अगर छुट्टी मनाने आ रहे हैं यहां तो देख लें पहले इस हिल स्टेशन के हाल

187

अगर छुट्टी मनाने आ रहे हैं यहां तो देख लें पहले इस हिल स्टेशन के हाल

बर्फबारी से देख उत्साहित सैलानियों को आखिर क्यों कहना पड़ा हाय राम

मसूरी। मसूरी धनोल्टी में 5 सालों के बाद भारी बर्फबारी से सैलानियों के चेहरे खिल उठे हैं। लेकिन यही बर्फबारी कुछ पर्यटकों के लिए बड़ी मुसीबत लेकर आई है। मसूरी, बुराँसखंडा, धनोल्टी, कानाताल की पहाड़ियां बर्फ से ढक चुकी है। भारी बर्फबारी के बाद हरी पहाड़ियाँ सफेद हो चुकी है। धनोल्टी और आस पास की पहाड़ियों पर बर्फबारी के बाद सैकड़ों गाड़ियों फंस गई है। शनिवार को छुट्टी के दिन मसूरी घूमने पहुंचने वाले पर्यटकों का तांता लगा रहा। दरअसल बर्फबारी का मजा लेने के लिए यहां दिनभर पर्यटक पहुंचते रहे, लेकिन मसूरी बर्फबारी देखने के लिए पहुंचने वाले पर्यटकों का बड़े लंबे जाम का सामना करना पड़ा। कैम्पटी रोड, कंपनी गार्डन, हरनाम सिंह रोड, नेहरू रोड आदि सड़कों पर पाला पड़ा होने से पर्यटकों को करना पड़ा है जाम का सामना। पार्किंग की कमी और मसूरी पहुंचने के लिए एक ही रास्ता होने की वजह से शनिवार को पहाड़ों की रानी घूमने आए लोगों की जमकर फजीहत हुई। मसूरी में पर्याप्त पार्किंग नहीं होने के कारण जहां लोगों ने वाहन सड़क पर खड़ा कर दिया और जाम लग गया, वहीं एक ही रास्ता होने के कारण बसें मसूरी से नीचे नहीं उतर पाईं और दून में यात्री परेशान होते रहे।
मसूरी चम्बा मार्ग पर बड़ी संख्या में दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, यूपी और देहारादून से बड़ी संख्या में पर्यटक बर्फबारी का लुफ्त उठाने के लिए धनोल्टी पहुंचे, लेकिन बुरांसखंडा से पहले ही गाड़ियां फंस गई और उसके बाद भारी बर्फबारी के बाद सड़कों पर गाड़ियां स्लिप हो गई, जिससे कई सड़कों पर फिसलने से दुर्घटनाग्रस्त हो गई. कई सैलानी अपने परिवार के साथ पहुंचे हुए हैै।
पर्यटकों को कई गुना दाम वसूल रहे दुकानदार
भारी बर्फबारी के बाद सुवाखोली,बटाघाट, बुरांसखंडा, कई स्थानों पर स्थानीय दुकानदार पर्यटकों से कई गुना दाम वसूल रहे है। रहने के लिए कमरे 3 से 4 हजार में दिए जा रहे है और खाने पीने की वस्तुते भी महंगी हो गई है। बर्फबारी में फंसे पर्यटकों की का फायदा स्थानीय व्यापारी उठा रहे है।
मसूरी धनोल्टी मार्ग पर कई किलोमीटर का लगा लंबा जाम
मसूरी धनोल्टी मार्ग पर जगह जगह गाड़ियों फंस गई है। हरियाणा से आये विनोद ने कहा कि पहले तो उन्होंने बर्फबारी के जमकर एन्जॉय किया लेकिन अब छोटे बच्चों की चिंता सता रही है। देहरादून से बच्चों के साथ धनोल्टी घूमने पहुँचे गोविंद रावत ने कहा कि पिवहले 4 घंटे से वे जाम में फंसे है, लेकिन जाम को खुलवाने के लिए कोई भी प्रशासन की टीम नही पहुँची है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here