सुनील राठी गैंग से जुड़े दो बदमाश गिरफ्तार हत्या करने की थे फिराख मे

बोलता है उत्तराखंड़ पर ख़बर है कि मुठभेड़ के बाद दो शातिर बदमाश गिरफ्तार हो गए है जिनके पास से एक पिस्टल व तंमचा बरामद भी हुवा है
ये बदमाश लेबर कांटरेक्टर की हत्या के फिराक में थे अब ख़बर विस्तार से आपको बता दे कि
देहरादून, एसटीएफ की टीम ने मुठभेड के बाद सुनील राठी गैंग से जुड़े दो शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए बदमाशों के पास से एक पिस्टल और एक तंमचा बरामद किया गया है। बताया जा रहा है कि दोनों बदमाशो के उपर लूट और हत्या के प्रयास जैसे संगीन मामले दर्ज है। उन्हे कोर्ट मे पेश कर जेल भेज दिया गया है। 
एसटीएफ टीम को सूचना मिली थी की रुपेश त्यागी से जुड़ा शूटर दीपक मान हरिद्वार में मौजूद है, जो हरिद्वार सिडकुल क्षेत्र के किसी लेबर कान्ट्रेक्टर की हत्या करने की फिराक में है और कभी भी वारदात को अंजाम दे सकता है। इस सूचना पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ रिधिम अग्रवाल ने इस मामले में टीम को त्वरित कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया। पुलिस उपाधीक्षक कैलाश पवांर के नेतृत्व में एसटीएफ की टीम ने सूचना पर कार्यवाही करते हुये शूटर दीपक मान तथा सुशील कुमार को पुलिस मुठभेड़ में देर सांय को थाना रानीपुर क्षेत्रान्तर्गत चिन्मयानन्द डिग्री कॉलेज के समीप से असलाह व कारतूस के साथ गिरफ्तार कर लिया।
पूछताछ पर आरोपी दीपक मान ने बताया कि रुपेश त्यागी ने उसे हरिद्वार में लेबर कॉन्ट्रेक्टर की हत्या करने के लिये कहा था तथा पकड़े गये सुशील कुमार द्वारा लेबर कॉन्ट्रेक्टर की पहचान व पता ठिकाना उसे बताया जाना था। इसी काम के लिये पुराने मुकदमों की तारीख पर हरिद्वार कोर्ट में आया था और अपने साथ पिस्टल व तमंचा भी लेकर आया था, जो उसने उस दिन सुशील को दे दिये थे। इसके बाद दोनों ने लेबर कॉन्ट्रेक्टर के आफिस व घर की रेकी की थी और योजना के मुताबिक बीती रात वारदात को अंजाम देने वाले थे। पकडे गये दुसरे अरोपी सुशील कुमार ने बताया कि वह पहले हरिद्वार स्थित सिडकुल की एक कम्पनी में काम करता था, जहां पर लेबर कॉन्ट्रेक्टर से उसका विवाद हो गया था तथा उसी के कारण कम्पनी से सुशील का काम छूट गया था और लेबर कॉन्ट्रेक्टर के प्रभाव के कारण उसे कही भी काम नहीं मिल रहा था। इसी वजह से सुशील लेबर कॉन्ट्रेक्टर को अपने रास्ते से हटवाना चाहता था। इसी बीच उसका सम्पर्क अल्मोड़ा जेल में बन्द अपराधी रुपेश त्यागी से हुआ तथा उसने लेबर कॉन्ट्रेक्टर को अपने रास्ते से हटवाने की बात रुपेश त्यागी को बतायी साथ ही यह भी बताया था कि कॉन्ट्रेक्टर के रास्ते से हटने के बाद उक्त कम्पनी का काम सुशील को मिल जायेगा तो उसमें जो भी आर्थिक लाभ होगा उसका आपस में साझा कर लेंगे। इस काम के लिये रुपेश त्यागी ने अपने शूटर दीपक मान को असलाह के साथ भेजा था। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ संबधित धाराओं मे मामला दर्ज कर उन्हे जेल भेज दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here