नमस्कार दगड़ियो कुछ लोगो ने Facebook मे नक़ली id हमारे नाम से ही बना कर या फिर ग्रुप बनाकर
हम पहाड़ियों को लुटने का काम आरम्भ कर दिया है
हम ओर भाई संजय बिष्ट जी की आप सब से अपील है , आप सब लोगों से निवेदन करते है कि
आप लोग बिना सोचे समझे किसी के भी account मे पेसे नहीं डाले ।
किसी भी मित्र को कोई भी जरुरत होगी वह आप को call कर सकता है
कुछ घटीया लोगों ने दुसरो के नाम से Facebook mai नक़ली id बना के पेसे माँगने का काम आरम्भ कर रखा है ।
आप लोगों से निवेदन है आप लोग बिना call kare fake id वाले के झाँसे मे नहीं आये वह कोई भी हो सकता है । सतर्क रहै सावधान रहै । जय देवभूमि उत्तराखंड । 🙏
इसके साथ ही
आपके मोबाइल पर कोई भी कुछ भी बनकर आपको फोन करके वेरिफाई के नाम से आपको बेवकूफ बना सकता है , तो बहुत से लोगो को
बना दिया गया है
आप भूल कर भी उन्हें अपने मोबाइल नम्बर पर आने वाला 0tp ना बताये
याद रखे यदि आपने ये किया तो आपका पूरा अकॉउंट मैं रखा पैसा साफ हो जाएगा मतलब
चोरी हो जाएगा
इसलिए आप सब से निवेदन है कि आप कोई भी गलती ना करे
कोई भी आपकी फेसबुक।आईडी नकली बनाकर आपके परिचितों से मदद के नाम पर पेसो की गुहार लगा सकता है
ओर कोई भी आपको कुछ भी बनकर आपसे वेरीफाई के नाम पर आपके मोबाइल पर आने वाला otp. नम्बर माग सकता है
ध्यान रखे , सतर्क रहें


ये भी नकली फेसबुक आई डी  है इसे बनाकर  ठगी की गईं है 

 

जालसाज़ों ने सोशल मीडिया को अपने लूट का जरिया बना लिया है. आपको बता दें कि अब फेसबुक से मैसेज भेजकर जालसाज़ चुना लगाने लगे है. वैसे तो फेसबुक एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां आप एक-दूसरे से ऑनलाइन जुड़े रहते हैं। फेसबुक पर देश-दुनिया की खबरें भी मिल जाती है
पर आजकल फेसबुक भी ठगी का अड्डा बन रहा है क्योंकि किसी दिन लाखों रुपये का चूना लग सकता है। आइए जानते हैं कैसे?

आपको बता दें कि दिल्ली के रहने वाले हमारे एक पाठक रवि (बदला हुआ नाम) के पास रविवार की शाम को मैसेंजर में दिव्या के अकाउंट से मैसेज आता है कि, बेटा एक लड़के का एक्सिडेंट हो गया है जल्दी से 10 हजार रुपये भेज दो।
बता दें कि दिव्या, रवि की मौसी है। रवि ने जब अकाउंट नंबर मांगा तो दिव्या ने कहा कि गूगल पे या फोनपे पर पैसे भेज दो। उसके बाद रवि ने गूगल पे का नंबर मांगा।

दिव्या ने रवि को यह 85699……नंबर देते हुए कहा कि यह डॉक्टर का नंबर है, इसी नंबर पर गूगल पे करना है। रवि को अपनी मौसी पर बातों पर संदेह हुआ तो उसने मौसी को कॉल किया। कॉल करने पर पता चला कि मौसी ने रवि को कोई मैसेज ही नहीं किया है, बल्कि उनकी फेसबुक आईडी हैक करके किसी ने पैसे मांगे हैं। घटना के बाद इस नंबर पर ट्रूकॉलर पर चेक किया गया तो ट्रूकॉलर पर दी गई जानकारी के मुताबिक यह नंबर बिहार का है और नाम की जगह ‘फ्रॉड नंबर- पैसे मत भेजना” लिखा है।

हालांकि यह इस तरह की पहली घटना नहीं है। आए दिन ऐसी घटनाएं हो रही हैं और लोगों से पैसे ठगे जा रहे हैं। ये ठग बड़े शातिर होते हैं। कई बार ये आपके किसी दोस्त या परिवार के सदस्य के नाम से नकली फेसबुक आईडी बनाते हैं और फिर मैसेज करके पैसे मांगते हैं। तो आपके लिए यही सुझाव है कि सोशल मीडिया इस्तेमाल करें लेकिन जरा संभलकर।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here