पिथौरागढ़।

सीमांत जनपद पिथौरागढ़ अंतर्गत जाख पुरान गांव में दुल्हन के साथ सात फेरे निपटाने के बाद वैवाहिक जीवन में कदम रखने की तैयारी कर रहा दूल्हा एन वक्त पर कोरोना संक्रमित होने के कारण आईसोलेशन में कदम रखने को मजबूर हो गया ।

दुल्हन सहित लगभग
100 लोगों को होम क्वॉरेंटाइन किया गया है । आज सबकी सेंपलिंग की जाएगी।

मिल रही जानकारी के अनुसार जाखपुरान गांव में युवक का विवाह था। विवाह के लिए दूल्हा दिल्ली से 4 दिन पहले चंपावत होते हुए पिथौरागढ़ पहुंचा था।
चंपावत में उसका कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल लिया गया था।
इसके बाद युवक घर पहुंचा और विवाह की तैयारियों में व्यस्त हो गया। बुधवार को उसकी बारात धूमधाम के साथ से दुल्हन के घर में पहुंची।

जहां शादी की रस्में पूरी की गई ,इस बीच चंपावत प्रशासन ने पिथौरागढ़ प्रशासन को सूचना दी कि युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। 
तहसीलदार पंकज चंदोला ने तुरंत स्वास्थ्य विभाग को कोरोना पॉजिटिव युवक की तलाश करने की जिम्मेदारी सौंपी और स्वास्थ्य विभाग ने युवक के घर दस्तक दी तो पता चला के युवक की बारात चली गई है।
जब तक स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में पहुंचती। तब तक विवाह की अधिकांश रस्में निपट चुकी थी और सात फेरों के बंधन में बंध रहे थे
स्वास्थ्य विभाग की टीम के सामने धर्म संकट खड़ा हो गया कि चलते फेरों से दूल्हा दुल्हन को कैसे अलग किया जाए।
निर्णय लिया गया कि फेरे निपटते ही दूल्हे को आइसोलेशन के लिए ले जाया जाएगा और जैसे ही सात फेरे पूरे हुए
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने दूल्हे को उसके कोराना संक्रमित होने की जानकारी दी।
इससे विवाह की खुशियां मना रहे दोनों पक्षों में हड़कंप मच गया
लेकिन दोनों ही पक्षों ने स्वास्थ विभाग का सहयोग करते हुए दूल्हे को आइसोलेशन में ले जाने के लिए सौंप दिया।
इसके बाद दूल्हे को आइसोलेशन में ले जाया गया है और दुल्हन समेत तकरीबन 100 लोगों को होम क्वॉरेंटाइन करने की सलाह दी गई है
।  बारात मे शामिल सभी लोगों की आज सैंपललिंग होगी।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here