कलयुगी पोते ने दादी को बुरी नियत से दबोचा, हुवा विरोध तो उतार दिया मौत के घाट !

 

आपको बता दे कि पुलिस की गिरफ्त में वो आरोपी है ख़बर है कि रुड़की के गदरजुड्डा निवासी बुजुर्ग महिला की हत्या उसके रिश्ते के पोते ने ही की थी। पुलिस का कहना है कि आरोपी ने शराब के नशे में दादी को बुरी नियत से दबोचा
ओर विरोध करने पर उसने वृद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। उधर, पोते की इस हरकत से परिवार वालों के साथ ही गांव के लोग भी हैरान हैं।
आपको बता दे कि रविवार को सिविल लाइंस कोतवाली में प्रेसवार्ता कर एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने हत्याकांड का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि शुक्रवार शाम गदरजुड्डा निवासी बुजुर्ग महिला लल्ली देवी लापता हो गई थीं। उनकी मंगलौर कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज की गई थी।
शनिवार सुबह करीब 11.30 बजे महिला का शव खेत में मिला था। महिला के चेहरे और गले पर चोट के निशान थे। एसपी देहात ने बताया कि पुलिस ने घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण किया और परिजनों के साथ ही आसपास के लोगों से पूछताछ की। इस दौरान पुलिस को मृतका के रिश्ते के पोते सतपाल पर शक हुआ। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की।
ओर जब सख्ती से पूछताछ हुई तो वह टूट गया और अपना जुर्म कबूल करते हुए उसने बताया कि उसने शराब पी थी। उसकी दादी जब जंगल में लकड़ी लेने गई थीं तो वह उसके पीछे चला गया। नशे में उसने दादी को बुरी नियत से दबोच लिया। इस पर दादी ने उसके सिर पर दरांती से हमला कर दिया। इसके बाद उसने वृद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी।

ओर फिर इसके बाद वह सीधे झोलाछाप डॉक्टर के पास पहुंचा और पट्टी कराई। एसपी देहात ने बताया कि मृतका के परिजनों को भी घटना से संतुष्ट करा दिया गया है। आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। उन्होंने बताया कि घटना के खुलासे में शामिल पुलिस टीम को एसएसपी रिधिमा अग्रवाल ने ढाई हजार रुपये का ईनाम देने की घोषणा की है।
शराब का आदी है आरोपी
एसपी देहात ने बताया कि आरोपी शराब का आदी है। घटना वाले दिन आरोपी ने सुबह से ही शराब पी थी। इसके बाद वह गांव में घूमता रहा। उसने कई लोगों से बातचीत भी की। गांव में लगे सीसीटीवी कैमरे में भी आरोपी घूमता दिखाई दे रहा है।

पुलिस टीम में ये रहे शामिल
इंस्पेक्टर मंगलौर गिरीश चंद शर्मा, एसएसआई अजय कुमार, एसआई भगवान मेहर, अनुज कुमार, सतेंध धामा, अशोक कुमार, खेमेंद्र गंगवार, लोकपाल परमार, विकास शुक्ला, नीलम समेत रामबीर, इसरार, रजत, बलदेव, कुलदीप, मनोज, लाल सिंह, एसओजी प्रभारी रविंद्र कुमार, देवेंद्र भारती, अशोक, महिपाल, जाकिर हुसैन, नितिन, देवेंद्र ममगईं, सुरेश चंद रमोला।
बहराल इस कलयुगी पोते कि हरकत से पूरा गांव शर्मशार है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here