लो सुनो जी ख़बर आई हैं कि साहब संस्पेंड हो गए !!

हरिद्वार के एडीजे फर्स्ट कुंवर अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट ने सस्पेंड कर दिया है। उन पर धारा 377 आईपीसी के तहत अप्राकृतिक यौन शोषण का मामला जानकारी में आया है।

उन पर आरोप है कि उपनल कर्मी का लंबे समय से अप्राकृतिक यौन शोषण किया जा रहा था। ताजा जानकारी के अनुसार मुख्य प्रशासन अधिकारी जनपद न्यायालय हरिद्वार ने यह पुष्टि की है कि उन्हें सस्पेंड कर दिया है। हालांकि उन्होंने निलंबन का कारण स्पष्ट नहीं किया है। उन पर आरोपों की गंभीरता इस बात से ही छलक जाती है कि उनके न्यायालय के कक्ष से उनके नाम की तख्ती तक हटा दी गई है

उत्तराखंड में जजों के खिलाफ यह दूसरा बड़ा मामला प्रकाश में आया है। इससे पहले हरिद्वार की एक महिला जज पर घरेलू नौकर से निर्ममता से मारपीट का मामला सामने आया था। जिस पर उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था।

उत्तराखंड में जजों के खिलाफ इस तरह के उजागर हो रहे मामलों के कारण अब तक गरिमापूर्ण समझी जा रही इस व्यवस्था पर भी तमाम तरह के सवाल और चर्चाएं उठने लगी हैं।                                                              सुनील कुमार की रिपोर्ट

Leave a Reply