उत्तराखंड त्रिवेंद्र सरकार को आपकी फ़िक्र है: अब निजी अस्पतालों को फ्री में वेंटिलेटर देगी त्रिवेंद्र सरकार

बता दे कि
कोरोना के इलाज में आ रही वेंटीलेटर की कमी के चलते लिया गया है फैसला

ये भी जाने
अब दून और श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में रोज होगी दो हजार सैंपलों की जांच

जी हा कोरोना संक्रमण के गंभीर मरीजों के इलाज के लिए त्रिवेन्द्र सरकार की ओर से निजी अस्पतालों को वेंटिलेटर दिए जाएंगे। इसके लिए निजी अस्पतालों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। लेकिन वेंटिलेटर में तकनीकी खराबी आने पर मरम्मत की जिम्मेदारी अस्पतालों की ही होगी। इस संबंध में सचिव स्वास्थ्य अमित सिंह नेगी आदेश जारी कर दिए हैं।
इससे फहले कोरोना संक्रमित मरीज बढ़ने पर सरकार ने निजी अस्पतालों को इलाज की अनुमति दी है। सरकार की अनुमति मिलने के बाद कई अस्पताल कोरोना संक्रमितों का इलाज कर रहे हैं। लेकिन उनके पास पर्याप्त मात्रा में वेंटिलेटर उपलब्ध नहीं हैं।
लेकिन डबल इंजन की सरकार को केंद्र से पर्याप्त वेंटिलेटर उपलब्ध कराए गए हैं।
ओर सरकारी अस्पतालों की आवश्यकता के बाद विभाग के पास अतिरिक्त वेंटिलेटर हैं। 
अब इस फैसले से निजी अस्पतालों की समस्या दूर होगी। ओर गंभीर मरीजों को समय पर वेंटिलेटर की सुविधा मिल सकेगी।
इसके साथ ही दून और श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में रोज होगी दो हजार सैंपलों की जांच
बता दे कि
कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए त्रिवेंद्र सरकार का सैंपल जांच बढ़ाने पर जोर है। दून और श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में स्थापित लैब में अब प्रतिदिन दो हजार सैंपलों की जांच की जाएगी। इसके लिए मशीनें पहुंच गई हैं। वहीं, महंत इन्दिरेश हास्पिटल और रुद्रपुर में नई लैब स्थापित करने को आईसीएमआर की अनुमति हाल ही मे मिल गई है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here