बड़ा सवाल :- सिपाही ने लेक ब्रिज चुंगी के कर्मचारी पर झोंका फायर?

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई वारदात, बाल-बाल बची कर्मचारी की जान

नैनीताल। नैनीताल शहर के तल्लीताल चिडियाघर रोड निवासी नंदन सिंह रौतेला के साथ ही लेक ब्रिज चुंगी फर्म एमपी इंटरप्राइजेज द्वारा एसएसपी को शिकायती पत्र दिया गया है। कहा है कि 28 जनवरी की आधी रात पोलो कार यूके-04 एस, 3473 लेक ब्रिज चुंगी पर रुकी, जिसमें तीन युवक सवार थे। तीनों चुंगी कर्मचारी जगदीश कन्याल के बारे में पूछने लगे। जब नंदन ने जगदीश के नहीं होने की बात कही तो इससे नाराज होकर कार में बैठे पुलिस कांस्टेबल ने शीशा खोलकर एकाएक फायर झोंक दिया। इसके बाद तीनों गाड़ी समेत फरार हो गए। फरार होने के बाद पुलिस कर्मी ने नंदन के मोबाइल पर संपर्क साधकर घटना की जानकारी किसी को देने पर जान से मारने की धमकी दी। वहीं लेक ब्रिज चुंगी में रात एक बजकर 58 मिनट पर हुई वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद भी है। गनीमत रही कि वह बाल-बाल बच गया। फायर करने वाला तल्लीताल थाने का पुलिस कर्मचारी बताया जा रहा है। टोल कर्मचारी के साथ ही चुंगी ठेका फर्म ने एसएसपी को शिकायती पत्र देकर सिपाही व अन्य दबंगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की गुहार लगाई है। एसएसपी ने सीओ नैनीताल को जांच सौंप दी है।
जांच रिपोर्ट के आधार पर होगी कार्रवाई
सुनील मीणा, एसएसपी नैनीताल ने बताया कि चुंगी कर्मचारी की ओर से फायर झोंकने का शिकायती पत्र दिया गया है। जिसमें यह भी कहा गया है कि एक पुलिस कांस्टेबल ने फायर झोंका। जो ऑन ड्यूटी नहीं था। मामले की जांच सीओ नैनीताल को सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here