उत्तराखंड के लाल नेगी भाई ने दुनिया को कहा अलविदा   अब वतन तुम्हारे हवाले साथियों , पिछले 2 सालो से भारत-पाक सीमा पर थे तैनात ,घर पर कोहराम पहाड़ में शोक की लहर।

उत्तराखंड के लाल नेगी भाई ने दुनिया को कहा अलविदा   अब वतन तुम्हारे हवाले साथियों ,
पिछले 2 सालो से जम्मू कश्मीर में भारत-पाक सीमा पर थे तैनात घर पर कोहराम पहाड़ में शोक की लहर।

पौड़ी गढ़वाल :
जी हां  उत्तराखंड के साथ-साथ पूरे देश के लिए एक दुःखद खबर है।
हमारे उत्तराखण्ड
पौड़ी गढ़वाल के थलीसैण ब्लॉक निवासी, 19th गढ़वाल राइफल के जवान जयवीर सिंह नेगी के शहीद होने की खबर से पूरे क्षेत्र में शोक की लहर फ़ैल गई है।

बता दे कि पौड़ी गढ़वाल के थलीसैण ब्लॉक के रणगांव में जन्मे जयवीर सिंह नेगी पिछले 2 वर्षों से जम्मू कश्मीर में भारत-पाक सीमा पर तैनात थे। 2006 में 19th गढ़वाल राइफल में भर्ती हुए जयवीर 4 भाइयों में सबसे छोटा था। उनकी पत्नी तथा 2 छोटे बच्चे काशीपुर में रहते हैं
, जबकि उनका बाकी परिवार रणगांव में रहता है।
जयवीर पिछले दो साल से जम्मू-कश्मीर में भारत-पाक सीमा पर अपनी सेवायें दे रहे थे। आज सुबह उनके आकस्मिक निधन की खबर मिली। उनका निधन कैसे हुआ इसके बारे में अभी ठीक-ठीक जानकारी नहीं मिल पाई है।


उनके आकस्मिक निधन की खबर से पूरे परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। जयवीर अपने पीछे पत्नी व 2 छोटे बच्चे छोड़ कर गए हैं। जयवीर के गाँव के समाजसेवी उदय मंगाई राठी ने बताया कि जयवीर के निधन की खबर से पूरा गांव अभी सदमे में है, उन्होंने बताया कि जयवीर गाँव के रिश्ते में उनका भतीजा था, उनका जयवीर से घहरा लगाव था। वह हमेशा मेरे लिए यादों में रहेगा। जयवीर पूरे गांव के लिए ही नही बल्कि पूरे क्षेत्र के लिए एक मिशाल था, अपने कुशल व्यवहार और शालीनता के लिए जाने जाना वाला यह वीर सबकी आंखों का तारा था, गांव में अनेकों सैनिक हैं मगर जयवीर एक ऐसा वीर सिपाही था जो व्यसन मुक्त था और यही बात गांव के हर युवा को प्रेरणा उनसे मिलती थी।
जयवीर के बड़े भाई श्याम सिंह ने बताया कि उन्हें आज सुबह ही जयवीर के निधन की खबर मिली है। भारत माँ के इस वीर सपूत को कोटि कोटि नमन, भगवान उनको अपने श्रीचरणों में स्थान दे तथा परिवार को इस असहनीय दुःख को सहन करने की शक्ति दे।

Leave a Reply