आपको बता दे कि पंचायतों में 30 हजार से अधिक रिक्त पदों पर निर्वाचन की अधिसूचना राज्य निर्वाचन आयोग ने जारी कर दी है। इन पंचायतों में 19 दिसंबर को मतदान होगा और 21 दिसंबर को मतगणना होगी। कुल 30 हजार 817 पदों पर चुनाव होगा।

आपको बता दे कि उत्तराखंड में ग्राम पंचायतों के पहले चरण में 22 अक्टूबर को परिणाम घोषित किया गया था।
ओर इस चुनाव में ग्राम पंचायत सदस्यों के कुल 55 हज़ार 572 पदों में से 30 हज़ार 664 पद खाली रह गए थे।
ओर इसी वजह से बड़ी संख्या में ग्राम पंचायत सदस्यों के पद खाली रहने की वजह से कई ग्राम पंचायतों का गठन भी अभी तज नहीं हो पाया है।
ओर इसी को देखते हुए रिक्त पदों पर जल्द चुनाव कराने के लिए भी शासन पर दबाव भी बनाया जा रहा था।
जानकारी अनुसार
मंगलवार को राज्य निर्वाचन आयोग ने शासन से सहमति मिलने पर रिक्त पदों पर चुनाव कार्यक्रम की तारीख घोषित कर दी है ।
इसके साथ ही आयोग ने इस बार हरिद्वार में 15 ग्राम पंचायत सदस्यों, एक ग्राम प्रधान, एक क्षेत्र पंचायत और एक जिला पंचायत सदस्य के रिक्त पद पर भी चुनाव कराने की भी अधिसूचना जारी की है।
अब इस तरह से देखा जाए तो इस बार प्रदेश के सभी 13 जिलों में अलग-अलग क्षेत्रों में पंचायत चुनाव होंगे
आपको ये भी बता दे कि
पहले चरण में हुए चुनाव में परिणाम घोषित होने के बाद शासन ने ग्राम पंचायतों की पहली बैठक 28 नवंबर को आयोजित करने का आदेश दिया था।
लेकिन ग्राम पंचायत सदस्यों का कोरम पूरा न होने के कारण आधे से अधिक ग्राम पंचायतों का गठन नहीं हो पाया।
अब इन सभी रिक्त पदों के भरे जाने के बाद इन पंचायतों का गठन होगा।
जिसका अनुमान जनवरी 2020 लगाया जा रहा है
सदस्य ग्राम पंचायत  30679 चुनाव होने है

ग्राम प्रधान  125 पद पर चुनाव होने है
सदस्य क्षेत्र पंचायत  12 पद पर चुनाव होने है
सदस्य जिला पंचा 1 पद पर चुनाव होने है

चुनाव कार्यक्रम जो आया है उसके अनुसार

नामांकन                                         9 और 10 दिसंबर को होगा

नाम पत्रों की जांच                            11 दिसंबर को होगी।

नाम वापसी और प्रतीक आबंटन          12 दिसंबर को होगा
मतदान                                             19 दिसंबर को होगा
मतगणना                                             21 दिसंबर को होगी
ग्राम पंचायत सदस्यों के सबसे अधिक पद अल्मोड़ा में रिक्त हैं। इस जिले में 8 हज़ार 242 पदों में से 5 हज़ार 998 पद खाली रह गए हैं।
जबकि ग्राम प्रधानों के भी यहां 34 पद खाली हैं
और यह भी अन्य जिलोें की तुलना में सबसे अधिक हैं।

वही रिक्त पदों के मामले में पौड़ी जिला दूसरे नंबर पर है। पौड़ी में 8 हज़ार 855 पद ग्राम पंचायत सदस्यों के खाली हैं।

अब इस उप चुनाव कार्यक्रम होने के साथ ही अब उत्तराखंड मैं निर्वाचन वाली पंचायतों में आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गई है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here