लो जी खुशखबरी आई है अब PF जमा पर ज्यादा मिलेगा ब्याज, पीएम मोदी का धमाल

आपको बता दे कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने कर्मचारी प्रॉविडेंट फंड पर मिलने वाले ब्याज दर को 8.55 फीसद से बढाकर 8.65 फीसद कर दिया है। 2015-16 के बाद यह पहली बार है, जब ब्याज दरों में बढ़ोतरी की गई है। ब्याज दरों में बढ़ोतरी वित्त वर्ष 2018-19 के लिए लागू होंगी।
श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने गुरुवार को इस फैसले की जानकारी देते हुए कहा कि सरकार के इस फैसले से 6 करोड़ कर्मचारियों को फायदा होगा।
उन्होंने कहा कि ईपीएफओ के सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज (सीबीटी) के सभी सदस्यों ने चालू वित्त वर्ष के लिए ब्याज दरों में इजाफा किए जाने के फैसले पर सहमति जताई। गंगवार ने कहा कि अब इस फैसले को मंजूरी के लिए वित्त मंत्रालय को भेजा जाएगा।
गौरतलब है कि 2016-17 में ईपीएफओ ने 8.55 फीसद की दर से ब्याज दिया था, जो पांच सालों में सबसे कम था।
श्रम मंत्री की अध्यक्षता वाला न्यासी बोर्ड ईपीएफओ का निर्णय लेने वाला शीर्ष निकाय है, जो वित्त वर्ष के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर पर निर्णय लेता है।
बोर्ड की मंजूरी के बाद प्रस्ताव को वित्त मंत्रालय से सहमति की जरूरत होगी। वित्त मंत्रालय की मंजूरी के बाद ही ब्याज दर को अंशधारकों के खाते में डाला जाएगा।
ईपीएफओ ने 2017-18 में अपने अंशधारकों को 8.55 फीसद ब्याज दिया था। वित्त वर्ष 2016-17 में 8.65 फीसद और 2015-16 में 8.8 फीसद ब्याज दिया था। वहीं 2013-14 और 2014-15 में ब्याज दर 8.75 फीसद थी।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here