ईमानदार अफसर की विदाई, अब रौतेला को चार्ज

बोलता उत्तराखण्ड आपको बता रहा है ईमानदार अफसर पुष्पक ज्योति जी  द्वारा अजय रौतेला पुलिस उपमहानिरीक्षक गढवाल परिक्षेत्र का कार्यभार सौप दिया  है             आपको बता दे कि पौड़ी जिले में बस हादसे मैं 48 लोगो की जान चली गई जिसके बाद त्रिवेन्द्र सरकार ने लापरवाही बरतने के कारण तबादले कर डाले अब सरकार को कुछ तो करना ही था इसलिए ईमानदार अफसर का ताबदला कर सरकार ने ये बताने का प्रयास किया कि उन्होंने कार्यवाही की है खेर अब अजय रौतेला के हाथ मे कमान है आपको बता दे कि
इससे पहले 2001 बैच के आईपीएस अजय रौतेला2014 में देहरादून के पुलिस कप्तान भी रह चुके हैं। उसके बाद 2015 में डीआईजी बनने के बाद वह अपर गृह सचिव पद शासन में तैनात रहे। उसके बाद उनको डीआईजी कुमाऊं रेंज की जिम्मेदारी दी गई। इसके बाद फिर से इनको अपर गृह सचिव का चार्ज दिया गया। फिर उसके बाद अब अजय रौतेला डीआईजी गढ़वाल का पदभार सभालेगे जिसका चार्ज उन्होंने मंगलवार को ले लिया है     
अजय रौतेला पुलिस उपमहानिरीक्षक गढवाल परिक्षेत्र ने बताया कि उनकी प्राथमिकता अपराध नियन्त्रण पर फोकस होगा। पुलिस की कानून व्यवस्था पर फोकस रहेगा। इस समय मानसून सीजन है, रेन्ज के सभी जनपदों आपदा से पूर्व की तैयारियों पर पुलिस का रिस्पोंस पर फोकस रहेगा। साथ ही रेन्ज स्तर पर गाठित एस0आई0टी0 (भूमि) के कार्यों की समीक्षा भी समय समय पर की जायेगी। साथ ही अधीनस्थ कर्मचारियों की समस्यों को प्राथमिकता से ली जायेगी। जनपद हरिद्वार व देहरादून के ट्रैफ्रिक पर कार्ययोजना तैयार की जायेगी। फिलहाल d.I.g गढ़वाल अजय रौतेला ने अपनी प्रथमिकता को बता दिया है लेकिन आगे आने वाले दिनों में उनके पास चुनोतियो की कमी नही होगी जिससे निपटना आसना ना होगा क्योकि राजधानी मैं कानून के काम काज को लेकर सफेद पोशों का दखल हर बार रहता है फिर कोई बोले या ना बोले या माने या ना माने पर जितना बोलता उत्तराखण्ड राज्य के राजनेताओ को जानता है उनमें से कुछ राजनेता अक्सर अफसरो पर दबाव बनाते देखे गए है बस इस दबाव से जो बहार निकल गए वो अफसर ठीक से अपने काम को अंजाम दे पाते है फिलहाल अजय रौतेला जी को बोलता उत्तराखण्ड की तरफ से सुभकामनाये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here