प्रीतम सिंह ने बीजेपी पर बोला हमला ओर हमने कह दी जनता की बात

जहा राज्य की सरकार पीएम मोदी के 4 साल के कार्यो का जमकर बखान करने मे व्यस्त है तो दूसरी तरफ विपक्ष मोदी सरकार के 4 साल के कार्यकाल पर जमकर बरस रहा है कांग्रेस ने एक बार फिर हमलावर रुख इख्तियार करते हुए जमकर बीजेपी पर हमला बोला है
देहरादून मै कांग्रेस प्रदेश कार्यालय में नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने संयुक्त प्रेसवार्ता कर भाजपा सरकार पर जमकर भड़ास निकाली। इस दौरान प्रीतम सिंह ने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि मोदी सरकार जुमलेबाजों की सरकार है….।           प्रीतम ने सरकार की योजनाओं पर कटाक्ष किया और कहा कि आदर्श ग्राम योजना, स्मार्ट सिटी, मुद्रा योजना, रोजगार जैसी कई योजनाएं सिर्फ जनता की आंखों में धूल झोंकने वाली योजनाएं है….जबकि असल में जनता को इसका कोई लाभ नही मिल रहा है।
उन्होंने किसानों के मुद्दे पर सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सरकार 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने की बात कह रही है…लेकिन सरकार ने अभी तक किसानों के लिए क्या किया ये सरकार को भी नहीं मालूम. प्रीतम यही पर नही रुके उन्होंने तो ये तक बोल डाला कि आगामी चुनावों में मोदी सरकार की हार  निश्चित है तो दूसरी तरफ नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने राज्य सरकार पर एकला चलो की नीति पर काम करने का आरोप लगाया। इंदिरा ने कहा कि सरकार विपक्ष की राय लिए बिना ही काम कर रही है। उन्होंने सरकार पर निकाय चुनाव से भागने का भी आरोप लगाया। नेता प्रतिपक्ष की मानें तो त्रिवेन्द्र सरकार के राज में वित्तीय प्रबंधन पूरी तरह फेल हो चुका है। उन्होंने महंगाई के मुद्दे पर भी केन्द्र और राज्य सरकार को जमकर कोसा प्रीतम सिंह प्रदेश अध्य्क्ष के नाते बीजेपी को कोस रहे है तो इंदिरा ह्रदयेश नेता प्रतिपक्ष के लिहाज से तो हरीश रावत राज्य के पूर्व मुख्य्मंत्री होने के नाते बीजेपी सरकार पर धावा बोल रहे है पर अगर देखा जाए तो आज भी विपक्ष मजबूती के साथ जनता की आवाज को उठा नही पा रहा है आज लोकायुक्त की न्युक्ति नही हो पाई है पर इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर काग्रेस सिर्फ थोड़ा बहुत हला करके मामले को ठंडे बस्ते मैं डाल देती है जबकि ये मुदा जनता से जुड़ा है उस जनता से जिसे कहा गया था कि सो दिन के अंदर लोकायुक्त लयेगे  सरकार बनने पर आज सरकार बने 15 महीने बीतने को है पर लोकायुक्त पर सब खामोश तो उधर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत हर जगह बोलते नज़र आते है कि लोकायुक्त की जरूरत नही हमारी सरकार जीरो टालरेश की नीति पर चल रही है अब कोन किसे बताये की उनकी सरकार मैं वही लोग आज मंत्री है जिन पर बीजेपी ने ही खूब घोटालो  के भस्टाचार के आरोप लगाए और लगा रखे है फिर कैसे विस्वाश कर ले जनता जीरो टालरेश पर दूसरी तरफ एक बड़े नोकरशाह की बात करु तो उनके कारनामो की सोशल मीडिया में पार्ट 1 से लेकर पार्ट12 तक या उससे आगे की कहानियां रोज छप रही है जो ना  विपक्ष को   दिखता है ना सरकार को , जंगल जल गए है वनसंपदा को काफी नुकशान पहुचा है उस पर भी सिर्फ चुपी ओर सीएम की तो वह महकमा सुन ही नही रहा है ये बात अब गाँव के लोग बोलने लगे है शराब पर खूब बवाल पिछले सरकार के दौरान हुवा ओर इस बार भी कुछ यु ही नजारा है बोलता उत्तराखंड के सूत्र बताते है कि इस बार भी आबकारी महकमे को कम से कम 800 करोड़ का नुक्शान पहुच सकता है पर इस पर भी अभी खामोशी ओर भी राज्य के अंदर समय समय पर वो काम होए जिससे राज्य को नुकशान हुवा पर कमजोर विपक्ष के नाते कोई कुछ खास जन हित मैं ना कर सका बहराल आज काग्रेस विपक्ष मैं लिहाज़ा उम्मीद करते है कि डबल इज़न की सरकार की नकामी को विपक्ष जनता को जरूर बताएं पर आंकड़ों के साथ उदाहरण के साथ , पूरे सबूतो के साथ क्योकि अब राज्य 18 साल मैं है और वो जानता है कि सरकार कहा पर झूठ बोलती है और विपक्ष कहा पर सिर्फ राजनीति करता है और कहा पर जन हित के मुद्दे उठाकर सरकार को घेरता है क्योंकि बोलता उत्तराखंड कहता है कि अब राजनीति विकास की हो , आरोप जिन पर जो लागए वो उसे साबित करे, विपक्ष पर्दे के आगे भी ओर पीछे भी एक हो और राज्य सरकार की जन विरोधी नीतियों को सबूतों के साथ जनता को बताए तो डबल इज़न की सरकार भी अब सिर्फ बोलने के बजाय करके दिखाए ओर जो किया है या कर दिया है उसे उदाहरण देकर जनता के बीच रखे बाकी जनता स्वयं तय कर लेगी की उनके लिए अब 2022 मैं कोन रहेगा राज्य मैं जरूरी ओर कोन नही

Leave a Reply