रोशन रतूड़ी उत्तराखंड़ का असली हीरो पढ़े पूरी ख़बर

आपको बता दे कि सामाजिक कार्यकर्ता रोशन रतूड़ी ने एक बार फिर साबित कर दिखाया कि मानवता से बड़ा कोई धर्म नहीं है। ओर वो लगाताए इस बात को कहते भी है और करके दिखाते भी है आपको बता दे कि आख़िरकार अर्जुन सिह बिष्ट के शव को जापान से भारत लाया गया और उनके अन्तिम दर्शन के लिए एम्बुलेंस से उसके गाँव भेजा गया है। यह सब कार्य सामाजिक कार्यकर्ता रोशन रतूड़ी के प्रयासों से सफल हो पाया।

करीब एक महीने से अर्जुन का शव जापान में ही था, जापान में कूकिंग के दौरान उसकी मौत हो गई थी जिसमे कहा जा रहा है कि उसकी हत्या की गई थी लेकिन जापान पुलिस को इस मामले में कोई तथ्य हाथ नहीं लगे। इसलिए केश खत्म होने के बाद अब सभी कागजी कार्यवाही खत्म हो गई और अर्जुन का शव भारत भी पहुँच गया। अब परिवार के सभी सदसय उनके अन्तिम दर्शन करेगें। रोशन रतूड़ी जनता के असली हीरो है।
उन्होंने खुद के दम पर एक सरकारी कर्मचारी का काम किया है अगर एक सरकारी कर्मचारी यह काम करता तो शायद उसका बजट करोड़ों में जाता लेकिन रोशन रतूड़ी ने अपने निजी तरीके से यह कर दिखाया क्योंकि उन्होंने मृतक अर्जुन सिंह के परिवार की भावनाओं को समझा उनका दर्द समझा उनकी पीड़ा समझी। आज के समय उत्तराखंड के लिए ऐसे ही हीरो चाहिए, हमें उनके व्यक्तित्व से प्रेरणा लेनी आवश्यकता है। बोलता उत्तराखंड़ रोशन रतूडी को सलाम करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here