदारी से सेवा करे। पर  कुछ  आज भी सुधरने को तेयार नही । क्या जनंता को नही मालूम कि श्री गुरु राम राय दरबार सदैव जनता के हितार्थ कार्य लगातार कर रहा है पूरे राज्य में शैक्षिक संस्थान खोले गए ओर आगे और भी खोले जायगे ओर सबसे बड़ी बात ये है कि गुरु राम राय इंटर कॉलेज अपनी शिक्षा की उचित गुडवत्ता के लिए पूरे राज्य मे जाना जाता है साथ ही जरूरतमंद छात्र छात्राओ को निशुल्क ओर आधी फीस पर शिक्षा दी जाती है और समय समय पर स्वयं श्री महाराज जी होनहार छात्र छात्राओं को अपना आशीष दे कर उनका मनोबल ओर बढ़ाते है इसके साथ ही श्री महंत इंदिरेश अस्पताल मे उच्च स्वास्थ्य सेवाएं जनता को दी जा रही है वो भी अन्य बड़े अस्पतालों के शुल्क से कम खर्चे पर ओर यहा भी जरूरतमंद लोगों का उपचार पूरी जांच पड़ताल के बाद निशुल्क तो 20 से 60 %कम दर पर इलाज होता है कुल मिलाकर स्वास्थ्य सेवाओं की बात हो या शिक्षा की दोनों तरफ गुरु राम राय एजुकेशन लगातार काम कर रहा है । पर कुछ मुठी भर लोगो ने सिर्फ और सिर्फ अपने मतलब के लिए मिशन की छवि खराब तो की ही साथ मे अब ओर लोगो को भी भड़काया जा रहा है । गुरु राम राय ट्रस्ट लगातार चिंता जताई है कि कुछ अवांछित और संदिग्ध तत्व दरबार साहिब और ट्रस्ट की जमीनों पर कब्जा करने की फिराक में रहते है गौरतलब है कि पिछले 30 सालो मे ट्रस्ट की जमीनों पर कब्जे की शिकायत जायद मिली है तो कुछ मामले माननीय कोर्ट मे विचारधीन है गुरु राम राय मेंनजमेंट ने यहा पर दूंन की जनता का सहयोग भी मागा है कि यदि उनको भविष्य मे जानकारी मिलती है कि ट्रस्ट की जमीनों पर किसी की नज़र है या कुछ भी वहां पर चोरी छुपे हो रहा हो तो वो गुर राम राय मेनेजमेंट को अवगत कराएं ।
जरा गौर करे पिछले 20  सालों के अंदर दरबार साहिब ट्रस्ट की करोड़ो    की जमीन की धांधली हुई है ख़बर है कि   कुछ ट्रस्ट के ही विस्वास पात्र लोगो ने धोखा दिया है।  तो 50 करोड़ से ज्यादा रुपयों के काम काज मे पूरी तरह से अछी खासी किमीशन का खेल खेला गया है।  खेर  जो  भी हो  पर समय रहते आज सब वो लोग मिशन से दूर हो गए। तो  कुछ आज भी होगे। अब वो कोन थे या है ये तो मिशन ही जाने ।

बोलता है उत्तराखंड कि राज्य के लाखो लोगों को श्री गुरु राम राय ट्रस्ट ने रोजगार दे रखा है उनकी जीविका गुर राम राय जी की किर्पा से चल रही है गुरु राम राय एजुकेशन मिशन पूरे राज्य मे उचित गुडवत्ता की शिक्षा प्रदान कर रहा तो दूसरी तरफ कम ख़र्चे पर स्वास्थ्य सेवाएं जनता को दे रहा है इसके साथ ही पहाड़ो मे बढ़ते पलायन को लेकर भी श्री महंत जी चिंतित है जिसके लिए अब गुर राम राय ट्रस्ट ने श्री महाराज जी के आदेश ओर दिशा निर्देश पर जैविक खेती पर काम आरम्भ कर रखा है और इसके लिए अलग और मजबूत टीम का जैविक खेती पर पूरा फोकस है आज सभी ये जानते है कि पूरे पहाड़ मैं बढ़ते पलयान के लिए लाचार स्वास्थ्य सेवाएं , शिक्षा मैं गुडवत्ता का ना होना , ओर युवाओ का बेरोजगार होना और इन तीनो ही बिंदुओं पर गुरु राम राय ट्रस्ट एक मिशन के रूप मे काम कर रहा है ,ओर समय समय पर राज्य सरकार से उचित सहयोग की अपील भी करता है ताकि युवाओ को रोजगार मिल सके, लोग स्वरोजगार से जुड़े,जैविक खेती से जुड़े, ओर पूरे पहाड़ मैं मिशन अछी स्वास्थ्य सेवाएं पहुँचा सके , अछी शिक्षा छात्राओ को मिले छात्र को मिले यही प्रयास है गुरु राम राय ट्रस्ट का ,गुरु राम राय एजुकेशन मिशन का , गुरु राम राय मैनेजमेंट का , जिसे सजदा नशीन श्री महंत जी के दिशा निर्देश पर किया जा रहा है और सफलता भी मिल रही है तभी तो राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत भी श्री महंत जी का आशीष लेकर समय समय पर राज्य के विकास के लिए श्री महंत जी से विचार विमर्श करते रहते है और श्री महंत जी के उचित सुझाव को राज्य के विकास में शामिल करते है और राज्य से ही नही अपितु पूरे भारत और विदेश से भी श्री गुरु राम राय जी के भक्त गुरु के दरबार आकर उनका आशीष लेते है ओर अपने आप को शोभाग्यशाली मानते है अब आप ही बताये जब कुछ असामाजिक तत्व गुरु राम राय ट्रस्ट की छवि खराब करने का काम आए दिन करते हो , लगातार ये लोग असफल षडयंत्र करते हो , लोकप्रिय महंत जी की छवि को ख़राब करने का प्रयास करते हो तो ऐसे में इन असमाजिक तत्वों पर नज़र रखने का काम जनता का भी है जो इन लोगो की जानकारी मिलने पर गुर राम राय मेंनजमेंट को बताए , ओर श्री गुर राम राय दरबार साहिब मे काम करने वाले सभी अधिकारी हो या कर्मचारी ओर उनके सहयोगी वो भी ईमानदारी के साथ अपने कर्तव्य को पूरा करे गुरु राम राय ट्रस्ट के प्रति अपनी जिमेदारिया ओर जवाबदेही को समझे सबको साथ लेकर एकजुटता के साथ गुरु राम राय एजुकेशन मिशन को आगे बढ़ाए , उत्तराखंड का प्रसिद्ध श्री महंत इंदिरेश अस्पताल को पहाड़ के जिलो मे भी विस्तार दे , ओर धीरे धीरे समय अनुसार गुरु राम राय ट्रस्ट जनहित के लिए आगे भी लगातार काम करता रहे ओर ये तब ही सम्भव है जब गुरु राम राय मिशन से जुड़ा, गुरु राम राय ट्रस्ट से जुड़ा ,गुरु राम राय मेंनजमेंट से जुड़ा प्रत्येक छोटे से लेकर बड़ा अधिकारी ,कर्मचारी, ईमानदारी के साथ अपने कर्तव्य को पूरा करे अपने काम को करे तो गुर राम राय जी की किरपा उन पर सदा बनी रहेगी ओर असमाजिक तत्व खुद बेनकाब होंगे क्योकि ये गुरु राम राय जी का सच्चा दरबार है इतिहास गवाह है कि जो व्यक्ति आस्था ,विस्वाश, पूरी लगन और मेहनत से यहा सेवा करता है उनके दुखों को गुरु राम राय जी दूर करते है उनके परिवार मे शांति बनी रहती ओर उनका परिवार आगे बढ़ता है पर जिस जिस व्यक्ति ने अपने लालच के लिए ट्रस्ट को समय समय पर नुकसान पहुचाया , ट्रस्ट की जमीनों पर कब्जा किया या करवाया जिन्होंने हर जगह कमीशन का खेल खेला  गया जो भले ही आज धन के लिहाज़ से संपन्न होंगे पर सूखी नही रह सकते । ये कहना गुरु राम राय के भक्तों का है।

बोलता उतराखंड को सूत्रो द्वारा जनकरी मिली है कि गुरु राम राय ट्रस्ट के प्रबंधक श्री जुयाल जी को भी आजकल जान से मारने की धमकियां मिल रही ओर उनको ही नही उन सबको कही ना कही से डराया धमकाया जा रहा है जो आज मिशन के लिए ईमानदारी से अपनी सेवाएं दे रहे है। ख़बर है कि गुरु राम राय दरबार के प्रबन्धक श्री जुयाल दरबार साहिब के लगभग 100 से 200 मीटर या उससे दूर दरबार ट्रस्ट की दुकानों के किराए मूल्य को अब बढ़ाना चाहते है जरा गौर करे गुरु राम राय ट्रस्ट की लगभग 600 से अधिक दुकानों का दराबर ट्रस्ट मे अभी तक किराया सिर्फ 200 से500 रुपए के बीच मे ही आता है जो मिशन के लिए अब चिंता की बात है सूत्रों के अनुसार गुरु राम राय मिशन व्यपारियों को उनके काम और दुकान ओर जगह के लिहाज़ा से उनसे ये बात कह रहा है कि आज आप गुरु राम राय महाराज जी की किर्पा से सम्पन्न है आपकी दुकान का सालाना टर्न ओवर भी ठीक है ।आप इनकम टैक्स भी ठीक देते है।आप रिटर्न भी अच्छी खासी भरते है और आप दुकानदार भाई लोगो के साथ गुरु राम राय जी महाराज जी का आशीष सदैव बना रहता श्री महाराज जी की किर्पा आप सब पर है ।अब आप सब भी अब साल 2018 के लिहाज़ा से सोचईये क्या अब भी एक दुकान का किराया 500 रुएय ही होना चाइए ? आप गुरु राम राय ट्रस्ट की दुकानों का
वो किराया तो दे जो आज आप आसानी से दे सकते है । जिसे देने मे कोई परेशानी नही है।
आपको बता दे कि गुरु राम राय ट्रस्ट को लगभग सालाना लगभग सिर्फ दुकानों से ही 4 करोड़ तक नुकसान हो रहा है ।जब तक दरबार साहिब के ऊपर अपने अस्पताल और मेडिकल कॉलेज का खर्चा नही था तब तक तो दरबार साहिब ट्रस्ट ने इस ओर ध्यान नही दिया लेकिन आज करोड़ो रूपये वेतन भते मे चले जाते और जनहित के कार्यो मे मिशन लगातार हर महीने लगभग 2 करोड़ से ज्यादा खर्च कर रहा है ऐसे मे ट्रस्ट ने संपन्न दुकान दार भाई लोगो से निवेदन किया की अब आप हमारा साथ दे हमको उचित आज के लिहाज से दुकान का किराया दे ।ओर ये भी बात गुरु राम राय ट्रस्ट की ओर से कही गई है कि जिनकी आय दुकान से नही हो पा रही है जिनका रोजगार नही चल रहा है जो सिर्फ दाल रोटी और अपने घर चलाने जितना ही कमा पा रहे है वो अपनी आय का प्रमाण दे गुरु राम राय ट्रस्ट उनके साथ खड़ा है पर जिन्होंने गुरु राम राय ट्रस्ट की दुकानों को आगे बेच दिया और उनसे हर महीने 5 हज़ार से 15 हज़ार का किराया लिया जा रहा है और मिशन को ट्रस्ट को दिया जा रहा है सिर्फ 500 रुपए हर महीने उसका क्या ? क्या ये गुरु राम राय ट्रस्ट के साथ गदारी नही है??? उन दुकान वालो का क्या जो रोज ट्रस्ट की ही दुकान मे बैठ कर रोज का सब खर्च निकालने के बाद भी बचत के कम से कम रोजाना 1 हज़ार से 15 हज़ार तक कि जिनकी बचत है। वो लोग भी जब 500 रुपए किराया महीने का देगे तो क्या ये ठीक है ?अन्याय नही आज के लिहाज से गुरु राम राय ट्रस्ट के साथ?
बोलता है उत्तराखंड़ आजकल किसी छोटे से छोटे 2 से 4 कमरे का किराया भी महीने के 5 हज़ार से कम नही कोई भी मकान मालिक नही लेता ओर बिजली पानी अलग! फिर चाहे उस परिवार का सदस्य हर महीने 10 हज़ार कमाए या एक लाख ये उन पर निभर्र करता है पर मकान मालिक को इससे कोई मतलब नही होता। आजकल सड़क पर या सड़क के किनारे लगने वाली छोटी छोटी ठेलिया भी पुलिस से लेकर नगर निगम और जिसकी दुकान के बाहर खड़े है उस तक रोज के कम से कम 500 से 1000 रूपए देते है ।क्या वो लोग बिना कमाए दे रहे है?? सवाल बहुत है जिनका जवाब बोलता उत्तराखंड उन लोगो से मांगता है जो दुकानदार भाई लोगो को भड़का रहे है जो कह रहे है कि भूख हड़ताल करो , गुरु राम राय साहिब के आगे धरना दो दरबार के आगे, बहराल बोलता उतराखंड तो सिर्फ इतना जानता है कि इस पूरे मामले में राजनीति नही होनी चाइए । जानकारी के अनुसार दुकानदार भाई लोगो को भड़काया जा रहा है मिशन के खिलाफ ओर जानकारी ये भी है कि गुरु राम राय ट्रस्ट के लोगो ने ये भी कहा है कि अगर आपकी आय नही है और आप का काम नही चलता तो आप हमको हर महीने से लेकर पूरे साल तक का अपनी कामाई का प्रमाण दे ।ट्रस्ट आपके साथ खड़ा रहेगा पर जिनके पास सब कुछ होने के बाद भी वो लोग सिर्फ 500 रुपए ही किराया देगे। ओर इस छोटी सी बात का राजनीतिकरण करेगे वो ठीक नही । बात ठीक भी है अब किराया साल 2018 के लिहाज़ा से मिलना भी चाइए । बहराल गुरु राम राय ट्रस्ट के नेक कामो की अनदेखी की जाती है और जब गुरु राम राय मिशन अपनी बात को रखता है ।तो मिशन के खिलाफ कुछ लोग षडयंत्र करने लग जाते है। जनकरी अनुसार ट्रस्ट की लगभग 636 दुकानों के किरायेदार मे से 400 लोग सहमत भी है पर कुछ वो लोग राजनीति कर रहे है जिनको मोहरा कोई और बना रहा है। और इस बात का प्रमाण खुद निकलकर सामने आ रहे है । बहराल ये सब ठीक नही ।जानकारी अनुसार गुरु राम राय ट्रस्ट इन किर्याए के रुपयों से अस्पताल मे ओर सुविधाओं को जुटाना चाहता है और हर गरीब जरूरतमंद लोगों की मदद करना चाहता है तो इसमे गलत क्या है? हा जहा पर कोई कमी दिखती है या कोई शिकायत मिलती है तो पूरे उत्तराखंड की जनंता अपनी बात गुरु राम राय ट्रस्ट के जवाब देही लोगो के आगे रख सकती है पर ये सब ठीक नही की मिशन की छवि को खराब किया जाए बिना वजह जिससे गुरु राम राय के सेवको ओर भक्तों को भी चोट पहुच रही है । और ये ही सब आगे होता रहा तो कैसे उन सब लाखो लोगो को रोज़गार मिलेगा जो किसी ना किसी रूप मे मिशन के साथ जुड़े है ।यह पर डबल इज़न की सरकार को भी सोचना होगा की जनकल्याणकारी कार्यो वाली ट्रस्ट के साथ  कुछ लोग ठीक नही कर रहे है ज़िस ट्रस्ट ने लाखों लोगों को रोजगार दे रखा है और यही सडयंत्र आगे और होते रहे तो एक दिन लाखो लोग बेरोजगार हो जायेगे तब सरकार भी उनको रोजगार ना दे पायेगी ।मिशन अगर अपनी दुकानें , अपनी जमीन, ओर अपने काम से ही सब कुछ कर रहा है तो मिशन की छवि को ख़राब करने का किसी को कोई हक नही।

ओर जो बोलता उत्तराखंड़ समझ रहा है कि अगर बिन बात के मिशन की छवि को ख़राब किया जाएगा  बेवजह आरोप लगये जायेगे तो कही ना कही इसका असर मिशन की जनहित की सेवाओं से लेकर उन पर पड़ेगा जो यह लाखो लोग रोजगार से जुड़े है।एक बिन बात की छवि को खराब करना दूसरी बात जब मिशन ख़ुद अपने श्रोत्र से कुछ धन  एकत्र कर वेतन भते ओर जनहित के कार्यो मे लगा रहा है और मिशन को जब अपने हक के लिए बोलना पड़ रहा है तो वो दिन दूर नही जब  उन   षड्यंत्र  कारी लोगो की वजह से लाखों लोग बेरोजगार हो जायेगे।क्योकि जनहित की सेवा करने का सकल्प मिशन का है ना कि वहा काम करने वालो का वो तो हर महीने वेतन ही मागेंगे ओर जब मिशन को मिशन के ही ट्रस्ट से अपने आय के श्रोत्र से आय नही मिलेगी तो आप  समझ।  सकते है कि फिर  आने वाले समय मे   लाखो  लोगो  को बेरोजगार होना पड़ेगा।

हालाकि गुरु राम राय जी के आशीष से ये सब नही होगा पर   इसलिए हर षडयंत्र को बेनकाब   तो करना होगा   क्योकि मिशन की तो छवि ही ख़राब करने का  षडयंत्र     है! आपको तो बेरोजगार करने की कहानी लिखी जा रही है।

 

बहराल ये सभी जानकारी सूत्रों से मिली है यदि आगे भी किसी की तरह  से कोई बात या जानकारी मिलेगी  तो उसको भी जनंता के आगे रखा जाएगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here