कल मंगलवार को अब तक 14 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। पौड़ी, उत्तरकाशी, अल्मोड़ा व चमोली के बाद अब बागेश्वर में कोरोना के मामले सामने आए हैं। यहां से पहली बार में ही दो मामले सामने आए हैं। उत्तराखंड में कुल मरीजों की संख्या अब 111 हो गई है। इनमें से 52 मरीज ठीक हो चुके हैं।

कल  मिले मरीजों में सात नैनीताल में

, दो पौड़ी में,

दो बागेश्वर

और तीन ऊधमसिंह नगर में सामने आए हैं।

आज सामने आए सभी संक्रमित प्रवासी हैं।

 

मंगलवार का दिन कोरोना के लिहाज से बिल्कुल भी अच्छा नहीं रहा। उत्तराखंड में कल कुल 14 मामले आए हैं।
उत्तराखंड में मंगलवार को कुल 14 नए कोरोना के मरीज नैनीताल, यूएसनगर, बागेश्वर,टिहरी और पौड़ी जिले में मिले थे। प्रदेश में 14 संक्रमितों के मिलने के बाद प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 97 से बढ़कर 111 तक पहुंच गई थी। 
अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि

 
 
प्रदेश में रिकवरी रेट घटा
मरीजों का इलाज अलग अलग अस्पतालों में चल रहा है। लगातार मरीजों के सामने आने के बाद राज्य में मरीजों का डबलिंग रेट लगातार घट रहा है। पिछले एक सप्ताह के आधार पर राज्य में कोरोना मरीजों का डबलिंग रेट 12 दिन हो गया है।

 

जबकि रिकवरी रेट भी घटकर 50 रह गया है। अपर सचिव ने बताया कि राज्य में कोरोना के कुल नो केटोनमेंट एरिया हैं। अपर सचिव ने बताया कि एम्स ऋषिकेश में इलाज के लिए भर्ती उत्तरकाशी का कोरोना पॉजीटिव युवक देहरादून जिले में जोड़ा जाएगा क्योंकि एम्स में इलाज के दौरान उसका सैंपल लिया गया था। 
 
जांच के लिए भेजे 792 सैंपल
प्रवासियों में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने के बाद सरकार ने जांच की रफ्तार और तेज कर दी है। पिछले तीन दिनों से प्रतिदिन पांच सौ के करीब सैंपल जांच के लिए भेजे जा रहे थे।
लेकिन मंगलवार को राज्य से सर्वाधिक 792 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। हालांकि हर दिन सैंकड़ों की संख्या में सैंपल जांच के लिए भेजे जाने की वजह से लैब पर दबाव बढ़ गया है और लैब में वेटिंग 1456 की हो गई है।

 

 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here