आपको बता दें कि शुक्रवार को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल और हरिद्वार जिले की सीमा पर स्थित लालढांग क्षेत्र के जंगल में तीन गुलदार मृत मिले थे। और आज ख़बर है कि मसूरी में शावक का शव मिलने से हड़कंप मच गया। इससे पहले जानकारी ये है कि यहां लगातार गुलदार और दो शावकों को देखे जानी की चर्चा थी वही आज सूचना पर मसूरी वन प्रभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे और वहा का मुआयना किया है इससे पहले शुक्रवार को पौड़ी गढ़वाल और हरिद्वार जिले की सीमा पर स्थित लालढांग क्षेत्र के जंगल में तीन गुलदार मृत मिले थे। तीनों गुलदार अलग-अलग डिवीजनों की सीमाओं में मिले। वन विभाग ने शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए चिड़ियापुर रेस्क्यू सेंटर भेज दिया था


जो जानकारी मिली है उसके अनुसार वन विभाग प्रथम दृष्टया इस मामले को जहर देकर गुलदारों को मारने की एक बड़ी साजिश मानकर चल रहा है! वैसे भी एक साथ तीन गुलदारों की मौत से वन विभाग में हड़कंप मचा हुवा है ।
वही टाइगर रिजर्व और वन विभाग के अधिकारी मानकर चल रहे हैं कि तीन गुलदारों की मौत एक ही कारण से हुई है। प्रथमदृष्टया अधिकारियों का मनाना कि तीन गुलदारों की मौत जहरीले पदार्थ खाने से हुई है।
मीडिया को डीएफओ अकाश वर्मा ने बताया कि गुलदारों की मौत की जगह से दो किलोमीटर के क्षेत्र में इस बात की खोजबीन की जा रही है आखिर जहर किसमें मिलाया जो गुलदारों ने खाया। इसके लिए तीन टीमें भी गठित कर दी गई हैं। इसके साथ की लालढांग क्षेत्र के आसपास लोगों से भी पूछताछ की जा रही है बहराल ये चिंता का विषय है उत्तराखंड के मंत्री हरक सिंह रावत अवश्य गम्भीर होंगे।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here