केंद्रीय मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने किए बदरी-केदार के दर्शन

केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक गुरुवार को केदारनाथ पहुंचे और बाबा केदार के दर्शन किए उन्होने  केदारनाथ धाम में हो रहे पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा लिया

बाबा केदार के दर्शन के बाद निशंक ने भगवान बदरीनाथ का भी आशीर्वाद लिया।

बाबा केदारनाथ के दर पर पहुचे केंद्रीय मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक
आज सुबह 9 बजे पहुचे केंद्रीय मंत्री
केदारनाथ

बाबा की पूजा अर्चना कर किये किये दर्शन, उनके साथ उनकी बेटी भी थी मौजूद

केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल ने केदारनाथ में चल रहे कार्यों की भी ली जानकारी

कहा पुनर्निर्माण कार्यों को लेकर करेंगे प्रधानमंत्री से चर्चा

सवा दस बजे केदारनाथ धाम से वापस रवाना हुए मंत्री

वही भगवान बदरी विशाल के दर्शनों को भी पहुंचे केंद्रीय मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक,
अपनी बेटी के साथ मंत्री बनने के बाद दूसरी बार उत्तराखंड के बद्रीनाथ धाम पहुंचे।
इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय मंत्री निशंक का फूल मालाओं के साथ जोरदार स्वागत किया।
डॉ निशंक नें आज धन तेरस के पर्व पर श्री बद्रीनाथ धाम के दर्शन कर भगवान बद्री विशाल से देश की खुशहाली की कामना भी की

बुधवार को केदारनाथ में 1977 श्रद्धालुओं ने बाबा केदार के दर्शन किए। बीते दो दिन से धाम में दर्शनार्थियों की संख्या कम होने लगी है। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश चंद्र गौड़ ने बताया कि कोरोना काल में 12 जून से शुरू हुई यात्रा में अभी तक 127729 यात्री केदारनाथ पहुंचकर दर्शन कर चुके हैं।  देवस्थानम बोर्ड ने 1065 ई-पास किए जारी

चारधाम की यात्रा अब कुछ दिन और चलेगी। 19 नवंबर तक चारों धामों के कपाट बंद हो जाएंगे। इसके बाद शीतकालीन गद्दी स्थलों में पूर्व परंपरा के अनुसार शीतकाल में पूजा अर्चना की जाएगी।
2.80 लाख यात्रियों ने चारों धामों में दर्शन किए
अब तक देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड की ओर से पौने तीन लाख ई-पास जारी किए गए हैं। इसमें 2.80 लाख यात्रियों ने चारों धामों में दर्शन किए हैं। 

देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने बताया कि बुधवार को 1065 तीर्थ यात्रियों को ई-पास जारी किए गए हैं। इसमें बदरीनाथ धाम के 154, केदारनाथ के 846, गंगोत्री के 36 और यमुनोत्री धाम के 29 पास शामिल हैं।

एक जुलाई से लेकर 11 नवंबर तक कुल पौने तीन लाख पास जारी किए गए हैं। 2.80 लाख यात्रियों ने चारधाम पहुंच कर दर्शन किए हैं। उन्होंने बताया कि केदारनाथ धाम के कपाट 16 नवंबर, बदरीनाथ के 19 नवंबर, गंगोत्री के 15 नवंबर और यमुनोत्री धाम के कपाट 16 नवंबर को बंद होंगे। इसके बाद गद्दी स्थलों पर पूर्व परंपरा के अनुसार शीतकालीन पूजा-अर्चना की जाएगी।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here