माँ गंगा की गोद मे समा गए अटल राजनेताओ को जाते जाते दे गए संदेश

भारत के पूर्व प्रधान मंत्री भारत रत्न अटल जी की अस्थि विसर्जन यात्रा मे  लोगो का सैलाब उमड़ा हर तरफ हरि के द्वार से सिर्फ अटल जी अमर रहे के ही नारे गूज रहे थे देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थि विसर्जन यात्रा हरिद्वार के भल्ला कॉलेज ग्राउंड से शुरू हुई यह यात्रा हर की पैड़ी पर जाकर खत्म हुई  यहां अपने दिवंगत नेता की अस्थियां गंगा में प्रवाहित करने के लिए बीजेपी के नेता और कार्यकर्ता के साथ साथ आम जनता भी मौजूद रही इस दौरान बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत समेत कई वरिष्ठ नेता भी मौजूद रहे

इस कलश यात्रा में बीजेपी के लगभग 5 हजार कार्यकर्ता भी शामिल बताये जा रहे है 
हर की पैड़ी पर मंच भी तैयार किया गया था जिसमे तमाम बड़े बीजेपी के नेता मौजूद रहे देवभूमि से देवलोक की तरफ अटल चले गए और ठीक एक बजे अटल जी के परिवार ने अटल जी की अस्थि माँ गंगा मे विसर्जन से पहले पूजा शुरू हुई और उसके बाद अटल जी की अस्थि को माँ गंगा मे विसर्जीत किया गया

इस समय हर कोई भावुक नज़र आ रहा था पूरे हरिद्वार मे अटल जी के नाम के नारे लग रहे थे।उनकी कविताएं को सुना जा रहा था देश भक्ति की धुन सुनाई दे रही थी । ठीक 1 बजकर 15 मिनट पर अटल जी के बेटी। नमिता ने अटल जी की अस्थि को माँ गंगा मे विसर्जन किया और इसी के साथ हरि के द्वार से देवलोक चले गए अटल जी माँ गंगा की गोंद मे समा गए अटल जी

और जाते जाते संदेश भी दे गए ओर जनता ने भी दिखा दिया कि कि देखो हम भारत की जनता वही है जो आज से 50 साल पहले थी बस हमहे उस राजनेता की दरकार रहती है जो सच्चे मन से भारत माता की सेवा करे और ये सब अटल जी मे कूट कूट कर भरी थी तभी तो उनकी अंतिम यात्रा से लेकर अस्थि विसर्जन यात्रा तक लाखो लाख लोग शामिल रहे।तो टीवी मीडिया मे उनके अंतिम सफर को लाइव जो लोग देख रहे थे उनकी तादात भी लगभग 30 लांख से अधिक थी ये अटल ही थे जो अटल ही रहे और एक संदेश दे गए कि आज के राजनेताओ को की तुम करना सच्चे मन से भारत माता की सेवा फिर ये जनता तुम्हारे पीछे पीछे सदेव रहेगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here