हरिद्वार मे पंडित को बना दिया बलि का बकरा! सरकार तक अपनी बात रखना अपराध बन गया इनके लिए !

धर्म नगरी हरिद्वार की राजनीति राज्य के 12 जिलो से हटकर है यहा हर कोई नेता किसी दूसरे को आगे बढ़ने ही नही देता उसकी टांग खिंचने के सिवा कुछ और काम नही करता वो फिर किसी भी राजनीतिक पार्टी का ही क्यो ना हो इस नगरी मे युवा नेताओ को आगे बढ़ने ही नही दिया जाता यहा तो बस उनके खिलाफ ऐसे बगवात का बिगुल बजाया जाता जिस पर उनका कोई लेना देना ही नही ओर बेचारे युवाओँ का राजनीति मे भविष्य शूरू होने से पहले ही ख़त्म करने की साजिश चल दी जाती है
आपको बता दे कि केंद्र व उत्तराखंड में भाजपा की सरकार लाने के लिए जिन कार्यकर्ताओं ने संघर्ष किया वो ही बीजेपी के कार्यकर्ता ओर आम जनता की गलियाँ ओर अधूरे हाइवे पर चोटें खाते देखे जा रहे है ओर उसके बाद भी सरकार ओर सरकारे के मंत्रियो तक स्वस्थ मानसिकता के आधार पर सोशल मीडिया द्वारा अपनी बात पहुँचा रहे है तो हरिद्वार मे ही सत्ता के कुछ चापलूस नेता और छिछोरी राजनीति करने वाले  बीजेपी  के कार्य कर्ताओं को सरकार विरोधी की संज्ञा दें देते है

आजकल ख़बर आग की तरह सोशल मीडिया मे फेल गई है कि हरिद्वार से भाजपा के एक नेता उज्ज्वल पंडित की गुहार ओर कड़वा सच को कुछ हरिद्वार के ही नेता लोग पचा नही पा रहे है और उन पर सरकार विरोधी तक होने का आरोप तक लगा रहे है आपको बता दे कि भाजपा युवा मोर्चा का उज्वल पंडित प्रदेश उपाध्यक्ष है जो लगातार भाजपा की जन हित की योजनाओं को जनंता तक ले है जाता है और विपक्ष के आगे अपनी सरकार का मज़बूत पक्ष भी रखता है । पर आजकल उज्वल पंडित परेशान है कसूर सिर्फ इतना था कि इनके साथी कार्यकर्ता के साथ घटना घट गई और जनंता भी इनको ही कोसती रहती है और कोसे भीं क्यो ना मदन कौशिक ( बीजेपी ) के लिए वोट मांगने भी यही तो जाते है जनंता के पास तब उज्वल पंडित ने अपनी फेसबूक् पर एक पोस्ट डाली थी।

“ प्लीज़ प्लीज़ प्लीज़ हमारी भाजपा सरकार मा०मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र जी व मा०मंत्री मदन कौशिक जी हरिद्वार-देहरादून हाइवे बनवा दीजिए “
बस फिर क्या था पंडित की ये पोस्ट पंडित पर ही भारी पड़ गई क्योकि उनकी इस पोस्ट पर कांग्रेस को मौका मिल गया दो बात सरकार को कहने का तो आम जन ने भी अपनी बात रखी तो उधर उज्वल पंडित के राजनीतक विरोधियों ने भी पंडित पर हमला बोल दिया और उनको पार्टी का विरोधी बता कर उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ करना शूरू कर दिया। भाई अगले की गलती क्या थी जब बीजेपी के लिए वोट मांगने होते है तो यही कार्यकर्ता लोग हाथ जोड़कर हर चौखट पर जाकर अपने बीजेपी के उम्मीदवार के लिए वोट मागते है और अगर पंडित से सभ्यता के साथ पार्थना के साथ अपनी दिल की बात अपने फेसबुक पेज पर लिख दी तो कोन सा पाप कर दिया पंडित ने ? जो उसकी राजनीतिक् बलि लेने पर उतारू हो गए कुछ हरिद्वार बीजेपी के ही लोग । ये हरिद्वार है यह तो जब अटल जी कि अस्थि विर्सजन यात्रा में भी सियासत हो सकती है तो फिर ये तो ठेरा बेचारा उज्वल पंडित। राज्य सरकार की व्यस्ताओं के चलते जनंता की अब गंदी बात सिर्फ आम कार्यकर्ता ही सहता है जो उज्वल पंडित सुन रहा था ऐसे में एक कार्यकर्ता ने महत्वपूर्ण विषय उठाया तो उसे कुछ लोगो द्वारा हताश करना या पार्टी विरोधी कहना पूर्णत: अव्यवहारिकता है लगता है।  
कारण साफ है क्योकि उज्वल पंडित ने सभ्यता के साथ अपनी बात रखी। ना कि हरिद्वार के उन नामी नेताओं की तरह जो खुले आम बीच बीच मे सरकार को खरी खरी सुना देते है ओर तब सगठन को कारण बताओ नोटिस देना पड़ता है और उसके बाद होता कुछ नही बात ठंडे बस्ते मे चली जाती है फिर इस छोटे नोजवान युवा नेता के पीछे क्यो पड़े हो भाई ?

क्योकि बात इस प्रकरण के बाद बात इतनी बढ़ गई कि उज्ज्वल पंडित की अपनी सफाई और अपील तक लिखनी पढ़ गई
सादर प्रणाम,
कल मैंने फ़ेसबुक पर एक पोस्ट अपने “मा०मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी व हरिद्वार विधायक व मा०कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक जी से ‘हरिद्वार-देहरादून हाइवे’ जल्द बनवाने” की अपील की थी । 
ज़रूरी नही की हर पोस्ट विरोध ही हो,सोशल मीडिया मे अपनी बात त्वरित रखने का अच्छा माध्यम है ,जहाँ कम शब्दों मे सब कहा जा सकता है।
जनता हमसे (भाजपा) से बहुत आशाएँ कर रही है मैंने सिर्फ़ भाजपा कार्यकर्ताओं व देश विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं की बात उठाई है फिर मेरे राजनीतिक विरोधियों को मेरे ख़िलाफ़ अभियान चलाने का मौक़ा मिला है तो भी मुझे कोई आपत्ति नही है
मैं भाजपा का ज़िम्मेदार पदाधिकारी हुँ
आपका
उज्ज्वल पंडित, प्रदेश उपाध्यक्ष,भाजयुमो
ज़िला प्रभारी पौड़ी गढ़वाल,उत्तराखंड

अब बोलता है उत्तराखंड की धर्म नगरी हरिद्वार मे बीजेपी गुटों मे बटी नज़र आती है कोई विधायक निशक गुट से  कहलाता है तो कोई विधायक मंदन कौशिक गुट से ओर अब तो तीसरा नाम सतपाल महाराज गुट भी सुनाई देता है जो निशक गुट के साथ खड़ा है ! ये हाल जब ऊपर के नेताओ के होंगे तो पार्टी के आम कार्यकर्ता को कोन पूछेगा ओर ये ही आम कार्यकर्ता बीजेपी की रीढ़ की हड्डी है जिनको तोड़ने का प्रयास हरिद्वार मे आये दिन होता है।बहेतर होता कि उज्वल पंडित की बात फेसबुक पर पड़कर हरिद्वार से बीजेपी के बड़े नेता उनको बुलाकर कहते कि जाओ कह दो जाकर जनंता से कार्यकर्ता से की जल्द हम हाइवे का पूरा काम करवा देंगे थोड़ा बरसात रुकने का इंतज़ार है और दो चार मीटिंग भी हो जाती पर ये सब ना होन की बजाय पंडित के उज्वल भविष्य पर ग्रहण लगाने का काम जोरो पर है ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here