उत्तराखंड में लॉकडाउन 3.0 में खुली शराब की दुकानों में उमड़ी भीड़ को देख कर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल हैरान हो गए उन्होंने कहा, ‘मैं यह देख रहा हूं कि राशन की मांग करने वालों के पास शराब खरीदने के लिए पैसे कहां से आ रहे हैं। प्रदेश सरकार को इस पर गंभीरता से विचार करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि मैं जब विधानसभा आ रहा था रास्ते में शराब की दुकानें और उन पर उमड़ी भीड़ दिखाई दी।

राशन के लिए पैसे नहीं शराब के लिए कहा से आ गये। बोले विधानसभा अध्य्क्ष प्रेम चन्द्र अग्रवाल

Posted by बोलता उत्तराखंड़ on Monday, May 4, 2020

मैं वहां भीड़ को देखकर हैरान हूं। मुझे बहुत अजीब लगा कि लॉकडाउन में जो लोग राशन की मांग कर रहे थे वे आज शराब के लिए लंबी लाइन में खड़े हैं। उनके पास शराब खरीदने के लिए पैसा कहां से आ रहा है। स्पीकर ने कहा कि सरकार को इस को
गंभीरता से लेना चाहिए


उन्होंने कहा कि मैं व्यक्तिगत रूप से शराब का पक्षधर नहीं हूं। लेकिन आज हमें कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करना है। सोशल डिस्टेंसिंग बनाना सबसे जरूरी है। लेकिन ज्यादातर शराब की दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग नहीं दिखाई दी। इस बारे में राज्य सरकार को सोचना होगा।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here