फोरेंसिक रिपोर्ट में भी रोहित तिवारी की हत्या का खुलासा, अपूर्वा पर ही घूम रही शक की सुई , किसी भी समय गिरफ्तारी तय!

कांग्रेस नेता और उत्तराखंड व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत मामले में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा को सोमवार शाम फोरेंसिक रिपोर्ट मिल गई है। इसमें भी रोहित की हत्या किए जाने का खुलासा हुआ है। इससे पहले पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला था कि रोहित की हत्या तकिए से गला व मुंह दबाकर की गई है। सूत्र बताते हैं कि अपराध शाखा इस हाईप्रोफाइल मामले को सुलझाने के बहुत करीब पहुंच गई है। जांच रोहित की पत्नी अपूर्वा पर जाकर रुक रही है। उनका दावा है कि इस मामले का जल्द खुलासा कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।


वही अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रोहित की फोरेंसिक रिपोर्ट आ गई है। इसमें खुलासा हुआ है कि रोहित के नाखून व और पैर के तलवे नीले पड़े हुए थे। ऐसा खून में ऑक्सीजन लेवल कम होने से होता है। पुलिस अब रोहित की विसरा रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। इसके आने के बाद जो कड़ियां बची हैं उन्हें जल्द ही जोड़ लिया जाएगा। अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही यह पता लगेगा कि रोहित की हत्या करने से पहले उसे नशीला पदार्थ दिया गया था या फिर जहरीला पदार्थ। हालांकि रोहित द्वारा शराब पीने की बात पहले ही सामने आ चुकी है। वही अपराध शाखा के अधिकारियों के अनुसार हत्याकांड की सभी कड़ियों को जोड़कर जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। अधिकारी ने बताया कि शक की सुई रोहित की पत्नी अपूर्वा की तरफ ही घूम रही है। फोरेंसिक रिपोर्ट भी अपूर्वा की तरफ इशारा कर रही है। अब ये देखा जा रहा है कि इस वारदात को अंजाम एक आरोपी ने दिया या फिर उसके साथ कोई और था। दिल्ली पुलिस अधिकारियों के अनुसार रोहित शेखर जब कोटद्वार, हरिद्वार से लौटा था, उस समय कार में उसके सहित पांच लोग थे। इनमें महिला रिश्तेदार, नौकर भोलू उर्फ भोगिन्दर, ड्राइवर अखिलेश व एक और शख्स था। पुलिस पांचवें शख्स तक पहुंचने की तहकीकात कर रही है।
वही दिल्ली पुलिस रोहित के डिफेंस कॉलोनी स्थित घर व साकेत स्थित मैक्स अस्पताल में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है। फुटेज में रोहित की मौत के बाद परिवार के सदस्यों के हाव-भाव देखे जा रहे हैं। हालांकि पुलिस को पता लगा है कि अपूर्वा की अस्पताल में सिद्घार्थ और राजीव (पप्पू) से कोई बातचीत नहीं हो रही थी। सीसीटीवी फुटेज में सिद्घार्थ कई बार अकेले ही खड़ा दिखाई दे रहा था।
वही दिल्ली पुलिस रोहित शेखर के परिवार के सभी सदस्यों से घर में ही पूछताछ कर रही है। सोमवार को इन्हें अपूर्वा के सामने बैठाकर पूछताछ की गई। अक्सर पुलिस अपने कार्यालय में बुलाकर पूछताछ करती है। घर में किसी बाहरी व्यक्ति व रिश्तेदार को प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। अपूर्वा की बहन को भी घर के अंदर नहीं घुसने दिया गया। वह दिनभर लॉन में और सीढ़ियों पर बैठी रही। नौकर, नौकरानी व ड्राइवरों को भी आपस में मिलने नहीं दिया जा रहा है। बहराल जल्द ही रोहित के कातिल को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

क्राइम  ब्रांच के एडिशनल पुलिस कमिश्नर राजीव रंजन ने सोमवार को मीडिया को दिए बयान में संकेत दिया कि हत्याकांड की तफ्तीश पूरी होने वाली है। जल्द ही घटना का पर्दाफाश किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड से वोट डालने के बाद 15 अप्रैल की रात 10 बजे रोहित शेखर तिवारी डिफेंस कॉलोनी स्थित अपने घर सी-329 लौटे थे। कार में उनके साथ रोहित की मां उज्ज्वला शर्मा, सौतेले भाई सिद्धार्थ के ममेरे भाई राजीव और राजीव की पत्नी भी थीं। खाना खाने के बाद रात 11 बजे उज्ज्वला, राजीव पत्नी संग तिलक लेन स्थित घर चले गए थे।
इसके बाद रोहित पहली मंजिल पर स्थित अपने कमरे में जाकर सो गए। बराबर वाले कमरे में उनकी पत्नी अपूर्वा भी सो गई थीं। इसके बाद रात 1:30 बजे अपूर्वा भूतल से पहली मंजिल पर स्थित रोहित के कमरे में जाते हुए सीसीटीवी कैमरे में दिखाई दी हैं।

ठीक एक घंटे बाद रात 2.30 बजे वह पहली मंजिल से भूतल पर आते दिख रही हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रोहित की मौत का समय भी सोमवार की रात 1.30 से 2 बजे के बीच बताया गया है। ऐसे में क्राइम ब्रांच के शक की सुई अपूर्वा पर आकर ठहर गई है और उन्हें मुख्य संदिग्ध माना जा रहा है।

क्राइम ब्रांच अब यह भी जानने की कोशिश कर रही है कि वारदात को अंजाम एक व्यक्ति ने दिया या और लोग भी शामिल हैं। इसके लिए अपूर्वा, रोहित की मसाज करने वाले भोलू व चालक अभिषेक के बयान को देखा जा रहा है। घटना वाली रात बाहर से किसी के अंदर प्रवेश करने के फुटेज नहीं मिले हैं।

मंगलवार 11 बजे अपूर्वा ने दिल्ली से बाहर किया फोन क्राइम ब्रांच से जुड़े सूत्रों के मुताबिक मोबाइल कॉल डिटेल रिकार्ड से पता चला है कि अपूर्वा ने मंगलवार की सुबह 11 बजे अपने मोबाइल से दिल्ली से बाहर रहने वाले एक व्यक्ति को फोन किया था। पुलिस को शक है कि यह फोन अपूर्वा ने किसी जानकार से सुझाव लेने के लिए किया।
अपूर्वा ने झगड़े के दौरान दबाया था रोहित का गला!
पुलिस सूत्रों के मुताबिक तीन दिन तक हुई पूछताछ के बाद अपूर्वा टूट गई और स्वीकार किया कि सोमवार की रात 11 बजे रोहित से उनका झगड़ा हुआ था। झगड़े के दौरान दोनों ने एक दूसरे का गला दबाया था। इसमें हो सकता है कि जोर से गला दब गया हो और सोने के दौरान रोहित की मौत हो गई हो।

हालांकि, क्राइम ब्रांच अपूर्वा की इस बात पर यकीन नहीं कर रही है। आशंका है कि अपूर्वा ने हत्या की धाराओं से बचने के लिए पुलिस को यह कहानी बताई हो, ताकि मामला गैरइरादतन हत्या का बन जाए।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here