उत्तराखंड: कोरोना संकट के बीच पानी हुआ महंगा, दरों में 9 से लेकर 15 फीसदी तक इजाफा।


कोरोना काल संकट के बीच अब आपके उत्तराखंड जल संस्थान ने पानी की दरों में बढ़ोतरी कर उपभोक्ताओं को झटका दिया है लोगों को अब पहले ही अपेक्षा अधिक बिल चुकाना पड़ेगा। हर साल की भांति इस बार भी जलसंस्थान ने पानी की घरेलू दरों में 9 से 11 प्रतिशत
जबकि व्यवसायिक दरों में 13 से 15 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की है। ओर यह बढ़ोतरी एक अप्रैल से लागू हो गई है।

बता दे कि हर साल अप्रैल माह में जलसंस्थान पानी की दरों में बढ़ोत्तरी करता है। कोरोना संकट में लोग पानी के बिलों में राहत की उम्मीद लगाए बैठे थे, लेकिन जल संस्थान ने लोगों को राहत देने की बजाय दरों में इजाफा कर लोगों को झटका दिया है।
जब अप्रैल से जुलाई तक चार माह का बिल उपभोक्ताओं के पास पहुंचा तो उन्हें दरों में बढ़ोतरी की जानकारी मिली। बता दे कि
पहले के मुकाबले बिल सौ से डेढ़ सौ रुपये ज्यादा आया है। जब इस संबंध में उपभोक्ताओं ने जल संस्थान से संपर्क किया तो पता चला कि हर साल की भांति इस बार भी जलसंस्थान ने बिलों में बढ़ोतरी की है।
ये भी जान ले कि
नए टैरिफ लागू होने के कारण घरेलू उपभोक्ताओं को जहां 50 से 60 रुपये अधिक चुकाने होंगे। वहीं व्यवसायिक उपभोक्ताओं को भी कैटेगरी के अनुसार पहले से अधिक मूल्य चुकाना पड़ेगा। 

उपभोक्ता कर रहे थे राहत की उम्मीद 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here