कुछ घण्टे बाद से खुलेंगी शराब की दुकानें, पाबंद क्षेत्रों में कोई छूट नहीं, कुछ दिनों तक चुनिंदा ब्रांड नही मिल पाएंगे।

कुछ घण्टे बाद से खुलेंगी शराब की दुकानें, पाबंद क्षेत्रों में कोई छूट नहीं, कुछ दिनों तक चुनिंदा ब्रांड नही मिल पाएंगे।

महत्वपूर्ण बात

सेल्समैन के लिए ग्लव्स व मास्क जरूरी,  खरीदारों के बीच रहेगी छह से 10 फीट की दूरी

जी हा उत्तराखंड में शराब की दुकानें खोलने के लिए आबकारी विभाग ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। आज से पाबंद क्षेत्रों को छोड़कर शराब और बीयर की दुकानें खोली जा रही है इस दौरान सेल्समैन ग्लव्स पहनेंगे। ओर दुकानों के बाहर खरीदारों के बीच छह फीट की दूरी रखनी अनिवार्य होगी।
जानकरीं अनुसार जिला आबकारी अधिकारी ने बताया कि एक दुकान पर पांच से ज्यादा लोगों के खड़े रहने पर पाबंदी होगी। इसके अलावा यदि पांच से अधिक लोग रहते हैं तो पांचवें से छठे व्यक्ति के बीच 10 फीट का अंतर रखना होगा। दुकानों पर पर्याप्त सैनिटाइजेशन की व्यवस्था होनी आवश्यक है।
दुकान के अंदर और बाहर सैनिटाइजर भी रखना होगा ताकि सफाई का ध्यान रखा जा सके और संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। इसी तरह की व्यवस्था शराब के गोदामों पर भी की जानी है। वहां भी मजदूरों और वाहन चालकों के लिए सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की जाएगी। मजदूरों के बीच दूरी का विशेष ध्यान रखा जाएगा।
महत्वपूर्ण ये हैं निर्देश जान ले
– दुकानों के अंदर विक्रेताओं के लिए और बाहर खरीददार के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था की जाए।
– दुकान परिसर के अंदर सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की जाएगी।
– सभी सेल्समैन ग्लव्स और मास्क आवश्यक रूप से पहनेंगे।
– सिर्फ अधिकृत विक्रेता ही दुकान के अंदर कार्य करेंगे इसका अनुमोदन अधिकारी द्वारा किया जाएगा।
– पांच लोगों में प्रत्येक के बीच छह फीट की दूरी और छठवां व्यक्ति 10 फीट की दूरी पर होगा।
– प्रत्येक दुकान के बाहर रेट लिस्ट व केंद्र सरकार की गाइड लाइन अवश्य लिखी जाएंगी।
वही नियम पालन न होने पर ठेका संचालक पर होगा मुकदमा
पुलिस के अधिकारियों द्वारा चेतावनी दी है कि यदि शराब के ठेकों पर सोशल डिस्टेंस की अनदेखी हुई तो ठेका संचालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। कानून व्यवस्था भंग होने का खतरा हुआ तो ठेके को बंद कराया जाएगा।
बहराल प्रदेश मे 40 दिन बाद आज से शराब के ठेके खुलने हैं। ऐसे में दुकानों पर भीड़ लग सकती है। पुलिस ठेकों पर नजर रखेगी। यदि नियमों की अनदेखी होगी तो ठेका संचालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। यदि कोई नियमों तोड़ने की कोशिश करेगा तो उस पर भी कार्रवाई होगी।
शराब की दुकानों पर फिलहाल चुनिंदा ब्रांड ही उपलब्ध रहेंगे। हालांकि, जिनके पास पुराना स्टॉक होगा वो उसे नई दरों से बेच सकेंगे, लेकिन बताया जा रहा है पुराने स्टॉक में भी कम ब्रांड ही बचे हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here