स्वामी सानंद ने देह दान कर दी माँ गंगा की रक्षा के लिए कर रहे है अनशन

आपको बता दे कि ख़बर हरिद्वार से है जहाँ पतित पावनी गंगा रक्षा और गंगा महासभा के गंगा एक्ट को लागू करने की मांग को लेकर मातृ सदन में पिछले लगातार 71 दिन से अनशन ओर तप कर रहे स्वामी ज्ञान स्वरूप सानंद उर्फ प्रोफेसर जी डी अग्रवाल जी ने शिक्षण एवं अनुसंधान के लिए अपनी देह को दान कर दिया है।

जानकारी अनुसार उन्होंने इसके लिए सभी तरह की औपचारिकताएं पूरी करते हुए जरूरी पत्र भी ऋषिकेश एम्स को अपने वकील अरुण भदोरिया के माध्यम से भेज दिया है। इस प्रकार की जानकारी आई है 

आपको बता दे कि स्वामी ज्ञानस्वरूप सानंद ने गंगा रक्षा को लेकर किए जा रहे हैं अपने तप को समाप्त करने का किए गए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और उमा भारती के अनुरोध को मानने से इनकार कर दिया था बीते दिनों की बात है उमा भारती ने उनसे मुलाकात कर उनको अनशन खत्म करने की बात कही थी तब जानकारी अनुसार उनका कहना था कि वह अपना तप अब तब ही समाप्त करेंगे, जब उनकी मांगे पूरी कर दी जाएंगी। जो अभी तक पूरी नही हुई है ।

आपको जानकारी दे दे कि इस पूरे प्रकरण मे केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने उन्हें अगली कैबिनेट बैठक में प्रस्ताव लाकर उनकी मांग पूरी करने का आश्वासन दिया था। ओर जो जानकारी सोशल मीडिया से मिली इस पर स्वामी ज्ञान स्वरूप सानंद ने कहा था कि अगर वह तब तक जिंदा रहे तो कैबिनेट में प्रस्ताव पारित होने के बाद वह अनशन त्याग देंगे अन्यथा वह अपनी देह त्याग देंगे। ओर आज जानकारी मिल रही है कि उन्होंने इसी सिलसिले में अगला कदम उठाते हुए शुक्रवार को अपनी देह दान के संदर्भ में सभी औपचारिकताओं को पूरा कर पत्र ऋषिकेश एम्स भेज दिया। 

आपको ये भी बता दे कि
अभी तक गंगा रक्षा को लेकर तपस्यारत स्वामी सानंद का वजन 16 किलो घटा चुका है बहराल आगे कब क्या होगा वो तो भविष्य के गर्भ मे है लेकिन फिलहाल उनका अनशन जारी है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here