सुनो सरकार आपके के लिए भी जरूरी है पहाड़ पुत्र भोले महाराज ओर पहाड़ पुत्री  माता मंगला  जी ! पढ़े पूरी ख़बर।

299

सुनो सरकार आपके के लिए भी जरूरी है पहाड़ पुत्र भोले महाराज ओर पहाड़ पुत्री  माता मंगला  जी ! पढ़े पूरी ख़बर।

 

बोलता उत्तराखंड़ पहाड़ पुत्र भोले जी महाराज जी , पहाड़ पुत्री मंगला माता जी और हंस फाउंडेसन की c.e.o मेडम स्वेता रावत जो को प्रणाम करते हुए बहुत बहुत धन्यवाद कहता है।  


क्योकि पहाड़ के दुःख दर्द को कम करने के लिए माता मंगला, जी भोले महाराज जो ओर स्वेता मेडम जी के उचित दिशा निर्देश पर राज्य मे हंस फाउंडेशन की पूरी टीम जी जान लगा कर काम कर रही जो आम से आम जनता और राज्य की उस पहाड़ की मात्रशक्ति ओर छात्र – छात्राओ से निर्धन व जरुतमद लोगो की सहायता के लिए हर समय तैयार रहते है ,और राज्य के लाखों जरूरतमंद लोगों को किसी ना किसी रुप मे मदद मिली है , मिल रही है और आगे भी मिलती रहेगी । हंस फाउंडेशन की पूरी टीम भारत के 28 राज्यो मे समाज सेवा के कार्यो मे व्यस्त है और शिक्षा ,स्वास्थ के क्षेत्र मे लगातार काम कर रही है । पर उत्तराखंड़ माता मंगला जी और भोले महाराज जी की जन्म भूमि है इसलिए देवभूमि उत्तराखंड़ को उन्होंने अपनी कर्म भूमि भी बनाया है समाज सेवा के लिहाज से तभी तो पूरे राज्य की पहाड़ की जनता माता मंगला जी और भोले महाराज जी के जयकारे ओर ज़िंदाबाद के नारे लगती है और उनकी बडी उम्र की कामना। भी करती है और करे भी क्यो ना आखिर जरूरत मंद लोगो को उनसे मदद ओर सहयोग जो मिलता है । तभी तो आम से लेकर खास इंतज़ार मे रहते है माता मंगला जी और भोले महाराज की एक झलख पाने को।   

                                
वे लगातार जरूरतमंदों के लिए एम्बुलेंसए ,ई रिक्शे , वाटर आरओ,स्पोर्ट्स किट, व्हील चेयर आदि सामान भी विभिन्न संस्थाओ को वितरित करती रहती है।                     
खुद मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत कहते रहते है कि हंस फाउंडेशन ने आज देश के सबसे बड़े ट्रस्ट व दाता के रूप में अपनी पहचान बनाई है। स्वास्थ , शिक्षा, संस्कृति सहित सभी क्षेत्रों में हंस फाउंडेशन का महत्वपूर्ण योगदान है। फाउंडेशन के प्रयास प्रत्येक रूप में सराहनीय है। उनके द्वारा असीम सेवाएं राज्य व राज्य से बाहर दी जा रही है। फाउंडेशन 27 प्रकार से अधिक की सेवाएं दे रहा है। माता मंगला देवी जी द्वारा गरीब व वंचित वर्ग की सहायता हेतु विभिन्न सेवा कार्य किए जा रहे है। इन प्रयासों को निश्चित रूप से सराहा जाना चाहिए।

.तो राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी हर प्रोग्राम में कहते रहते है कि जब मेरी सरकार थी तो भोले  महाराज जी ने ओर ओर माता मंगला जी ने राज्य सरकार के साथ खड़ा होकर हर प्रकार से सहयोग उचित सहयोग किया फिर बात भगवान केदारनाथ के पुननिर्माण के कार्यो की हो या राज्य की जरूरत मंद जनता को उचित सहयोग देने की जिसके लिये मे उन्हें आज भी बहुत बहुत बधाई देता हूँ और मुझे उम्मीद है कि राज्य की गरीब पिछड़ी जनता और विशेष रूप से पहाड़ की जनता का दर्द दूर करने में माता मंगला जी और भोले महाराज जी का ये योगदान एक दिन इतिहास के पन्नो मे दर्ज होगा ।


स्वेता रावत (c.eo हंसफाउंडेशन)                                                              बोलता उत्तराखंड़ से बात करते हुए ओर हमारे सभी सवालों का जवाब देते श्री माता मंगला जी ने कहा की उनका सबसे पहले फोकस राज्य मे पहाड़ की स्वास्थ सेवाओ को दुरुस्त करने पर है ।आपको मालूम ही है कि हमने सतपुली मे एक 250 बेड का बड़ा अस्पताल खोल कर इसकी नींव रखी है ।और हमारा पूरा प्रयास है रहता कि अस्पताल मे उचित स्टाफ से लेकर अच्छे डॉक्टर रहे । पहाड़ की महिलाओं के दर्द को मै समझती हूँ इसलिये हमारा पूरा प्रयास रहता है कि पहाड़ की महिलाओं को उचित स्वास्थ्य सेवाएं मिले, उनकी आर्थिकी मजबूत हो, ओर जरुत मंद बेटियों की पढ़ाई लिखाई से लेकर शादी तक हम लोग करवाते है। तो जिनका कोई सहारा नही जो बुजुर्ग है उनको भी हम पेंशन देते है। शिक्षा के क्षेत्र मे भी हम लगातार आगे बढ़ रहे है। आज पहाड़ मे जिस तरह से पलायन हो रहा है उसके पीछे की वजह है मूलभूत सुविधाओं का टोटा होना और विशेष रुप से स्वास्थ्य , शिक्षा,बेरोजगरी,इसमें प्रमुख है जिन पर लगातार हंस फाउंडेशन की पूरी टीम लगातार काम कर रही है और आने वाले कुछ सालों मे आपको बहुत कुछ परिवर्तन देखने को मिलेगा ।
बहराल बोलता उत्तराखंड़ के सम्पादक ओर उनकी पूरी टीम की तरफ से भोले जी महाराज ओर मातामंगला माता जी को बहुत बहुत धन्यवाद ओर सुभकामनाये इस उम्मीद से की राज्य की जरूरतमंद लोगों पर आपका आशीष सदैव बना रहेगा ओर बोलता उत्तराखंड हंस फाउंडेशन के सभी पदाधिकारी चंदन भंडारी नीरज शर्मा पदमेंद्र बिष्ट, सत्यपाल नेगी ,ओर प्रदीप राणा जी , देबू भाई , दिनेश कंडारी आदि सभी लोगो को भी धन्यवाद कहता है क्योकि आपकी पूरी टीम माता मंगला जी और भोले महाराज जी के सपने को साकार करने के लिए दिन रात मेहनत करती है । ओर अब एक ओर महत्वपूर्ण बात बोलता है उत्तराखंड़ की राज्य की सरकारों के लिए फिर वो सरकार किसी भी राजनीतिक पार्टी की क्यो ना हो चाहे कभी बीजेपी हो या कांग्रेस या फिर बीजेपी सबकी जरूरत है माता मंगला जी और भोले महाराज जी । कारण साफ है कि जिस तरह राज्य की माली हालत ठीक नही रहती ,कर्ज़ मे ये राज्य डूबा रहता है,ओर बिना केंद्र की मदद से ये राज्य 4 कदम भी आगे नही बढ़ सकता है।उस लिहाज से पहाड़ पुत्री माता मंगला जी ओर पहाड़ पुत्र भोले महाराज जी की संस्था हंस फाउंडेशन की जरूरत , सहयोग जहा राज्य के हर जरूरमंद को है ठीक उसी प्रकार राज्य की सरकार को भी। ओर समय समय पर आपने देखा भी है कि सरकार के साथ सहयोग करते हुए हर विकास के काम मे माता मंगला जी सदैव आगे रहती है। तभी तो राज्य की राजनीति का हर राजनेता उनके दरबार मे हाज़री लगाने जरूर पहुँचता है ।

आज के समय में बच्चों में आत्मविश्वास जगाना बहुत आवश्यक है – माताश्री मंगला जी
________________________
महापौर सुनील उनियाल गामा, माता मंगला जी एवं श्रीभोलेजी महाराज ने किया
श्रद्धानंद बाल वनिता आश्रम
के नवनिर्मित छात्रावास का उद्घाटन
____________________________
आज के समय में बच्चों में आत्मविश्वास जगाना बहुत आवश्यक है। क्योंकि जिस आधुनिक परिवेश में आज हमारे बच्चे पल बढ़ रहे हैं। उस परिवेश में हमारे बच्चों को नयी विचारधारा और उस विचाराधारा से रूबरू करना बहुत आवश्यक है।
उक्त विचार हंस फाउंडेशन की प्रेरणास्रोत माताश्री मंगला जी ने देहरादून स्थित श्रद्धानंद बाल वनिता आश्रम बालिकाओं के नवनिर्मित छात्रावास का उद्घाटन करते हुए व्यक्त किए।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए माताश्री मंगला जी ने कहा कि समर्पण, सेवा और त्याग का भाव मानव समाज के लिए बहुत आवश्यक है।बाल वनिता आश्रम की स्थापना के पीछे स्वामी दयानंद सरस्वती और स्वामी श्रद्धानंद जैसे महापुरुषों का योगदान है।
बाल वनिता आश्रम में पहुंचे माताश्री मंगला जी एवं श्रीभोलेजी महाराज ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य होते हैं और बच्चों के पालन-पोषण में उनके नैसर्गिक गुणों को प्रोत्साहित करने वाला वातावरण बहुत आवश्यक है। बच्चों की शिक्षा-दीक्षा, पालन-पोषण में बुद्धि, बल और विवेक तीनों गुणों का समावेश होना चाहिए। ऐसा ही काम श्री श्रद्धानंद बालवनिता आश्रम द्वारा किया जा रहा है।
इस मौके पर हंस फाउंडेशन के तत्वावधान में माताश्री मंगला जी एवं श्रीभोलेजी महाराज जी ने दिव्यांग जनों को बैट्री रिक्शा भी प्रदान किए। ताकि यह लोग अपने भविष्य निर्माण की दिशा में आगे बढ़ सके।
इस मौके पर कार्यक्रम में पहुंचे देहरादून के महापौर सुनील उनियाल गामा ने कहा कि श्रद्धानंद बाल वनिता आश्रम से जुड़े लोग जिस निष्ठा से काम कर रहे हैं वह सराहनीय है। बिन मांगे संस्था को जिस तरह से लोगों द्वारा सहायता दी जाती है, उससे स्पष्ट है कि संस्था के लोगों ने विश्वसनीयता बनाई है। समाज के सक्षम लोगों को इससे प्ररेणा लेकर अपने सामाजिक दायित्वों के निर्वहन के लिए आगे आना चाहिए। समाज आगे आता है तो देश आगे बढ़ता है। लोग यदि संवेदशील व चिंतनशील हैं तो राष्ट्र तरक्की करता है।
इस सोच के साथ श्रद्धानंद बाल वनिता आश्रम जिस तरह से काम कर रहा है। यह यकीनन सम्मान की बात है। श्री गामा ने इस मौके पर कहा कि माताश्री मंगला जी एवं श्रीभोलेजी महाराज जी भी सेवा के पथ पर इसी तरह के कार्य कर रहे हैं। जो हम सब के लिए गर्व की बात है।
इस मौके पर स्थानीय विधायक खजान दास ने श्रद्धानंद बाल वनिता आश्रम
के कार्यों की सराहना की।
श्रद्धानंद बाल वनिता आश्रम के अधिष्ठता ओमप्रकाश नांगिया ने इस मौके पर बताया कि श्रद्धानंद बालवनिता आश्रम का शिलान्यास सन 1929 में महात्मा गांधी जी के कर कमलों द्वारा किया गया। इसमें 10 वर्ष तक के बच्चें लिए जाते हैं। बच्चों की पढ़ाई व अन्य जरूरतों का पूरा ध्यान रखा जाता है। इसके लिए आवश्यक धनराशि दानदाताओं द्वारा उपलब्ध करवा दी जाती है।
इस मौके पर आश्रम के प्रधान डाक्टर महेश कुमार शर्मा एवं कोषाध्यक्ष नारायण दत्त पंचाल आदि उपस्थित थे।
जगमोहन आज़ाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here