मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत जापान यात्रा पर जा रहे है आपके लिए उत्तराखंड, ओर जाने आज के महत्वपूर्ण मंत्री मंडल के फैसले।

262

 

त्रिवेन्द्र सरकार का फैसला, 15 फीसदी तक बढ़ाए भूमि के नए सर्किल रेट ओर भी जाने आज के महत्वपूर्ण मंत्री मंडल के फैसले।

आज यानी रविवार को त्रिवेन्द्र सरकार ने अपनी  दूसरी ई कैबिनेट की बैठक बुलाई
ओर आज इस दौरान त्रिवेन्द्र कैबिनेट ने सर्किल रेट समेत कई फैसलों पर अपनी मुहर लगाई।
आज  कैबिनेट की बैठक सचिवालय में शाम चार बजे हुई। इसमें कृषि, अकृषि और व्यवसायिक भूमि के सर्किल रेट में 15 फीसदी की बढोतरी की गई।

ये हुए महत्वपूर्ण फैसले आप भी जाने
कृषि और अकृषि भूमि के सर्किल रेट के विसंगति से 15% तक की वृद्धि हुई। विसंगति में मुख्यतः मुख्य मार्ग के एक तरफ एक दर तथा दूसरी तरफ दूसरी दर थी। इसके साथ ही नदी के एक तरफ एक दर तथा दूसरी तरफ दूसरी दर थी।
फरवरी माह में 3 से 5 फरवरी के मध्य मुख्यमंत्री जापान यात्रा पर होंगे। यामानासी परफ्रेक्चर राज्य सरकार के साथ अनुबन्ध करेगा। यह अनुबन्ध पर्यटन ,संस्कृति और आर्थिक क्षेत्र में होगा।
राज्य में ऐसे पट्टाधारक जिनकी पट्टा अवधि किसी कारण न्यायालय ,प्रसाशनिक कारण से बाधित रही हैं उस अवधि में खनन की अनुमति दी जाएगी।
रिवर ट्रेनिंग 2020 नीति में परिवर्तन को अनुमति मिली। इसके साथ ही दो माह की ट्रेनिंग की अवधि चार माह किया गया।
आज दूसरी ई कैबिनेट की जानकारी शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक जी ने दी। कुल 4 प्रस्ताव को अनुमति दी गई।
1
कृषि और अकृषि भूमि के सर्किल रेट के विसंगति से 10% की वृद्धि हुई।
विसंगति में मुख्यतः मुख्य मार्ग के एक तरह एक दर तथा दूसरी तरफ दूसरी दर थी।
तथा नदी के एक तरफ एक दर तथा दूसरी तरफ दूसरी दर थी।
2
फरवरी माह में 3 से 5 फरवरी के मध्य
मुख्यमंत्री जापान यात्रा पर होंगे।
यामानासी परफ्रेक्चर राज्य सरकार के साथ अनुबन्ध करेगा। यह अनुबन्ध पर्यटन ,संस्कृति और आर्थिक क्षेत्र में होगा।

राज्य में ऐसे पट्टाधारक जिनकी पट्टा अवधि किसी कारण न्यायालय ,प्रसाशनिक कारण से बाधित रही हैं उस अवधि में खनन की अनुमति दी जाएगी।

रिवर ट्रेनिंग 2020 नीति में परिवर्तन को अनुमति।
माह की ट्रेनिंग की अवधि 4 माह की गई।
पूर्व जे सी बी ,पोकलैंड की अनुमति नही थी अब कर दी गई।
नदी के साथ जलाशय ,नहर में जमा शिल्ट को भी जोड़ा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here