एसआईटी की पूछताछ के डर से छुट्टी पर भागे! उत्तराखंड के दो आईएएस अफसर ! 300 सो करोड़ का है घोटाला

राज्य मे भले ही मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत ने जीरो टालरेश के तहत अपनी सरकार को पिछले 16 महीने से चल रखा है लेकिन कुछ बडे अफसर आज भी  कुर्सियों पर चिपक कर बैठे हुए है। और वो वही अफसर है जो अपने से छोटे अफ़सरो को अपनी शरण मे रखते है आपको बता दे कि एनएच 74 घोटाले में आर्बिट्रेटरों की भूमिका पर सवाल खड़ा होने के बाद अब शासन भी गंभीर हो गया है। शासन को रिपोर्ट मिलने के बाद अब शासन ने एसआईटी को आदेश दे दिये हैं कि वह इस घोटाले में जिन दो आईएएस अधिकारियों के नाम आये हैं उनसे अब एसआईटी ही पूछताछ कभी भी कर सकती है ।
जानकार कहते है कि यदि पूछताछ में दोनों आईएएस अधिकारी यहां नहीं आते तो एसआईटी उन्हें तलाश कर वो जहा भी होंगे वहां जाकर उनसे पूछताछ करेगी। सूत्रें के मुताबिक जनपद उधमसिंहनगर में बतौर डीएम तैनात रहे डा- पंकज पांडे और चन्द्रेश यादव की ओर से की गयी आर्बिट्रेशन की प्रक्रिया में अनियमितता की बात एसआईटी रिपोर्ट में सामने आयी है।
एनएच 74 घोटाले में अफसर, किसान और दलालों ने ही वारे न्यारे नहीं किये बल्कि तमाम सफेदपोश नेता भी इसमें लिप्त माने जा रहे हैं सूत्रें की मानें तो उनके पास उनके खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं। ऐसे में अब एसआईटी टीम जल्द ही आईएएस अधिकारी पंकज पांडे और चन्द्रेश यादव से पूछताछ करेगी और यदि उनकी पूछताछ के बाद सबूत सामने आ गये तो प्रदेश की राजनीति में भी उठापटक हो सकती है। लेकिन उससे पहले

एनएच 74 घोटाले से जुड़ी आज की सबसे बड़ी खबर ये आ रही है कि
जांच के दायरे में आए IAS अधिकारी पंकज पांडे और चंद्रेश यादव गये लंबी छुट्टी पर चले गए है
आपको बता दे कि एसआईटी की टीम को करनी थी इन दोनों से पूछताछ.. पर ये छुटी पर भाग गए है
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कुछ दिन पहले ही जांच में आए दोनों आईएएस अधिकारियों के खिलाफ एसआईटी की जांच को हरी झंडी दी थी
आईएएस पंकज पांडे और चंद्रेश यादव उधमसिंह नगर में जिलाधिकारी रहे है
कुछ ख़बर ये भी आ रही है कि इनके चाहने वाले ओर किसी अफसर ने इनको फिलहाल छुटी पर जाने की सलहा दी होगी ताकि ये अपने बचाव का रास्ता तलास सके । खेर जो भी हो आगर इस पूरे घोटाले कि सच्चाई के साथ जांच होगी तो कुछ और बड़े लोग भी इसकी चपेट मे आयेगे!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here