अन्नदाताओं को बरगला रहे है विपक्षी दल- डॉ निशंक

कृषि कानूनों से अन्नदाता होंगे सशक्त

केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल ” निशंक ” ने हरिद्वार भाजपा कार्यालय में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश के अन्नदाताओं को सशक्त व उनकी आय को बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नए कृषि विधेयकों को पारित किया हैं । लेकिन विपक्षी दल किसानों को गुमराह करने का कार्य कर रहे हैं ।
केंद्रीय मंन्त्री डॉ निशंक कांग्रेस पर कड़ा प्रहार करते कहा कि जिस कांग्रेस ने 60 सालों में कभी किसानों की चिंता नही की वो आज नरेंद्र मोदी सरकार के द्वारा किसानों को आत्मनिर्भर एवं बिचौलियों की चंगुल से आजाद करने के लिए लाए गए कृषि विधेयकों का विरोध कर रही है । उन्होंने कहा कि भाजपा सदैव किसानों की हितैषी रही है केंद्र व राज्य सरकार किसानों के हितों को सर्वोच प्राथमिकता देती है इसी को मध्य नजर रखते हुए नए किसान बिल लाये गए हैं इससे किसानों की आय में बेतहाशा वृद्धि होगी।
डॉ निशंक ने कहा कि किसानों पर अपनी फसल को बेचने को लेकर जो बंदिशें वर्षों से लगी थी इन कृषि विधेयकों के माध्यम से प्रधानमंन्त्री नरेन्द्र मोदी ने अन्नदाताओं को असली आजादी दी है। लेकिन दुर्भाग्य से विपक्षी दलों द्वारा हमारे मेहनती किसान,अन्नदाताओं को बरगलाने का कार्य किया जा रहा है । कांग्रेस ने देश में इसी झूठ तंत्र के द्वारा इतने सालों तक राज किया है अब उनकी जड़ें हिल चुकी है तो मेहनती अन्नदाता किसानों को बरगला रही है लेकिन हमारे देश का किसान मेहनती व समझदार है वो कांगेस के बहकावे में नही आने वाला है।
डॉ निशंक ने कहा कि वर्ष 2014 से पूर्व जो लोग आज इस बिल का विरोध कर रहे हैं वो दल इस विधेयक के पक्ष में थे। लेकिन आज इन कानूनों के प्रति उनका रुख बहुत ही निराशाजनक है। वे अन्नदाताओं को गुमराहित कर उनके हितों के साथ कुठाराघात करने का विपक्षी दलों का अभियान बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। दोनों सदनों में स्वच्छ चर्चा के बाद ये बिल भारी बहुमत से पास हुए हैं जिसमें दूसरे दलों ने भी सदन में इस बिल का समर्थन किया।
उन्होंने कहा कि किसानों को गलत तथ्य देकर भ्रमित किया जा रहा है कि वह अपने जमीन का मालिकाना हक खो देगा किसान आज भी अपनी जमीन का मालिक है और कल भी रहेगा । सरकार ने इस बिल में किसानों के लिए बोनस की व्यवस्था रखी है इसके अंतर्गत यदि किसान को अपना करार समाप्त करना है तो इसके लिए वह पूर्ण स्वतंत्रत है।
निशंक ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने स्पष्ट कहा है ये बिल किसानों के हितों व उनकी आय बढ़ाने के लिए लाया गया है बिल में एमएसपी जिस प्रकार से पहले थी उसी प्रकार से आगे भी चलती रहेगी ।
लेकिन एमएसपी को लेकर किसानों को गुमराह किया जा रहा है वह बहुत ही निंदनीय है ।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दो गुना करने का लक्ष्य रखा जिसका असर आज दिखने लगा है आज किसानों की आय डेढ़ गुना तक बढ़ गई है ।
उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी किसानों के बीच में जाकर इस विधेयक की पूर्ण जानकारी साझा करेंगीं। उनके हकों के लिए केंद्र सरकार ने स्वतंत्रता दी है ये किसानों को बताएंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसानो को मंडी की समाप्ति को लेकर भ्रमित किया जारहा है जो कि बहुत बड़ा कुप्रचार है इसके लिए प्रधानमंत्री व कृषि मंत्री ने कहा कि जिस प्रकार मंडी पहले थी उसी तरह आगे भी रहेगी। इन विधेयकों से किसान हर प्रकार से स्वतंत्र हो गया है वह अब अपनी फसल मंडी के अंदर और मंडी के बाहर, राज्य में या राज्य के बाहर कहीं भी उचित दाम पर स्वेच्छा से बेचने के लिए स्वतंत्र है। अब वह अपनी मर्जी का मालिक हो गया है। कांग्रेस ने देश के किसानों को बंधक बनाकर रखा देश के नौजवानों और देश की प्रगति को बंधक बनाकर रखा ।
डॉ निशंक ने कहा कि मोदी सरकार ने कोरोना काल में विश्व की सबसे बड़ी परीक्षा JEE और नीट जैसे परीक्षायें कराकर पूरे विश्व को छात्रों के भविष्य पर आंच नहीं आने का संदेश दिया है ।
आज किसान सम्मान निधि सीधे किसानों के खाते में आती है उन्होंने कांग्रेस और विपक्षी दलों को चुनौती देते हुए कहा कि वह कृषि विधेयकों का अध्ययन कर एक भी कमी बताएं उसके बाद किसानों के बीच जाए।
डॉ निशंक ने कहा कि जिस प्रकार से हमारी सरकार किसानों के हित में कार्य कर रही है, वह विपक्षी दलों को हजम नहीं हो पा रहे हैं। कांग्रेस और विपक्षी दल किसान आंदोलन के नाम पर राजनीतिक रोटियां सेक रही है उन्होंने कहा कि कांग्रेस और विपक्षी दलों को किसानों से सार्वजनिक क्षमा मांगनी चाहिए।
निशंक ने कहा कि हमारी सरकार 2014 से निरंतर किसान हित में कार्य कर रही है जिस प्रकार किसानों को आज किसान पेंशन किसान, सॉइल हैल्थ कार्ड, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि अनेक तरह की सुविधाएं प्रदान की जा रही है
उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा किसानों के हित में किए गए कार्यों के बारे में आंकड़े प्रस्तुत करते हुए कहा 2013 -2014 कृषि बजट की तुलना में 2020- 2021 कृषि बजट में 6 गुना की वृद्धि हुई है यह एक ऐतिहासिक कार्य है कि 6 साल में 6 गुना की वृद्धि हुई है। 2020 में भारत सरकार ने एक लाख 34 हजार 399 करोड़ रुपए बजट का प्रावधान किया है 2015-16 में 252 मीट्रिक टन अनाज था 2019-20 में 297 मीट्रिक टन अनाज का संग्रहण किया।
उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री किसान योजना के द्वारा 10 करोड़ 60 लाख किसानों को इस योजना से लाभ मिला है। इस योजना पर अब तक भारत सरकार ने 95900 करोड़ रूपये खर्च किये है।

इस अवसर पर प्रदेश महामंन्त्री भाजपा कुलदीप कुमार जिलाध्यक्ष डॉ जयपाल सिंह , विधायक सुरेश राठौड़ आदेश चौहान , प्रदीप बत्रा ,देशराज कर्णवाल डॉ विनोद आर्य , संजय सहगल शोभाराम प्रजापति ,सुशील चौहान प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान, प्रदेश प्रवक्ता विपिन कैंथोला, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी सुनील सैनी, कमलेश उनियाल ,विकास तिवारी आदि अन्य भाजपा पदाधिकारी उपस्थित रहे।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here