गुरु राम राय ट्रस्ट के खिलाफ साज़िश! षडयंत्र करने वाले जल्द होंगे बेनक़ाब !

रतन नेगी की कलम से …                                                                                                                देवभूमि उत्तराखंड जहा है भगवान बद्रीविशाल ,भगवान केदारनाथ, माँ गंगोत्री, माँ यमुनोत्री, हेमकुंड शाहिब , पिरायन किलियर , यही है उत्तराखंड की पहचान ,ओर इस देवभूमि की राजधानी देहारादून मे है श्री गुरु राम राय जी का दरबार जहा लाखो , करोड़ो लोग का है अटूट विस्वाश की यहा पर आने वाले भक्त की मुराद गुरु राम राय जी महाराज पूरी करते है वर्तमान मे श्री महंत देवेंन्द्र दास जी महाराज से उनके लाखो ,करोड़ो भक्त उनसे आशीष लेकर अपने आप को शोभाग्यशाली मानते है और माने भी क्यो ना आखिर उनकी मनोकामना पूरी जो होती है गुरु के द्वार पर आकर सदियों से लगने वाला झंडे जी का मेला इसी बात का उदहारण है।                          पर आज कुछ असामाजिक तत्व ओर तथाकथित लोग श्री गुरु राम राय ट्रस्ट के द्वारा किये जा रहे जनहित के कामो पर उनके नेक कामो पर भी सवाल उठाने लगे है जिनके डेरा जमाने से ही यहा का नाम देहरादून पड़ा वर्तमान मे श्री महंत देवेन्द्र दास जी महाराज जी की बढ़ती लोकप्रयिता कुछ असामाजिक तत्वों को रास नही आ रही है इसलिए वो अब श्री महाराज जी की लोकप्रिय छवि को धूमिल करने का ,श्री महाराज जी के खिलाफ आये दिन षड्यंत्र रचने का काम करते है पर गुरु राम राय के आशीष से उनके सारे षड्यंत्र विफल हो जाते है।                                             बोलता उत्तराखंड आपको जरा 16 वी सदी मैं ले जा रहा है जी हां 16 वीं सदी में ही पंजाब से श्री गुरु राम राय जी महाराज जी हिमालय की इस द्रोण घाटी में आये और उन्होंने यहां अपना डेरा लगाया था उस दौरान भारत के शासक ओरंगजेब के दिशा और निर्देश पर गढ़वाल के राजा जी ने श्री गुरु राम राय जी महाराज को 7 गांव खुदबुड़ा(खेड़ादोहा),राजपुर,चामासारी,धामावाला (धर्मावाला),धरतावाला,मिंयावाला,पंडितवाड़ी सर्वधिकार सहित दिए ये कहकर की जिससे खेती कर व लगान आदि प्राप्त कर दरबार साहिब की देखरेख का खर्च ,ओर यहा काम करने वालो के खर्च आदि की व्यवास्था हो सके  तब श्री गुरु राम राय जी महाराज जी ने द्रोण घाटी को एक नया जीवन देकर एक नगर की स्थापना की ओर धीरे धीरे जनता यहा बस्ती चली गई इसके साथ ही श्री गुरु राम राय जी महाराज जी निर्धन ,गरीब और बेसहारा लोगो का सहारा बने और उन सबकी समय समय पर सहायता करते आये अब जनता यहा से जाने को तैयार ना थी वो गुरु राम राय की भक्ति मैं लीन हो गयी थी और होती भी क्यो ना उनके बिगड़े काम गुरु राम राय जी महाराज के आशीष से बन जाते थे और आज भी बनते है गुरु राम राय जी के भक्त आज भी यही कहते है कि गुरु राम राय जी से वो जो भी सचे मन से मागते है गुरु राम राय जी उन सबकी मनोकामना पूरी करते है गुरु राम राय जी के दरबार से कोई भी खाली हाथ नही जाता, गुरु राम राय महाराज जी के डेरा डालने के बाद यह स्थान द्रोणघाटी से डेरा द्रोण ओर आज वर्तमान मे देहरादून के नाम से जाना जाता है जो उत्तराखंड राज्य कि अस्थाई राजधानी है जब जब देहरादून का नाम जिस किसी की जुभान से निकलेगा ओर निकलता है तो वो एक बार जरूर श्री गुरु राम राय महाराज जी के जयकारे जरूर लगाता है आपको बोलता उत्तराखंड बात रहा है कि
श्री गुरु राम राय जी महाराज का आशीर्वाद इस नगर पर हमेशा से है ओर यहा कि पूरी जनता पर भी सदेब बना रहता है देहरादून का झण्डा दरबार साहिब ( श्री गुरु राम राय दरबार) देहरादून का संरक्षक है देहरादून की हर तरह से रक्षा करता है। ओर देवभूमि उत्तराखंड के सभी उन लोगो की मदद के लिए खड़ा रहता है जो हकीकत में मदद या सहायता के असली हकदार होते है                     
श्री गुरु राम राय जी महाराज के ब्रह्मलीन होने के उपरांत झण्डा दरबार साहिब के समय समय पर सजदा नशीन आदरणीय महन्त जी ने इस नगर में निवास करने वाले हर प्राणी को अपना आशीर्वाद दिया है ओर जो आज भी जारी है दरबार साहिब आज भी अपने पुराने स्वरूप मैं खड़ा है आज भी अपनी पुरानी परंपरा को निभा रहा है वो बात अलग है कि दरबार साहिब कि सरपरस्ती मे देखते देखते ये नगर समृद्ध होता चला गया कभी वो दौर भी था जब पूरे देहारादून के निवासी दरबार मे रोजाना लगने वाले लंगर मैं तीनो टाइम भोजन कर गुरु राम राय के जयकारे लगाती थी क्योकि दरबार मै लगने वाले रोजना लंगर मे उनको भरपूर भोजन मिलता था लेकिन समय के बदलते च्रक मे लोग धनवान होते चले गए गुरु राम राय जी की किरपा से , बस फिर जरूरतमंद लोग ही लंगर मैं अब भोजन करने आते है और ये लंगर आज भी जरुतमंद लोगो के लिए भोजन उपलब्ध कराता है निर्धन ओर असहाय लोगो के लिए गुरु राम राय ट्रस्ट सदेव मदद के लिए खड़ा रहता है
अब बात आज कल की करते है सुनने में आ रहा है की कुछ लोग अपने निजी लाभ के लिए तो कुछ असामाजिक तत्व ओर कुछ वो लोग जो श्री महंत देवेंन्द्र दास जी महाराज जी की आये दिन बढ़ती लोकप्रियता      से घबरा गए है ओर दरबार साहिब व सजदा नशीन श्री महन्त जी की छवि धूमिल करने का आये दिन प्रयास करते रहते है साथ ही जनता को भ्रमक ओर झूठी सूचना देकर दूंन का सौहार्दय नष्ट करने का प्रयास कर रहे है। यही नही सोशल मीडिया ओर मीडिया का गलत उपयोग कर बिना सही जानकारी लिए लोगो की जनभावनाओं को ठेंस पहुंचा रहे है जिससे श्री गुरु राम राय जी के लाखों करोड़ों भक्तों को निराशा पहुची है पिछले महीने
30मई 2018 को भी कुछ लोगो ने सहारनपुर रोड पर मातावाला बाग गेट के पास धरना प्रदर्शन कर मातावाला बाग में अवैध रूप से पेड़ काटने,पर्यावरण को हानि पहुंचाने,जनता का उत्पीड़न करने के आरोप लगाए तथा सोशल मीडिया पर दरबार के श्री महन्त जी को बदनाम करने की कोशिश की, अब जरा आपकी जानकारी मैं बोलता उत्तराखंड ये कहता है कि वो मातावाला बाग ही नही बल्कि श्री महंत इंदिरेश द्वार माता वाला बाग है      ब्रहमलीन श्री महंत इंदिरेश जी महाराज जी के नाम पर ही सजदा नशीन महंत देवेंन्द्र दास जी महाराज जी ने मातावालबाग का पूरा नाम रखा यानी अपने गुरु के नाम पर श्री महंत इंदिरेश द्वार मातावाला बाग ।                                                                                               अब जब गुरु के द्वार पर माता वाला बाग में आये दिन आम जनता का उपयोग कम होने लगा तो जानकारी गुरु राम राय ट्रस्ट को मिली कि अब गुरु के द्वार यानी मातावाला बाग का दुरुप्रयोग किया जा रहा है कुछ असामाजिक तत्व आये दिन यहा क्या करते है दिन रात रुक कर ये सवाल खड़े होने लगे तो कुछ लोगो ने बाग को अवैध शौच करने का स्थान तक बना दिया था जिससे सम्पूर्ण क्षेत्र में गंदगी व बदबू फैलने लगी ओर जनता के शरीर को स्वस्थ लाभ कम बल्कि स्वास्थ्य को हानि ज्यादा पहुचने लगी जानकार बोलते है कि कुछ लोग मातावाला बाग में अनैतिक कार्य,नशा व गलत कृत्यों के द्वारा बाग का दुरुपयोग भी करने लगे थे तब बात गुरु राम राय मैनजमेंट तक पहुची जिसका संज्ञान लेते हुए गुरु राम राय मैनेजमेंट ने श्री
महंत इन्देश द्वार मातावाला बाग की चार दिवारी को ओर मजबूत किया और उस पर गेट लगाकर अवैध आवागमन पर रोक लगाने का प्रयास किया जो बदलते समय की यानी कि आज की माग थी अब बाग में प्रवेश करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को अपनी पहचान बता प्रवेश पत्र के माध्यम से ही बाग में प्रवेश करने दिया जाएगा।                                                                                          जो एक उचित ओर सही कदम उठाया गया क्योकि आज देहारादून वो देहरादून नही रहा जो कभी अपनी शांत वादियों के लिए जाना जाता था आज़ पुलिस के दिन रात की पड़ताल के बाद भी कब कहा पर लूट ,हत्या,बलात्कार, ओर डकेती जैसी वारदात हो जाये कोई नही जानता ओर कहा बैठ कर ये योजना बनाई जा रही हो ये भी कोई नही जानता इसलिये अगर श्री महंत इन्देश द्वार मतावालबाग मैं आने वाले लोगो का I.d पूर्फ़ लिया जाए तो जरूरत पड़ने पर पुलिस की भी मदद की जा सकती है और असमाजिक तत्व बाग से फिर दूर ही रहेंगे आज बदलते समय,जरूरत ओर परिस्थिति अनुसार उचित व्यवास्था भी मातावाला बाग की करनी होगी जिसके बाद यदि शुल्क भी बाग का उपयोग करनेवालो को जमा करवाना पड़े तो कोई बड़ी बात नही क्योकि इसी शुल्क से पूरे बाग की देख रेख का ख़र्चा उठाया जाएगा ओर कुछ और लोगो को रोजगार भी मिल जाएगा साथ ही जल्द श्री इंदिरेश द्वार मातावाला बाग में कुछ पेड़ जो खतरनाक हो रखे है जिससे जनता के जान माल को खतरा है उनको वहां से नियम और कानून के तहत हटाया जा रहा है क्योंकि दूंन की जनता ने इस विषय मे कई बार अपने प्रार्थना पत्र देकर उनको हटाने का अनुरोध दरबार साहिब में किया है तथा कुछ पेड़ काफी पुराने होने के कारण सुख गए है/खराब हो गए है। उनको भी बाग से हटाने की नियमानुसार अनुमति संबंधित विभागों से लेकर उनका पतन किया जा रहा है। ओर सबसे बड़ी बात ये रही कि अब दुगनी तिगुनी मात्रा में अच्छे पेड़ मातावाला बाग में लगाये जा रहे है ।बूढ़े सड़ चुके और खराब हो चुके व खतरनाक पेड़ो से हमेशा दुर्घटना की आशंका बनी रहती थी, जिसके लिए
दिनांक 26.2.2012 को ऑटो केयर द्वारा एक प्रार्थना पत्र खतरनाक पेड़ो को हटाने के संबंध में दिया गया क्योंकी पेड़ गिरने के कारण उनकी कीमती गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई थी।
दिनांक 24.2.2012 को नरेंद्र टिम्बर वालो ने
दिनांक 26.7.2013को स्थानीय निवासी मन्नू शर्मा जी ने
दिनांक 5.6.2013 को पुनः नरेंद्र टिम्बर वालो ने
दिनांक 12.2.2018 को अखिल भारतीय देवभूमि ब्राह्मण जन सेवा समिति ने क्षेत्रिय जनता के आग्रह पर
दिनांक 27.2.2018 को पुनः अखिल भारतीय देवभूमि ब्राह्मण जन सेवा समिति ने जनता के अनुरोध पर गुरु राम राय दरबार को खतनाक पेड़ो को हटाने के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया। गुरु राम राय दरबार मैनेजमेंट कमेटी द्वारा सभी शिकायतों को संज्ञान लेते हुए नियमानुसार कार्यवाही हेतु संबंधित विभागों से अनुमति लेकर खतरनाक व खराब पेड़ो को हटाने का कार्य किया जा रहा है।
अब फैसला लिया गया है कि
जनता की सुविधा के लिए मातावाला बाग को सुव्यवस्थित कर बाग में स्वास्थ्य की दृष्टि से घूमने आने वाले लोगो के लिए
वॉकिंग ट्रैक
बागवानी मौसम अनुसार फूल
बैठने के लिए बैंच
शैड व्यवास्था
पीने का साफ पानी
शौचालय
पेड़ो और वनस्पति आदि पर शोध करने वाले छात्रों के लिए उपयोगी वृक्ष लगाने की व्यवास्था तथा अन्य सौंदर्यकरण का कार्य मातावाला बाग के लिए प्रस्तावित है। ओर जब ये सब हो रहा हो तो अगर बाग के अंदर आने के लिए शुल्क भी लगे तो क्या दिकत हा जानकारी मिली है कि जरूरतमंद जिनका कोई सहारा नही जो बुजुर्ग है वो अपनी आय का प्रमाण देकर बिना शुल्क बाग में जा सकते है मतलब जिनके पास आय का कोई साधन नही उनके लिए दरबार साहिब हमेशा मदद ओर सहायता के लिए खड़ा रहेगा     
श्री गुरु राम राय दरबार सदैव जनता के हितार्थ कार्य लगातार कर रहा है पूरे राज्य में शैक्षिक संस्थान खोले गए ओर आगे और भी खोले जायगे सबसे बड़ी बात ये है कि गुरु राम राय इंटर कॉलेज अपनी शिक्षा की उचित गुडवत्ता के लिए पूरे राज्य मे जाना जाता है साथ ही जरूरतमंद छात्र छात्राओ को निशुल्क ओर आधी फीस पर शिक्षा दी जाती है और समय समय पर स्वयं श्री महाराज जी होनहार छात्र छात्राओं को अपना आशीष दे कर उनका मनोबल ओर बढ़ाते है इसके साथ ही श्री महंत इंदिरेश अस्पताल मे उच्च स्वास्थ्य सेवाएं जनता को दी जा रही है वो भी अन्य बड़े अस्पतालों के शुल्क से कम खर्चे पर ओर यहा भी जरूरतमंद लोगों का उपचार पूरी जांच पड़ताल के बाद निशुल्क तो 20 से 60 %कम दर पर इलाज होता है कुल मिलाकर स्वास्थ्य सेवाओं की बात हो या शिक्षा की दोनों तरफ गुरु राम राय एजुकेशन मिशन ने अपनी वो जोत जलाई है जिसकी लॉ दूर तक फैल रही है और यही बात कुछ षड्यंत्र कारियो को रास नही आती तभी वो लोग गुरु राम राय एजुकेशन मिशन से लेकर गुर राम राय मैनेजमेंट ट्रस्ट ओर लोकप्रिय महंत जी कि छवि को धूमिल करने का असफल प्रयास करते रहते है ओर उनके इस असफल प्रयासों को देखकर गुर राम राय मेंनजमेंट और विस्वास के साथ मजूबती के साथ नगर की प्रबुद्ध जनता,क्षेत्र की सामाजिक संस्थाओं व क्षेत्रीय वैलफेयर सोसायटी के सदस्यों की राय लेकर
जनता के हित के लिए ओर नए कार्य करने का सकल्प लेता है इस कड़ी मै अब श्री महत इंदिरेश द्वार मातावाला बाग का उचित उपयोग किया जाएगा और मातावाला बाग में अवैध आवागमन,अवैध ,अनैतिक कार्यो व आवांछनिय तत्वों पर नियमानुसार प्रतिबंध लगा कर समाज की रक्षा की जाएगी। साथ ही गुरू राम राय ट्रस्ट ने सोशल मीडिया जैसे माध्यमों से उक्त सम्बन्ध में भ्रामक सूचना फैला कर छवि धूमिल नहीं करने के लिए अनुरोध भी किया। ओर ये भी कहा है कि पूरी सही जानकारी लिए बगैर जनता तक सही बात या ख़बर नही पहुच पाती इसलिये गुरु राम राय ट्रस्ट से नियुक्त किये गए कर्मचारी के बयान को भी ले उनकी भी भविष्य मे पूरी बात सुने तब किसी परिणाम पर पहुचकर वो जनता तक जो सही बात या जानकारी है वो जनता तक पहुचाये।                                                             आज देहरादून धीरे धीरे कंक्रीट का जंगल बनता जा रहा है अगर यही हाल रहा तो अगले आने वाले 10 साल बाद दूंन मैं स्वस्थ हवा नही मिल पाएगी ज़िस पर गुरु राम राय मिशन ने चिंता जताई है और जनता से ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने की अपील भी की बाकी मिशन अपने प्रयासों से जितना भी पेड़ लगा सके वो लगा रहा है श्री महंत जी ने कहा है कि पेड़ लगाने से ज्यादा जरूरी है उनकी देखभाल करना अक्सर आजकल फ़ोटो खिंचाने के लिए सब पेड़ जरूर लगा रहे है पर जरूरी बात ये भी है कि आप उन पेड़ो की कम से कम 3 साल तक देखभाल करें ताकि वो पेड़ भविष्य मे जिंदा रह सके गुरु राम राय ट्रस्ट ने चिंता जताई है कि कुछ अवांछित और संदिग्ध तत्व दरबार साहिब और ट्रस्ट की जमीनों पर कब्जा करने की फिराक में रहते है गौरतलब है कि पिछले 20 सालो मे ट्रस्ट की जमीनों पर कब्जे की शिकायत जायद मिली है तो कुछ मामले माननीय कोर्ट मे विचारधीन है गुर राम राय मेंनजमेंट ने यहा पर दूंन की जनता का सहयोग भी मागा है कि यदि उनको भविष्य मे जानकारी मिलती है कि ट्रस्ट की जमीनों पर किसी की नज़र है या कुछ भी वहां पर चोरी छुपे हो रहा हो तो वो गुर राम राय मेनेजमेंट को अवगत कराएं ।  
बोलता है उत्तराखंड राज्य के लाखो लोगों को श्री गुरु राम राय ट्रस्ट ने रोजगार दे रखा है उनकी जीविका गुर राम राय जी की किरपा से चल रही है गुरु राम राय एजुकेशन मिशन पूरे राज्य मे उचित गुडवत्ता की शिक्षा प्रदान कर रहा तो दूसरी तरफ कम ख़र्चे पर स्वास्थ्य सेवाएं जनता को दे रहा है इसके साथ ही पहाड़ो मे बढ़ते पलायन को लेकर भी श्री महंत जी चिंतित है जिसके लिए अब गुर राम राय ट्रस्ट ने श्री महाराज जी के आदेश ओर दिशा निर्देश पर जैविक खेती पर काम आरम्भ कर रखा है और इसके लिए अलग और मजबूत टीम का जैविक खेती पर पूरा फोकस है आज सभी ये जानते है कि पूरे पहाड़ मैं बढ़ते पलयान के लिए लाचार स्वास्थ्य सेवाएं , शिक्षा मैं गुडवत्ता का ना होना , ओर युवाओ का बेरोजगार होना और इन तीनो ही बिंदुओं पर गुरु राम राय ट्रस्ट एक मिशन के रूप मे काम कर रहा है ,ओर समय समय पर राज्य सरकार से उचित सहयोग की अपील भी करता है ताकि युवाओ को रोजगार मिल सके, लोग स्वरोजगार से जुड़े,जैविक खेती से जुड़े, ओर पूरे पहाड़ मैं मिशन अछी स्वास्थ्य सेवाएं पहुँचा सके , अछी शिक्षा छात्राओ को मिले छात्र को मिले यही प्रयास है गुरु राम राय ट्रस्ट का ,गुरु राम राय एजुकेशन मिशन का , गुरु राम राय मैनेजमेंट का , जिसे सजदा नशीन श्री महंत जी के दिशा निर्देश पर किया जा रहा है और सफलता भी मिल रही है तभी तो राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत भी श्री महंत जी का आशीष लेकर समय समय पर राज्य के विकास के लिए श्री महंत जी से विचार विमर्श करते रहते है और श्री महंत जी के उचित सुझाव को राज्य के विकास में शामिल करते है और राज्य से ही नही अपितु पूरे भारत और विदेश से भी श्री गुरु राम राय जी के भक्त गुरु के दरबार आकर उनका आशीष लेते है ओर अपने आप को शोभाग्यशाली मानते है अब आप ही बताये जब कुछ असामाजिक तत्व गुरु राम राय ट्रस्ट की छवि खराब करने का काम आए दिन करते हो , लगातार ये लोग असफल षडयंत्र करते हो , लोकप्रिय महंत जी की छवि को ख़राब करने का प्रयास करते हो तो ऐसे में इन असमाजिक तत्वों पर नज़र रखने का काम जनता का भी है जो इन लोगो की जानकारी मिलने पर गुर राम राय मेंनजमेंट को बताए , ओर श्री गुर राम राय दरबार साहिब मे काम करने वाले सभी अधिकारी हो या कर्मचारी ओर उनके सहयोगी वो भी ईमानदारी के साथ अपने कर्तव्य को पूरा करे गुरु राम राय ट्रस्ट के प्रति अपनी जिमेदारिया ओर जवाबदेही को समझे सबको साथ लेकर एकजुटता के साथ गुरु राम राय एजुकेशन मिशन को आगे बढ़ाए , उत्तराखंड का प्रसिद्ध श्री महंत इंदिरेश अस्पताल को पहाड़ के जिलो मे भी विस्तार दे , ओर धीरे धीरे समय अनुसार गुरु राम राय ट्रस्ट जनहित के लिए आगे भी लगातार काम करता रहे ओर ये तब ही सम्भव है जब गुरु राम राय मिशन से जुड़ा, गुरु राम राय ट्रस्ट से जुड़ा ,गुरु राम राय मेंनजमेंट से जुड़ा प्रत्येक छोटे से लेकर बड़ा अधिकारी ,कर्मचारी, ईमानदारी के साथ अपने कर्तव्य को पूरा करे अपने काम को करे तो गुर राम राय जी की किरपा उन पर सदा बनी रहेगी ओर असमाजिक तत्व खुद बेनकाब होंगे क्योकि ये गुरु राम राय जी का सच्चा दरबार है इतिहास गवाह है कि जो व्यक्ति आस्था ,विस्वाश, पूरी लगन और मेहनत से यहा सेवा करता है उनके दुखों को गुरु राम राय जी दूर करते है उनके परिवार मे शांति बनी रहती ओर उनका परिवार आगे बढ़ता है पर जिस जिस व्यक्ति ने अपने लालच के लिए ट्रस्ट को समय समय पर नुकसान पहुचाया , ट्रस्ट की जमीनों पर कब्जा किया या करवाया जिन्होंने हर जगह कमीशन का खेल खेला ओर जो आज षडयंत्र कर ट्रस्ट की छवि खराब करने का असफल प्रयास कर रहे है उनके लिए गुर राम राय जी के भक्तगण बस यही कहते है कि बाबा राम राय जी उनको माफ करे और वो लोग सही मार्ग पर चले पर अगर इसके बाद भी वो लोग ना सुधरे तो ये सच्चा दरबार है यहा सबको अपने अपने कर्मो का फल समय आने पर जरूर मिलता है 

Leave a Reply