पहाड़ मे मौसम का तांडव दुःखद यहा मौत वहा दुकानें बह गई कही सड़के टूट गई

विनोद चन्दोला की रिपोर्ट

: हम पहाड़ी लोगो पर रहम करो भगवान लगातार इस बात को बोलता उत्तराखंड बोल रहा है पाहड़ के हालात किसे से छिपे नही है और ऊपर से ये जान लेवा भारी बरसात ओर बादल फटने जैसे घटनाओं ने रुला दिया है क्योकि आये दिन ये ख़बर आती है दुःखद ख़बर हमको मिलती है आपको बता दे कि बूढाकेदार के कोट गॉव  बहस घर मे सो रहे मोर सिह राणा पुत्र उमा सिह राणा के एक ही परिवार के लगभग 7 लोगो मलबे मे दब गये 6  लोगो के शव  ओर एक घायल  को निकला  दिया  है बाकी कि खोजबीन जारी है.

मलबे मे दबे हुये 1 मोर सिह पुत्र उमा सिह राणा. 2 .हंश देई पत्नी मोर सिह. 3. आशीष पुत्र मोर सिह. 4 बबली पुत्री मोर सिह. 5. संजू देवी पत्नी हुकम सिह राणा. 6 अतुल पुत्र हुकम सिह राणा. 7 लछमी देवी पत्नी राकेश राणा.
घटना स्थल पर प्रशासन मौजूद है राहत बचाव कार्य किया जा रहा है ।। 

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने टिहरी जिले में कोट गांव में भूस्खलन की घटना में मृतकों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करते हुए स्थानीय प्रशासन को तेजी से राहत बचाव कार्य करनें के निर्देश दिये हैं। जिलाधिकारी सहित सभी अधिकारी घटना स्थल पर मौजूद है घनसाली के कोट गाँव की घटना के मृतको का नाम।

1:-मोर सिंह उम्र 32 वर्ष शव बरामद
2:- हाशिता देवी 27 वर्ष (शव खोजबीन जारी)
3 :; आशीष पुत्र मोर सिंह (शव बरामद)
4:- संजू देवी धर्मपत्री हुकम सिंह (खोजबीन जारी)
5:- अतुल पुत्र हुकम सिंह (शव बरामद)
6:- लक्ष्मी देवी धर्मपत्नी राकेश (खोजबीन जारी)
7:- स्वाति पुत्री राकेश सिंह (खोजबीन जारी)

घायल कुमारी बबली पुत्री मोर सिंह बरामद।

 

विनोद चंदोला की रिपोर्ट थराली से

पहाड़ मे आपदा की भेंट चढ़ी दुकाने भारी बारिश का कहर मैदानों से लेकर पहाड़ो तक बदस्तूर जारी है पहाड़ो में हर तरफ भारी बारिश के बाद हो रही भूस्खलन की तस्वीरें दिल दहलाने वाली हैं कुछ ऐसा ही चमोली जिले के नारायणबगड़ विकासखण्ड में हुवा जहाँ नारायणबगड़ बाजार में 5 दुकाने बारिश की वजह से आपदा की मार से ढह गई और ढह गई इन दुकानों में इन व्यापारियों की रोजी रोटी का जुगाड़ भी। हालांकि घटना में किसी के हताहत होने की कोई खबर नही हैं सभी व्यापारी घटना के समय दुकानों से बाहर थे इसलिए कहा जा सकता है बड़ी अनहोनी होने से बच गयी लेकिन दुकानों में रखा लाखो का सामान भी आपदा की ही भेंट चढ़ गया प्रशासन के मुताबिक इन दुकानों से सटी दो और दुकाने खतरे की जद में है जिन्हें खाली करवाने के निर्देश प्रशासन द्वारा दिये गए हैं


लगातार हो रही बारिश के बाद सुबह धूप खिली धूप चटक थी और बारिश के बाद खिली चटक धूप ने ही दुकानों को मलबे के ढेर बना दिया ,5 दुकाने आपदा की भेंट चढ़ गई इनमें खाने की होटल ,सब्जी और किराने की दुकान के साथ एक सैलून भी था कल दोपहर लगभग 1बजकर 30 मिनट पर घटना घटी ओर इन व्यापारियों का स्वरोजगार छीन गयी प्रशासन को जैसे ही सूचना मिली आनन फानन में तहसीलदार थराली मौके पर पहुंचे और व्यापारियों के नुकसान का जायजा लिया तहसील प्रशासन के मुताबिक 5 दुकानों में लगभग 10 लाख का कुल नुकसान होने की सम्भावनाये हैं ,तहसील प्रशासन ने आपदा की रिपोर्ट तैयार कर शासन को भेजने की तैयारी कर दी है 

और इन व्यापारियों को आश्वस्त किया है कि आपदा में तय मानकों के अनुसार ही इन व्यापारियों को क्षति पूर्ति दी जाएगी स्थानीय व्यापारियों ने बताया कि पिछले हफ्ते भर से हो रही भारी बारिश के बाद कल दोपहर में ही जब सभी व्यापारी अपनी दुकानो से बाहर थे अचानक एक के बाद एक कुल 5 दुकाने गिर गयी जिसमे व्यापारियों का काफी नुकसान हुआ है साथ ही इन व्यापारियों ने बताया कि उनकी रोजी रोटी का एकमात्र विकल्प ये दुकाने ही थी
वहीं तहसीलदार थराली ने बताया कि नारायणबगड़ में 5 दुकाने आपदा में ढह गई जिसमें कुल 5 दुकानों में लगभग 10 लाख का नुकसान होने की सम्भावनाये हैं साथ ही तहसीलदार थराली मणीकलाल भैतवाल ने बताया कि सभी आपदा प्रभावित व्यापारियों को आपदा के मानको के अनुसार मुआवजा दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here