उत्तराखण्ड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर की बंशी से नहीं बज रहे मोदी के सुर! 
————————–

जहां एक ओर पूरी भाजपा मोदी रंग में रंगी हुई है, वहीं उत्तराखण्ड के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने स्पष्ट रूप से ये बात स्वीकार कर ली है कि मोदी लहर के सहारे अब किसी की नैया पार नहीं होगी और ना ही अब मोदी के नाम पे लोग वोट देंगे! 
जी हां, ये वही बंशीधर भगत हैं जिन्होंने दो दिन पूर्व ही भाजपा से निष्कासित बड़बोले विधायक कुंवर प्रणव चैम्पियन की पार्टी में वापसी कराई है। आपको ये बताते चलें कि चैम्पियन खानपुर से विधायक हैं तथा उनके द्वारा उत्तराखण्ड को घोर अपशब्द कहने वाली वीडियो आने के बाद भाजपा केंद्रीय नेतृत्व द्वारा उनको पार्टी से छः वर्षों के लिए निष्कासित कर दिया गया था।
 सुना है केंद्रीय भाजपा के फैसले को दरकिनार करते हुए  कोर कमेटी के  इस फैसले से प्रदेश में चारों ओर भाजपा के खिलाफ माहौल बनना शुरू हो गया है, तो विपक्ष भाजपा की पार्टी को  बैकफुट पर  लाने के लिए  सियासी  चाले चल रहा है! 

जहां एक ओर विश्व के बड़े से बड़े ताकतवर देश भी प्रधानमंत्री मोदी के आभामण्डल के मुरीद हैं, अनेकों राष्ट्रों के राष्ट्राध्यक्ष भी प्रधानमंत्री मोदी को कॉपी करने से नहीं चूकते, छोटे बच्चों से लेकर युवा शक्ति तथा विशेषकर बुजुर्गों के रोल मॉडल मोदी की लोकप्रियता का आंकड़ा पूरे विश्व मे नम्बर एक पर है,

ऐसे में मोदी की भाजपा के उत्तराखण्ड अध्यक्ष बंशीधर भगत के इन बयानों ने माहौल को गर्म कर दिया है। 1991 में पहली बार विधायक बने बंशीधर अब तक कुल 6 बार विधायक बन चुके हैं। बंशीधर भगत का राजनीतिक अनुभव खासा लम्बा है। बंशी उत्तर प्रदेश में भी मंत्री रह चुके हैं। इसलिए परिपक्व बंशीधर के इस बयान को बिल्कुल भी अपरिपक्व नहीं कहा जा सकता। पहले चैम्पियन की वापसी और आज बंशीधर का ये बयान अपने आप मे भविष्य के कई राज लपेटे हुए है।
फिलहाल तो बंशीधर ने अपने इस बयान से सारी भाजपा को असहज ही कर दिया है।
धीरे धीरे ये लपट कहां तक जाएगी, ये देखने वाली बात होगी 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here