आप सभी जानते है कि देशभर में लॉकडाउन 31 मई तक बढ़ा दिया गया है। ओर केंद्र सरकार ने लॉकडाउन का चौथा चरण तय कर गाइडलाइन जारी कर दी है। यानी आज से लॉकडाउन का चौथा चरण आरम्भ हो गया है
वही उत्तराखंड मैं केंद्र की
गाइडलाइन के अनुसार,  पर्यटन और तीर्थाटन की गतिविधियां शुरू नहीं हो सकती हैं! 

त्रिवेंद्र सरकार ने ग्रीन जोन में पर्यटन गतिविधियां संचालित करने की अनुमति मांगी थी।
हालांकि सरकार को अब ग्रीन, आरेंज और रेड जोन तय करने का अधिकार मिलने से कोरोना रोकथाम में मदद मिलेगी। केंद्र की गाइडलाइन के अनुसार ही यह जोन तय होंगे। राज्य सरकार बंद पड़ी परिवहन सेवाओं को दोबारा शुरू कर जनता को राहत दे सकती है। इससे प्राइवेट ट्रांसपोर्ट संचालकों को भी रोजगार मिल सकता है। हालांकि सोशल डिस्टेंसिंग के कड़े मानकों के तहत ही इसको संचालित किया जा सकता है।
इसके अलावा सरकार दुकानों को खोलने का समय बढ़ाकर छोटे व्यापारियों को राहत दे सकती है। केंद्र सरकार ने रात सात बजे से अगली सुबह सात बजे तक ही पूर्ण लॉकडाउन रखने के निर्देश दिए हैं। ऐसे में दुकानों के खुलने के समय को सरकार बढ़ा सकती है।
ये भी जाने कल तक

उत्तराखंड में आज 17 मई तक 92 कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। इनमें से 52 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं और 39 मरीज ही ऐसे हैं, जिनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। जबकि एक कोरोना संक्रमित महिला की एम्स ऋषिकेश में मौत हो चुकी है, हालांकि मौत का कारण कोरोना नहीं, बल्कि ब्रेन हेमरेज था।
उत्तराखंड में आज 17 मई तक तीन जिलों में कुल 8 हॉटस्पॉट/ कंटेंनमेंट जोन हैं। इनमें सबसे ज्यादा देहरादून जिले में पांच,
उसके बाद हरिद्वार जिले में दो और एक ऊधमसिंह नगर जिले में है। हालांकि नए केस आने और पुराने ठीक होने के कारण इनमें जल्द बदलाव हो सकता है।

बहराल अब देखना ये होगा कि त्रिवेंद्र सरकार  आगे क्या कुछ फैसले  आपदा प्रदेश को  देखकर लेती है।वो निर्णय जो केंद्र सरकार नही राज्य सरकार तय करेंगी।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here