पहाड़ से त्रिवेंद्र सरकार की कैबिनेट के महत्वपूर्ण फैसले, मंत्री अब स्वयं अपना इनकम टैक्स भरेंगे ओर भी बहुत कुछ पहाड़ बोला धन्यवाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र जी

1.सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय को मंजूरी ।

2. जल नीति 2019 को मंजूरी ।

3. पी.पी.पी. मोड नीति 2012 में संशोधन।

4. राज्य की आई.टी.आई. में फीस वृद्धि को मंजूरी, फीस वृद्धि के फल स्वरुप मिलने वाले राजस्व का कुछ हिस्सा आई.टी.आई. व कुछ हिस्सा राजकोष में जमा होगा।आई .टी.आई. के स्तर को सुधारने के लिए राज्य सरकार इस राशि का उपयोग करेगी।

5. जंगली जानवरों से जान -माल की हानि का मुआवजा अब वन विभाग के जगह आपदा के फंड से मिलेगा ।

6. टिहरी झील के पास आइटीबीपी के एडवेंचर सेंटर को मंजूरी। इसमें जब तक भूमि उपलब्ध ना हो तब तक पर्यटन विभाग के भवनों का उपयोग किया जाएगा।

7. डॉ आर.एस. टोलिया प्रशासकीय अकादमी नैनीताल की सेवा नियमावली को मंजूरी ।

8. मंत्री अब स्वयं अपना इनकम टैक्स भरेंगे।

9. राज्यपाल सचिवालय और राजभवन की अब से एक ही नियमावली होगी।

10. पंडित दीनदयाल उपाध्याय गृह आवास नियमावली में संशोधन। अब पुराने घर के नवीनीकरण अथवा उसमें सुविधाएं बढ़ाने के लिए 143 की जरूरत नहीं, बैंक से ऐसे होमस्टे को अब मिल सकेगा लोन।

11. मोटरयान नियमावली में संशोधन, अब 30 दिन के भीतर संबंधित थाने को रिपोर्ट देनी अनिवार्य होगी।

12. उत्तराखंड डेयरी सहकारी फेडरेशन के तहत उच्च प्राथमिक व प्राथमिक स्कूलों के लगभग 6 लाख बच्चों को सप्ताह में 1 दिन पोस्टिक दूध मिलेगा।

13. पशुपालन विभाग के तहत वैक्सीनेटर सेवा नियमावली को मंजूरी।

14. उत्तराखंड राजस्व अभिलेख 2019 का प्रख्यापन किया गया , इसके लिए प्रदेश में 10 सदस्य कमेटी बनेगी और जिलों में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कमेटी बनाई जाएगी।

आज अल्मोड़ा जनपद के अंतर्गत गोविंद बल्लभ पंत इंस्टिट्यूट में आयोजित राज्य की महत्वपूर्ण कैबिनेट बैठक में 15 से अधिक प्रस्ताव पारित किए गए।
कैबिनेट के महत्वपूर्ण निर्णय निम्नवत हैं
सोबन सिंह जीना महाविद्यालय परिसर को आवासीय महाविद्यालय बनाने का प्रस्ताव पारित
राज्य की जल नीति 2019 पारित

मंत्री अब स्वयं भरेंगे अपना इनकम टैक्स पहले सरकार द्वारा दिया जाता था इनका इनकम टैक्स।

आईटीआई की फीस बढ़ाई गई

जंगली जानवरों द्वारा हमला किए जाने पर मुआवजा अब आपदा विभाग द्वारा दिया जाएगा

आइटीबीपी की एक यूनिट टिहरी में खोली जाएगी। वहां पर्यटन विभाग के खाली भवन मैं शुरुआत होगी
आईटीबीपी यूनिट की। इसके अलावा राजस्व विभाग द्वारा पर्यटन विभाग को 20 नाली जमीन हस्तांतरित की गई है।
राजभवन और विधानसभा की कार्मिक नियमावली की गई एक समान।
आर एस टोलिया प्रशिक्षण सेवा संस्थान की नियमावली पारित
पर्यटन विभाग की दीनदयाल उपाध्याय होम स्टे योजना में मामूली संशोधन
मोटरयान नियमावली में छोटा सा संशोधन पारित। अब दुर्घटना के 30 दिन के अंदर संबंधित को आवश्यक रूप से रिपोर्ट

इन फेसलो मैं अधिकतर वे निर्णय है जो पहाड़ की  तस्वीर बदलेंगे।  पर्यटन को बढ़ावा देने, लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने  ,   पलयान पर लगाने  का सरकार  का  प्रयास है  पहाड़ के विकास के लिए त्रिवेंद्र सरकार  हर स्तर से काम कर रही है।बोलता उत्तराखंड की तरफ से  धन्यवाद  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र जी का ओर आपकी पूरी सरकार का  ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here