आज महंगाई के दौर मैं जब कम दाम मैं मिले उच्च गुडवत्ता से भरी शिक्षा तो क्यो बने आपका विश्वविद्यालय छात्र-छात्राओ की पहली पसंद

449

ब्रेकिंग न्यूज़
पहली बात : उत्तर भारत का लोकप्रिय श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय बना
छात्र-छात्राआं की पहली पसंद।

दूसरी महत्वपूर्ण बात : इस सत्र मैं विश्वविद्यालय ने किए कई सफल प्रयोग, विश्वविद्यालय में संचालित कोर्सेज में से 45 कोर्सेज की फीस में भारी कटौती

तीसरी सबसे ख़ास बात :
छात्राओं, सैनिक परिवारों व एसजीआरआर पब्लिक स्कूलों से 12वीं पासपाउट व गरीब परिवार के बच्चों को फीस में सामान्य छूट के अलावा अतिरिक्त छूट

चौथी बात आज की बढ़ती महंगाई मैं महत्वपूर्ण :
सिविल सेवा परीक्षा, एसएसबी, एनडीए, सीडीएस, ओटीए, सीए, विधि परीक्षाओं व अन्य सरकारी सेवाओं सहित कई प्रतियोगात्मक परीक्षाओं की तैयारी के लिए निःशुल्क कोचिंग की व्यवस्था

पाँचवी बात खेल खिलाड़ीयो के अच्छे दिन :
10 प्रतिशत स्पोर्ट्स कोटा लागू, खिलाड़ियों को फीस में अतिरिक्त छूुट

छठी बात भी सीमित परिवार के लिए ख़ास से कम नही :
सिंगल गर्ल चाइल्ड को टयूशन फीस में 25 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट

  1. देहरादून।
    जी हां उत्तर भारत का लोकप्रिय श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय प्रवेश के लिए छात्र-छात्राओं की पहली पंसद बन गया है। अब कोई नही है दूर दूर तक
    बता दे कि विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने इस सत्र में कई नए प्रयोग किए हैं। छात्र छात्राओं को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से विश्विद्यालय प्रबन्धन ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। इन प्रयोगों के सकारात्मक परिणाम भी लगातार अब दिखने लगे हैं। वही उत्तराखण्ड के विभिन्न जनपदों से भारी तादाद में प्रवेश के लिए आए छात्र-छात्राओं ने इन प्रयोगों को सराहा है।
    ओर हो भी क्यो ना तारीफ जमकर
    जब कम फीस ने गरीब परिवारों के बच्चों के लिए खोले डाले है दरवाजे
    लोकप्रिय श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने विश्वविद्यालय संचालित कोर्सेज़ में से 45 कोर्सों की फीस में भारी कटौती की है। विभिन्न कोर्सज़ की फीस में कटौती के बाद छात्र-छात्राएं पिछले साल की तुलना में इस साल करीब 50 हज़ार रुपये से दो लाख चालीस हज़ार रुपये तक कम फीस दे रहे हैं। कम फीस का लाभ उत्तराखण्ड सहित पूरे देश के छात्र-छात्राओं को मिले रहा है। इसके अलावा छात्राओं, सैन्य परिवारों व एसजीआरआर स्कूलों से 12वीं पासआउट बच्चों व निर्धन परिवार के बच्चों को सामान्य छूट के अलावा विश्वविद्यालय के नियमानुसार अतिरिक्त छूट का लाभ दिया जा रहा है। इस कदम से उत्तराखण्ड एवम् देश के अन्य प्रान्तों के बच्चों को बड़ी राहत मिली है। विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने इस वर्ष से मेधावी छात्रों को सिविल सेवा परीक्षा, एसएसबी, एनडीए, सीडीएस, ओटीए, विधि परीक्षाओं सहित सरकारी नौकरी की तैयारी करने के इच्छुक छात्र-छात्राओं को निःशुल्क कोचिंग उपलब्ध कराने का भी निर्णय लिया है। सैनिक परिवारों व एसजीआरआर स्कूलों से 12वीं पासपाउट व अति गरीब परिवार के बच्चों को सामान्य छूट के अलावा अतिरिक्त छूट प्राप्त हो रही है।

  2. परिवार की एकमात्र लड़की को अतिरिक्त रियायत
    एसजीआरआर विश्वविद्यालय में किसी कोर्स को करने के लिए भाई-बहन एक साथ प्रवेश लेते हैं तो बहन को ट्यूशन फी में 25 प्रतिशत अतिरिक्त छूट दी जा रही है। बेटी पढ़ाओ बेटी बढ़ाओं की मुहिम को और मजबूती प्रदान करने के उद्देश्य से एसजीआरआर विश्वविद्यालय प्रबन्धन बेटियों को ट्यूशन फी में अतिरिक्त छूट प्रदान कर रहा है।
    हिन्दी भाषी छात्र-छात्राओं को बड़ी राहत
    लोकप्रिय श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में इस सत्र से हिन्दी भाषी छात्र-छात्राओं को बड़ी राहत मिल गई है। सभी क्लासरूम्स में हिन्दी भाषा में लेक्चर्स, लाइब्रेरी में सभी विषयों की पुस्तकों के हिन्दी वर्जन व परीक्षा के लिए अंग्रेजी भाषा के अलावा हिन्दी भाषा में भी प्रश्नपत्र तैयार करने का फैसला लिया है। इस सत्र से यह व्यवस्था आरम्भ हो गई है। हिन्दी भाषी छात्र-छात्राओं को इस पहल का बड़ा लाभ मिलेगा जो अंग्रेजी भाषा के कारण उच्च शिक्षा प्राप्त करने में परेशानी महसूस करते रहे हैं। हिन्दी भाषा बेकग्रांउड के छात्र-छात्राओं को ऐसा माहौल दिया जाएगा कि अंग्रेजी-हिन्दी भाषा के अंतर के कारण छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा ग्रहण करने में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आएगी।
    विश्वविद्यालय गठन के 2 वर्षों के भीतर यूजीसी से मान्यता
    एसजीआरआर विश्वविद्यालय उत्तराखण्ड का पहला ऐसा विश्वविद्यालय है जिसे रिकाॅर्ड समय महज़ दो वर्षों की स्थापना के भीतर ही यूजीसी से मान्यता मिली है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अधिनियम 1956 की धारा 2 (एफ) के अन्तर्गत एसजीआरआर विश्वविद्यालय को मान्यता मिलना विश्वविद्यलाय की एक महत्वपूर्णं उपलब्धि है। अमूमन विश्वविद्यालयों को यूजीसी से मान्यता प्राप्त करने में 5 वर्षों से 10 वर्षों तक का समय लग जाता है।
    स्पोर्ट्स कोटे के लिए सीटें आरक्षित व फीस में रियायत
    स्पोर्ट्स कोटे के छात्र-छात्राओं के लिए 10 प्रतिशत सीटें आरक्षित हैं। वहीं स्पोर्ट्स कोटे में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं को सामान्य छात्रों की तुलना में 10 से 50 प्रतिशत ट्यूशन फीस में छूट दी जा रही है। स्पोटर्स कोटे का लाभ उन छात्र-छात्रा खिलाड़ियों को मिल रहा जिन्होंने स्कूल स्तर पर, ब्लाॅक स्तर पर, जिला स्तरीय, राज्य स्तरीय या राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतिस्पर्धा में पदक जीता है। ऐसे खिलाड़ी प्रधानाचार्य व अन्य सम्बन्धित अधिकारी का प्रमाण पत्र दिखाकर छूट का लाभ ले रहे हैं। विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने एथलेटिक्स, तीरंदाजी, मुक्केबाजी, बास्केटबाॅल, बैडमिंटन, टेबल टेनिस, फुटबाॅल, क्रिकेट, जिमनेस्टिक, हाॅकी, कराटे, शूटिंग, हैंडबाॅल, जूड़ो, ताइक्वांडो, टेनिस, वाॅलीबाॅल, रेसलिंग आदि खेलों के लिए पर्याप्त खेल मैदान तैयार करवाने की योजना बनाई है। इन खेलों के खिलाड़ियों को बेहतर कोचिंग देने के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट आफ स्पोर्ट्स पटियाला से कोच हायर किए जा रहे हैं।
    लोकप्रिय एसजीआरआर एजुकेशन मिशन के संस्थानों में नौकरीः- श्री गुरु राम राय एजुकेशन मिशन की छाॅव में एसजीआरआर विश्वविद्यालय, एसजीआरआर मेडिकल काॅलेज, श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल, एसजीआरआर काॅलेज आफ नर्सिंग, एसजीआरआर पब्लिक स्कूल की 125 शाखाएं संचालित हैं। एसजीआरआर विश्वविद्यालय से पासआउट छात्र-छात्राओं को इन संस्थानों मं नौकरी प्राप्त करने में हर सम्भव सहयोग प्रदान किया जाता है।
    सबसे खास बात ये भी है कि अब छात्र-छात्राओं को एजुकेशन लोन उपलब्ध कराएंगे बैंकः- जी हां श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के विभिन्न कोर्सेज में प्रवेश लेने के इच्छुक छात्र-छात्राओं की आवश्यकतानुसार बैंक एजुकेशन लोन सुविधा उपलब्ध करवा रहे हैं। एजुकेशन लोन सुविधा के लिए विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने 4 बैंकों भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, इण्डियन ओवरसीज़ बैंक व यस बैंक के साथ करार किया है। विश्वविद्यालय के पथरी बाग कैंपस व पटेल नगर कैंपस पर इन बैंको के अधिकारी छात्र-छात्राओं को एजुकेशन लोन सुविधा देने के लिए उपलब्ध हैं। अब जरूरतमंद छात्र- छात्राओं को एजुकेशन लोन के लिए बैंकों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।
    ओर ये सब तब ही सम्भव हो पा रहा है जब शिक्षा, स्वास्थ्य , जैविक खेती, लाखो लोगो को रोजगार, जरूरतमंद लोगों की आर्थिक व सामाजिक मदद, पहाड़ो मैं बढ़ते पलायन को कम करने के लिए लगातार कार्य करते रहना , सुबह से सायं तक दरबार साहिब मे जरूरमंद लोगो के लिये लंगर का संचालन , गुरु राम राय ट्रस्ट, गुरु राम राय एजुकेशन मिशन, से लेकर श्री महंत इंदिरेश अस्पताल तक मै कार्य करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों को लगातार दिशा निर्देश देते रहना , नेकी के रास्ते पर चलने की सिख, मिशन के प्रति ईमानदारी ओर जरूरमंद व्यक्ति की हर हाल मैं मदद करने का संदेश देने वाले है श्री महंत देवेंद्र दास जी महाराज जी जो आज देश विदेश मैं अपने द्वारा कराये जा रहे कार्यों से लोकप्रिय हो चुके है।
    ओर उनकी ये लोकप्रियता लगातार बढ़ ही रही है ।
    श्री महंत देवेंद्र दास जी महाराज जी भी मिशन की पूरी टीम को बधाई ओर सुभकामनाये देते रहते है उनकी हौसला अफजाई करते रहते है साथ ही सिख भी देते रहते है कि आप इसी तरह ईमानदारी से , अपने कर्तव्य के प्रति जवाब देही, निष्ठा से कार्य करते रहो ,गुरु महाराज जी सच्ची सेवा ओर ईमानदारी से किये जा रहे कार्यो का फल देते है ।
    गुरु राम राय दरबार साहिब के प्रति आस्था रखने वाले श्रदालु ,भक्तो की तादात करोड़ो मैं है ओर ये तादात ओर आगे दिन प्रति दिन ओर बढ़ भी रही है और ये हो भी क्यो ना यहां सच्चे मन से मागी गई मुराद , उनकी मनोकामना पूरी जो होती है । तभी तो हर साल उमड़ता है आस्था का महा सैलाब झंडे जी के आरोहण के समय।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here