मुख्यमंत्री जी आप ही गाँव तक सड़क पहुँचा दो हालात बहुत खराब है

No Connecting Road to my *Village_Bangarh,* *Rikhnikhal Block,* Lansdowne-Tahsil, Pauri Garhwal, Uttarakhand, India.

क्या मिलेगा दोस्त खुली आँखों से देखे सपने सजाने मे!
गाँव अपना भी आज शहर ही चला गया एक सड़क बनाने मे!
पहले भी कई निकल गए ‘सड़क की उम्मीद’ लिये “जनाजे” मे!
अब तो बाल अपने भी सफ़ेद हो लिए दोस्त एक सड़क बनाने मे!
झमेले ही झमेले है ये दोस्त छोटी सी एक सड़क बनाने मे!
बहुत माथा-पैची कर ली दोस्त एक सड़क बनाने मे!
समझते-समझते खुद नासमझ से हो गए ये दोस्त एक सड़क बनाने मे!
रूठा-रूठी से सर-फुड़ाई तक हो गई दोस्त एक सड़क बनाने मे!
कभी किसी अहंकार ही आड़े आ गया दोस्त एक सड़क बनाने में!
कभी किसी का खेत रोड़ा बन गया दोस्त एक सड़क बनाने मे!
कभी किसी वीरान गाँव के पानी का स्रोत रोड़ा बन गया दोस्त सड़क बनाने मे!
कभी कई पीढ़ियों का प्रवासी ही रोड़ा बन गया एक सड़क बनाने मे!
कभी सरकार ही बेकार का रोड़ा बन गई दोस्त एक सड़क बनाने मे!
कभी नेता जी तो कभी ग्राम प्रधान ही रूठ गए दोस्त एक सड़क बनाने में!
कैसे फिर ‘नोट’ मिलेंगे बार-बार दोस्त एक सड़क बनाने मे!
क्यों फिर वोट मिलेगे अगली बार दोस्त एक सड़क बनाने मे!
बार-बार *”सन्तोष”* ही मिला सर्वे की लकीरें खिंच जाने मे!
अब तो पगडण्डी भी उजड़ गई मेरे गाँव की दोस्त एक सड़क बनाने मे!!

🙏🏻
*सन्तोष ध्यानी*
9811791928

ऊपर लिखी गई कविता रूपी पंक्तियां मेरी अपनी लिखी हुई हैं और ये कविता मैंने अपने गाँव मे पिछले 10 सालों में 6 सर्वे होने के बाद भी सड़क न बन पाने की वजह से लिखी हैं!

है  प्रचंड बहुमत की सरकार अब गाँव वालों का दर्द कविता के रूप मे नज़र आने लगा है   याबी तक जो हुवा सो हुवा आप से उम्मीद करते है कि आप कम से कम इस गाँव तक के लिए सड़क  पहुँचा ही देगे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here