कोरोना वायरस के प्रति सजगता को लेकर श्री महंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी की अपील।

देहरादून।
श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल प्रबन्धन की ओर से संस्थान के चेयरमैन श्री महंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी ने केन्द्र सरकार व राज्य सरकार से यह मांग की थी कि नोवल कोरोना वायरस की जाॅच क्षमता बढ़ाने के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय केविड-19 की जाॅच के लिए मान्यता प्राप्त निजी लैब को अनुमति प्रदान करें। इस मुहिम को बल मिलता दिखाई दे रहा है, नोवल कोरोना वायरस की जाॅच क्षमता बढ़ाने के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने केविड-19 की जाॅच के लिए मान्यता प्राप्त निजी लैब को अनुमति देने का निर्णय किया है।
श्री महंत इन्दरेश अस्पताल की मोलीक्यूलर लैब में वर्तमान में कई अति संवेदनशील जाॅचों सहित स्वाइन फ्लू के सैम्पलों की जाॅच भी हो रही है। कोरोना वायरस की जाॅच के लिए आवश्यक मशीनरी व संसाधन जुटाए जाएंगे। यदि कोरोना सैम्पल की जाॅच लैब देहरादून में खुल जाएगी, तो देहरादून व आसपास के राज्यों के मरीजों को भी इससे भारी मदद मिलेगी। काबिलेगौर है कि अभी कोरोना वायरस सैम्पलों की जाॅच के लिए हल्द्वानी की एकमात्र लैब में ही भेजा जा रहा है।

डाॅक्टरों नर्सिंग स्टाफ व पैरामैडिकल स्टाफ की छुट्टी अगले आदेशों तक रोक

उन्होंने अपील में कहा कि प्रदेश के सभी डाॅक्टर, नर्सिंग स्टाफ व पैरामैडिकल स्टाफ इस मुश्किल घड़ी में सहयोग करें। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में अगले आदेशों तक अस्पताल के सभी डाॅक्टरों, नर्सिंग स्टाफ, पैरामैडिकल स्टाफ व अन्य सहायक स्टाफ की छुट्टी पर रोक लगा दी गई है। सदिंग्ध मरीज़ों के उपचार, आईसोलेशन व अन्य सभी प्रकार के सहयोग के लिए श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल प्रबन्धन की ओर से आवश्यक तैयारियाॅ की गई है। सभी स्टाफ की ओर से सकारात्मक सहायोग प्राप्त हो रहा है।

श्री महाराज जी ने अपील में कहाः-

श्री दरबार साहिब के श्री महंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी ने अपील में कहा है कि कोरोना के प्रति सभी लोग सजगता व सावधानी अपनाएं। हमें कोरोना से डरना नहीं लड़ना है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आवश्यक गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए विटामिन सी स्त्रोत के फलों का नियमित सेवन करें। नींबू, अदरक, हल्दी, संतरा को अपने नियमित आहार में विशेष स्थान दें। फेफड़ों को स्वस्थ व मजबूत रखने वाले साॅस से जुड़े व्यायायाम प्रतिदिन करें।

मौसम में बदलाव लेकिन अभी गर्म कपड़े पहनेंः- ऋतु परिवर्तन के दौरान तापमान में भारी फेरबदल होता है, इसका स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। शारदीय नवरात्र व ग्रीष्मकाल से पहले पड़ने वाले नवरात्रों के दौरान मौसम परिवर्तन में सावधानी रखनी चाहिए।
श्री महाराज जी ने अपील की है कि अभी गर्म कपड़ो को एकदम पहना बंद न करें। कम से कम रामनवमी तक गर्म कपड़ों को पहनना जारी रखें।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here