ख़बर फैला दो उत्तराखण्ड से आई आवाज़ अनिल बलूनी जिंदाबाद – जानने के लिए ख़बर पूरी पढ़े

अगर आप भी भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख एवं उत्तराखंड से राज्य सभा सांसद  अनिल बलूनी की प्रेस रिलीज को पड़ेगे, उनके बयान को सुनेंगे   तो आपको  भी लग जाएगा कि पहाड़ का दर्द इनका अपना खुद का दर्द है  ये अनिल बलूनी का बयान ध्यान से पढ़े      

उत्तराखंड के दुर्गम क्षेत्रों में गंभीर रोगियों, घायलों और प्रसूताओं के लिए उचित उपचार ना होने के कारण उन्हें हायर सेंटर तक पहुंचने में अनेक संकटों का सामना करना पड़ता है। उचित प्राथमिक उपचार न मिलने के कारण अनेक रोगी मार्ग में ही दम तोड़ देते हैं। अनेक दुर्घटनाओं और विषम परिस्थितियों में यह लाचारी दुर्गम के ग्रामीणों के जीवन पर भारी पड़ जाती है। 

कल पौड़ी में हुए दर्दनाक सड़क हादसे से अत्यंत दुखी हूँ और मन अतिशय शोक-संतप्त है। कल की दुखद घटना ने बरबस ही इस समस्या के प्रति मुझे गंभीर रूप से सोचने को विवश कर दिया है। मैंने इस संबंध में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी और स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक से वार्ता कर उत्तराखंड के दुर्गम क्षेत्रों में आईसीयू (गहन उपचार केंद्र) केंद्रों की स्थापना के संबंध में चर्चा की है।

कल की दुखद घटना के बाद मैंने यह निर्णय लिया है कि मैं पर्वतीय जिलों में अपनी सांसद निधि से प्रतिवर्ष दो से तीन आईसीयू केंद्रों के निर्माण के लिए राशि उपलब्ध कराउंगा। इस वर्ष की राशि स्वास्थ्य विभाग के साथ आकलन के बाद जारी कर दी जायेगी। दुर्गम क्षेत्रों में आईसीयू केंद्र होने से गंभीर रोगियों को हायर सेंटर जाने से पूर्व उनको तत्काल सघन चिकित्सा मिल जाने से काफी लाभ मिलेगा और दुर्गम पर्वतीय क्षेत्रों में बड़ी राहत मिल सकेगी।  

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और जन-प्रतिनिधियों से चर्चा करके उन केंद्रों का चयन किया जाएगा जहाँ इन आईसीयू केंद्रों की आवश्यकता है। मैं अपने कार्यकाल में उत्तराखंड के सभी महत्वपूर्ण नगर और कस्बों में आईसीयू केंद्र के निर्माण के लिए कटिबद्ध हूँ। इस बात की जानकारी जब पहाड़ के लोगो को मिल रही है तो उन्होंने अनिल बलूनी जिंदाबाद कहा और बोला कि काश इससे पहले के राज्य सभा सांसदो  ने कुछ किया होता  तो  आज ये दिन ना देखने पड़ते बदहाल  स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जहा समय समय की सरकारो को पहाड़ की  जनता लगातार  कोस  रही है वही पहली बार  ये  देखने  को मिला कि  पहली बार किसी राज्य सभा सांसद को जनता ने धन्यवाद बोलते हुये उनके जिंदाबाद के नारे दिल से लगाये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here