आज राजीव गांधी नवोदय विद्यालय, देहरादून में शिक्षा विभाग उत्तराखण्ड द्वारा आयोजित प्रदेश के प्रतिष्ठित “शैलेश मटियानी राज्य शैक्षिक पुरस्कार” के वितरण समारोह कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित हुए।
इस कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने प्रदेश में शिक्षा के उन्नयन व गुणात्मक सुधार में उत्कृष्ट कार्य व उल्लेखनीय योगदान देने हेतु चयनित बेसिक, माध्यमिक और संस्कृत के शिक्षकों एवं शिक्षिकाओं को “शैलेश मटियानी राज्य शैक्षिक पुरस्कार से सम्मानित किया।

ओर उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने समस्त सम्मानित शिक्षकों एवं शिक्षिकाओं को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। साथ ही कहा कि आशा करता हूँ कि आगामी भविष्य में भी शिक्षक ऐसे ही उत्कृष्ट कार्य करते रहेंगे तथा राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय पटल पर भी देश-प्रदेश का नाम रोशन करेंगे


वही इसके बाद उत्तराखंड की विभिन्न विभूतियों को देवभूमि खेल रत्न और द्रोणाचार्य अवॉर्ड से नवाजा गया। इस दौरान सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ओलंपियन मनीष रावत और पैरालंपिक बैडमिंटन खिलाड़ी मनोज सरकार को उत्तराखंड देवभूमि खेल रत्न से नवाजा। वहीं, कोच अनूप बिष्ट को द्रोणाचार्य अवॉर्ड और अरूण कुमार सूद को लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड दिया गया इस मौके पर खेल मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि इससे खेल महाकुंभ के जरिए प्रदेश के प्रतिभावान खिलाड़ियों को आगे बढ़ने का मौका मिल रहा है। खिलाड़ियों की कोचिंग के लिए राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के कोच की व्यवस्था भी की जा रही है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य में खेलों के लिए बेहतर माहौल बनाने का प्रयास चल रहा है। सरकार जल्द ही रुद्रपुर में महिला स्पोर्ट्स कॉलेज बनाने जा रही है। कुछ खेलों पर फोकस कर 2024 के ओलंपिक में मेडल लाने के प्रयास करने होंगे।  तो पैरालंपिक बैडमिंटन खिलाड़ी मनोज सरकार ने मीडिया से कहा कि खिलाड़ी कभी अवॉर्ड के पीछे न भागें। 2016 में मैंने ऐसा ही किया था, जिसका मुझे खामियाजा भुगतना पड़ा। उन्होंने कहा कि राज्य खेल पुरस्कार जिस तरीके से दिए गए वो थोड़ा बेहतर होना चाहिए। किसी भी खिलाड़ी के लिए ये बड़ा दिन होता है। उन्हें इसका एहसास कराया जाना चाहिए। दस मिनट में सब कुछ निपट गया, ऐसा नहीं होना चाहिए
तो मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य में खेलों के लिए बेहतर माहौल बनाने का प्रयास चल रहा है। सरकार जल्द ही रुद्रपुर में महिला स्पोर्ट्स कॉलेज बनाने जा रही है। कुछ खेलों पर फोकस कर 2024 के ओलंपिक में मेडल लाने के प्रयास करने होंगे।  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने अपने पुराने दिनों को याद करते हुए कहा कि पहले हम बॉल लेने 90 किमी दूर जाते थे ओर खेलने के लिए खुद बल्ला बनाते थे।
पर कबड्डी और खो-खो तो जीरो बजट खेल हैं। इन पर भी हमें फोकस करना होगा। प्रदेश में बनी आइस स्केटिंग रिंक की करोडों की संपत्ति बर्बाद हो रही है। इसके लिए खिलाड़ियों को आगे आना होगा।

प्रदेश में शैक्षिक गुणवत्ता सुधार में उल्लेखनीय कार्य करने के लिए 72 शिक्षकों को आज शैलेश मटियानी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। ये 72 शिक्षक बीते तीन साल में शैक्षिक पुरस्कार के लिए चुने गए हैं। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने शिक्षकों को सम्मानित किया गया सम्मानित होने वाले शिक्षकों में प्रधानाचार्य, हेडमास्टर, एलटी, प्रवक्ता और बेसिक कैडर के शिक्षक शमिल हैं। संस्कृत शिक्षा के शिक्षक भी शैक्षिक पुरस्कार से सम्मानित किए गए हैं।
आप सभी जाने की ये शिक्षक हुए सम्मानित हुए सबको बधाई
ममता डिमरी, किशनपाल महर, पुष्पा जोशी, रामलाल, भानुप्रकाश गुप्ता, विमला जोशी, रीता सेमवाल, प्रमिला भंडारी, रेखा रानी कोटियाल, कुसुमलता,दीपा कलाकोटी, महेश गिरी, डॉ. मंजू कपूरवाण, वीरेंद्र सिंह राणा, डॉ. कुसुमरानी नैथानी, कुंवर सिंह गुसांई, वीरेंद्र सिंह नेगी, रामाश्रय सिंह, रामशंकर सिंह, नीलम नेगी, जीवन चंद्र दुबे, ललित मोहन वोहरा, गीता लोहनी, दरपानराम टम्टा, स्वतंत्र कुमार मिश्रा, सत्ये सिंह राणा, दिनेश प्रसाद बडोनी।
जिला रुद्रप्रयाग से माधव सिंह नेगी, उत्तरकाशी से चंद्रकला शाह, टिहरी से ऊषा द्विवेदी, देहरादून से सर्वेश्वरी, चमोली से ममता मिश्रा, हरिद्वार से उर्मिला सिंह पुंडीर, अल्मोड़ा से इमराना परवीन, बागेश्वर से नीता आत्मिया, नैनीताल से लक्ष्मी काला, चंपावत से विनोद कुमार कर्नाटक, यूएस नगर से संजीव कुमार पांडेय चुने गये हैं।
तो पौड़ी से पुष्कर सिंह नेगी, रुद्रप्रयाग से सुधा सेमवाल, देहरादून से गोविंद सिंह रावत, चमोली से भास्करानंद डिमरी, हरिद्वार से रोहिताश्व कुंवर, टिहरी से यशवंत सिंह नेगी, अल्मोड़ा से जमुना प्रसाद तिवारी, बागेश्वर से शोभा देवी, नैनीताल से सुरेंद्र सिंह रौतेला, पिथौरागढ़ से किशोर चंद्र पाटनी, चंपावत से राधेश्याम खर्कवाल चयनित हुए हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here