पहाड़ मे 12 साल की नाबालिग की हत्या दुष्कर्म की आशंका

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत जी पहाड़ मे लगातार बेटियों की हत्या या फिर दुष्कर्म की ख़बर आये दिन आने लगी है जिससे पूरे पहाड़ मे दहशत फैल रही है ताज़ा मामला उत्तरकाशी जिले के डुंडा क्षेत्र के हिटाणू से आया है जहा एक नाबालिग बच्‍ची की हत्‍या कर दी गई है । ओर हत्या के बाद उन भेड़ियों ने बच्‍ची का शव गांव के निकट ही एक पुल पर फेंक दिया.   

आपको बता दे कि आज सुबह सात बजे इस घटना की जानकारी पुलिस प्रशासन को मिली। फिर राजस्व पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद ग्रामीणों ने जमकर हंगामा काटा ओर उचित कदम उठाने की माग की । जिसके बाद में डीएम, एसपी व विधायक भी मौके पर पहुंचे। ओर साथ ही कोतवाली उत्तरकाशी की पुलिस भी मौके पर पहुंची। आपको बता दे कि ग्रामीण में बच्‍ची से सामूहिक दुष्‍कर्म की आशंका जताई है 

वही नाबालिग बच्ची के परिजनों के अनुसार, शुक्रवार की रात को उनकी 12 साल की बेटी गायब हो गई। सुबह जब ग्रामीणों ने पुल के पास बच्‍ची के शव को देखा तो तब उनको इस घटना का पता चला। आपको बता दे कि अंदेशा है कि बच्ची के घर के पास कुछ मजदूर कई दिनों से काम कर रहे थे। जो सुबह तड़के भाग निकले। ओर उन पर शक भी किया जा रहा है।
आपको बता दे कि गांव के निकट देवी धार से उन मजदूरों ने देहरादून जाने के लिए गाड़ी बुक की। जब बच्ची की हत्या की सूचना फैली तो मजदूरों को लेकर जा रहे वाहन को मसूरी के निकट भवान में थत्यूड़ पुलिस ने रोका और मजदूरों को हिरासत में ले लिया गया। वहीं ग्रामीण इस बात पर अड़े हैं कि जब तक आरोपितों को मौके पर नहीं लाया जाता है तब तक वे शव को उठाने नहीं देंगे।  वहीं, डीएम आशीष कुमार का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। पु‍लि‍स ने सं‍दिग्‍ध लोगों को हिरासत में ले लिया है। उनसे लगातार पूछताछ की जा रही है। बहराल बोलता है उत्तराखंड की आये दिन पहाड़ की नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्कर्म की ख़बर बढ़ती जा रही है तो महिलाओं पर अत्याचार हो या उनकी हत्या तक कि खबरे या फिर मानव तस्करी तक कि खबरे भी पहाड़ से आती है इस लिहाज से पुलिस को ओर सख्ती से पूरे मामलों को देखना होगा।क्या कसूर था उस 12 साल की मासूम का जिंसने अभी दुनिया देखनी थी तो उससे पहले ही उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई और गाव  के निकट ही उसके शव को फेक दिया गया । गाँव वाले विस्वास के साथ कह रहे है कि इन मासूम के साथ दुष्कर्म किया गया है ।खेर वो तो अभी जांच रिपोर्ट मे सब निकलकर आ जाएगा पर ज़िज़ तरह से ये घटना को अंजाम दिया गया कही ना कही पहाड़ की शांत वादियों मे अशान्ति फैलाने के साथ साथ अब पहाड़ वासियो पर उनकी बेटियों पर बहनों पर ज़िस तरह से हवस के भेड़ियों की नज़र है उसे देखकर अब पूरे पहाड़ मे घुसने वाले या काम काज करने वालो पर सख्त नज़र रखने की जरूरत है जिसमे हम सबको रहना होगा जागरुक 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here