दुःखद जानाकरी है
उत्तराखंड के साहिया में बैराटखाई-बाडो-जैंदऊ मोटर मार्ग पर चोरीकेधार बैंड के पास एक कार अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी।
जिसमे इस दौरान कार में सवार दो युवतियों समेत तीन लोगों की मौके पर मौत हो गई दुःखद जबकि, तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए है सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे स्थानीय लोगों ने अपने संसाधनों की बदौलत घायल और मृतकों को खाई से बाहर निकाला
फिर सभी घायलों को उपचार के लिए प्राइवेट वाहन से सीएचसी विकासनगर ले जाया गया। बता दे कि सोमवार शाम को जैंदऊ गांव में एक शादी समारोह था। शादी के बाद कुछ युवक-युवतियां कार में सवार होकर घूमने के लिए बैराटखाई की ओर चल दिए। ओर कल शाम लगभग सात बजे उनकी तभी अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी।
मृतकों की पहचान स्वाती चौहान (18) साल
शुभम तोमर मरम (21) साल
निवासी जैंदऊ और रुचि रावत (20) पुत्री गीतम निवासी कांडोई खत बिन्हार के रूप में हुई है।

तो घायलों मैं चालक संदीप सिंह (25) साल पुत्र सरदार सिंह निवासी थत्येऊ, मुकुल (21) साल पुत्र जालप सिंह ग्राम लटऊ, शिखा रावत (22) पुत्री गीतम निवासी कांडोई खत बिन्हार के रूप में हुई।
आज यानी मंगलवार को पोस्टमार्टम होना है
इस हादसे में स्थानीय लोग घायलों के लिए देव दूत साबित हुए। हादसे के लभग तीन घंटे बाद पुलिस और तहसील प्रशासन की टीम दुर्घटना स्थल पर पहुंच सकी लेकिन, इससे पहले ही स्थानीय लोगों ने कमान संभाल ली थी ओर बाडो, जैंदऊ, सिंगोर के ग्रामीणों ने गहरी खाई में उतरकर बचाव कार्य शुरू कर दिया था ग्रामीणों ने लकड़ी और कंबल के स्ट्रेचर  बनाकर घने अंधेरे में लगभग 300 मीटर की खड़ी चढ़ाई चढ़कर घायलों और मृतकों को खाई से बाहर निकाला।
फिर इसके बाद सभी घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भेज दिया गया। जब तक पुलिस और तहसील प्रशासन की टीम घटना स्थल पर पहुंची तब तक  स्थानीय लोग उन्हें बाहर निकाल चुके थे।
ख़बर है कि बैराटखाई-बाडो-जैंदऊ मोटर मार्ग पर अगर पैराफिट होते तो शायद स्वाति, शुभम और रुचि को अपनी जान से हाथ नहीं गवाना पड़ता। 15 किमी लंबे इस मोटर मार्ग पर कहीं पर भी सुरक्षा के नाम पर पैराफिट नहीं बनाए गए हैं मेरी सरकार, क्षेत्रीय विधयाक, विपक्ष, प्रभारी मन्त्री, जी!!!!!!

 

 

 

 

 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here