पहाड़ी किसान की मदद कर दो सीएम सर दुवाये मिलेगी ,विपक्ष भी करे मदद

बोलता उत्तराखंड पर ये दर्द भरी ख़बर है आप से भी गुजारिश है कि आप इस ख़बर को पड़कर जो आप से बन सके वो आप इनकी मदद करे मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत जी आपकी जानकारी मे पूरी बात आगयी होगी हम अपने दर्शकों को बता दे की Kalogi Dhari जो कि (Uttarkashi) मैं पड़ता है जहां आकाश से गिरी आफत की बिजली से गरीब किसान सदमे मैं आपको बता दे कि इस गरीब किसान की छानी पर आफत की बिजली गिर गयी है जिसका नाम सियाराम है                                                                             आपको बता दे कि
उत्तरकाशी में बड़कोट तहसील के धारी कलोगी क्षेत्र में एक गरीब के किस्मत मैं दर्द के सिवा कुछ नही लिखा है जैसे तैसे ये किसान अपना ओर अपने परिवार का गुजारा करता था पर वो कहते है ना कि कुदरत का खेल कभी समझ मे आता है और कभी नही सियाराम के साथ भी जो हुवा वो किसी के भी समझ से बाहर है क्योंकि उसकी छानी पर आकाशीय बिजली का कहर इस कदर टूटा की सब कुछ तहस नहस हो गया जानकारी मिली है कि जनानंद और सियाराम पुत्र बुद्धि राम डोभाल की गौशाला में आकाशीय बिजली गिरने से उनकी दो भैंस सहित तीन दर्जन से अधिक बकरियों की मौत हो गई ।      

बोलता उत्तराखंड को ख़बर मिल रही है कि जब गौशाला पर आकाशीय बिजली कि आफत बनकर टूटी तो उस समय जमनाराम व सियाराम डोभाल दोनों ही उसी से लगी दूसरी गौशाला में मौजूद थे । ऊपर वाले कि किरपा रही कि दोनों को कुछ नही हुवा लेकिन बुरी ख़बर ये रही कि इस घटना में बेजुबान जानवर बेमौत मारे गए है
यह घटना तिया गाँव के दगड़ा नामे तोक की है । मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत जी से इस किसान की मदद के लिए कही पत्रकार भी मदद की गुहार लगा रहे है                                                           पत्रकार विजेंद्र रावत ने भी सीएम से गरीब किसान के लिए उचित मदद की गुहार लगाई है इस किसान का इस घटना में दो भैंस व तीन दर्जन से अधिक बकरियों के मारे जाने की सूचना मिलने के बाद राजस्व और पशुपालन विभाग की संयुक्त टीमें मौके के लिए रवाना कर दी गई थीं ।
अब गाँव वालो ने सरकार से विनती की है कि दोनों पीड़ित परिवारों को अधिक से अधिक आर्थिक मदद दी जाय क्योकि इनके जीवन यापन का जरिया इन पशुओं पर ही निर्भर थी । अब जब ये ही नही रहे तो इनका परिवार कैसे पलेगा बोलता उत्तराखंड बोलता है कि यहां पर इस परिवार की आर्थिक मदद के लिए विपक्ष को भी आगे आना चाइए क्योकि किसानों पर राजनीति तो सभी करते है पर आज गरीब किसान की मदद के लिए कोन सबसे पहले आगे आता है विपक्ष या सरकार ये देखना जरूरी है सरकार को तो हर हाल मैं गरीब किसान की आर्थिक मदद करनी चाइए ओर विपक्ष को भी यहा पर अपने कार्यकर्ताओं से चंदा लेकर गरीब किसान की मदद करनी होगी तब ही मालूम चलेगा कि राज्य मैं सरकार तो है साथ मै विपक्ष भी अपनी मौजूदगी का विस्वाश जनता को दिला सके बोलता उत्तराखंड को उम्मीद है कि त्रिवेन्द्र सरकार हर सम्भव मदद करेगी और विपक्ष भी यहा पर गरीब किसान के साथ आर्थिक रूप से खड़ा दिखाई देगा

Leave a Reply