पीएम सर कैसा डबल इज़न ! 400 छात्र छात्राओं पर रहम करे उत्तराखंड की सरकार!

वहां मेरी डबल इज़न की सरकार जैसे ही 18 मार्च 2017 से आपकी सरकार क्या आई यहा बजट ही ख़त्म हो गया ये बात हम नही वो लोग कह रहे है जो अपने मासूमो को अपने कलेजे पर पथर रख कर उन्हें स्कूल भेज रहे है      वो भी कोई एक दो नही पचास सो नही पूरे चार सौ छात्र छात्राओं को जी हां बात प्रतापनगर ब्लॉक के उपलि रामोली पट्टी के राजकीय इंटर कालेज गरवान गाँव की है  
आपको बता दे कि राजकीय इंटर कालेज गरवान गाँव मे 2016 से स्कूल की बिल्डिंग निर्माणधीन है जिसका कार्य मार्च 2017 से बजट के अभाव में बंद हो गया ।   ये पूरी विधानसभा का पहला वो गाँव है जंहा आज भी 400 से अधिक बच्चे बिना भवन के पढ़ते है पर सरकार को स्याद मालूम ना होगा या फिर बिगडैल अधिकारी ने बताया नही होगा कि मंत्री जी आज हालात यहा इतने गंभीर है कि यंहा पर बच्चे उस खडार में पढ़ने को मजबूर है जहा कोई खड़ा तक नही होता।     जरा सोचिए 400 बच्चे बिना भवन के भी बरसात में कभी गर्मी कभी सर्दी मै तो कभी बरसात के पानी मे पढ़ने को मजबूर है आपको बता दे कि ये स्कूल लगभग 5 से 6 गाँव का स्कूल है जब सरकार ने कुछ ना किया तो
अभिभावकों ने खुद पैसे इकट्ठे करके कुछ टिन सेट भी बनवाये                    तो इस मुद्दे को लेकर ग्रामीण क्षेत्र के विधायक से लेकर SDM, DM, तक जा चुके है लेकिन उनको निराशा ही हाथ लगी है क्या कहोगे सरकार जहा पढ़ने वाले छात्र ओर छात्रा है वहा भवन की बिल्डिंग तक नही ? तो बोलता है उत्तराखंड़ की फिर ओर जगह के क्या हालात होंगे ? वहां की जनता लगातार कह रही है कि
इस बिल्डिंग को जल्द से जल्द तैयार करे सरकार साथ ही स्कूल के पुराने बजट की भी जांच हो   की  तक नई बिल्डिंग नही बनी तब तक पुरानी बिल्डिंग को क्यो तोड़ा गया   
फिलहाल यहा की दुःख भरी कहानी अब पीएम मोदी जी तक भी पहुच गयी है और राज्य के मुख्यमंत्री के समाधान पोट्रल पर भी इसके साथ ही शिक्षा मंत्री तक बस अब देखना ये है कि सरकार कब तक इस स्कूल के भवन को पूरा बनाकर तैयार करती है क्योकि सवाल लगभग 400 मासूम छात्र छात्राओं का है इसलिए जाग जाओ सरकार 

Leave a Reply