शाह बोले- राम मंदिर पर रुख साफ करे राहुल, कांग्रेस ने भाजपा को बताया मंथरा

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले की सुनवाई के दौरान सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील बनकर पैरवी करने आए कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की मांग ने नया विवाद खड़ा कर दिया है। सिब्बल ने इस केस की सुनवाई 2019 के आम चुनाव के बाद करवाने की मांग की थी। इसके बाद भाजपा और कांग्रेस के बीच बयानबाजी शुरू हो गई है।

जहां भाजपा ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि राम मंदिर पर कांग्रेस अपना रुख स्पष्ट करे वहीं कांग्रेस ने पूरे मामले में भाजपा को मंथरा करार दे दिया है।

सुनवाई के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाहने कहा कि आज सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस नेता और सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील कपिल सिब्बल द्वारा आश्चर्यजनक बात कही गई। उन्होंने कहा कि मामले की सुनवाई 2019 के आम चुनाव तक टाल दी जाए। कांग्रेस अपर अपना स्टैंड साफ करे।

Leave a Reply