है भगवान ये क्या डाला ये मासूम मेरे पहाड़ के बच्चे आज भी रोज की तरह ही गाड़ी से हंसी-खुशी अपने स्कूल जा रहे थे, उनके परिजनों ने रोज की तरह उनको तैयार किया , क्या बीत रही होगी उन परिवार पर सोच कर ही क्लेज़ा फटा जा रहा है । भगवान जी क्या पता था किसी को की ये मासूम स्कूल की जगह आपके पास पहुँच जायेगे । उफ दुःखद है मेरे लिए पूरे उत्तराखंड के लिए , उन माताएं पिताओं के दर्द को बया नही कर सकता हूँ शब्द हींन हूँ आज मै इस हादसे से हर कोई स्तब्ध है।


मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की आंखों मैं भी इस दर्द को देखा हमने , पूरी टिहरी से लेकर हर जिले मैं मासूमो की दर्दनाक मौत से हर कोई व्याकुल है पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत , राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी से लेकर पूरी उत्तराखण्ड सरकार और विपक्ष की आँखे नम है
क्योंकि आज टिहरी के प्रतापनगर-कंगसाली-मदननेगी मोटर मार्ग पर बच्चों को लेकर स्कूल जा रहा मैक्स वाहन संख्या यूए 07क्यू 3126 अनियंत्रित होकर खाई में गिर गया। बस फिर क्या था हर तरफ मासूमो की चीख पुकार उफ लिखते हुए भी दिल तेज़ी से धड़क रहा है तो सोचो वहां उस दौरान क्या बीती होगी मासूमो पर।
टिहरी जिले के प्रतापनगर ब्लॉक मैं ये दुःखद घटना आज सुबह लगभग साढ़े सात बजे हुई । सूचना पर एसडीआर, पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और राहत व बचाव कार्य शुरू किया।
इस वाहन में कुल 19 बच्चे सवार थे। तहसीलदार ने बताया कि दो बच्चों की मौत मौके पर ही हो गई थी। बाकी बच्चों की मौत अस्पताल में इलाज के दौरान हुई। मृतक बच्चों में चार-पांच साल उम्र के बच्चे भी शामिल हैं। सभी बच्चे एंजल्स इंटरनेशनल स्कूल मदननेगी में पढ़ते थे


एसओ लंबगाव ने बताया कि घटना में नौ बच्चों की मौत हो गई है दुःखद और 10 गंभीर रूप से घायल हैं। घायलों को जिला अस्पताल टिहरी लाया गया है। चालक का नाम लक्ष्मण रतूड़ी पुत्र प्रेम दत्त रतूड़ी निवासी रिंडोल गांव है। दुर्घटना में घायल चार स्कूली बच्चों को एम्स ऋषिकेश पहुंचाया गया है


मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सरकार के हेलीकॉप्टर से घायल बच्चों को आईडीपीएल स्थित हेलीपैड पर उतारा गया। यहां से एंबुलेंस पर चार घायलों को एम्स ऋषिकेश पहुंचाया गया। घायल बच्चों के नाम अखिलेश, प्रिंस, सिद्धार्थ, ऋषभ हैं। एक घायल के कार से एम्स पहुंचने की जानकारी मिली थी
ये मासूम बच्चे जो अब दुनिया मैं नही रहे
ऋषभ उम्र पांच साल, अयान उम्र चार साल, आदित्य उम्र आठ साल, विहान उम्र पांच साल, ईशान उम्र छह साल, अभिनव उम्र छह साल, साहिल उम्र 13 साल, आदित्य उम्र 10 साल, वंश उम्र पांच साल।

घायल बच्चाें के नाम: ईशिका, कृष्णा, आशीष, प्रिंस नौ वर्षीय, ऋषभ  10 वर्षीय, वेदिका, अखिलेश आठ वर्षीय, सिद्धार्थ 10 वर्षीय, नैतिक, कान्हा।
अब तक मिली दुःखद जानकारी के अनुसार

 

है विधाता इन्होंने क्या बिगाड़ा था तेरा।

है विधाता हमनू तेरु क्या बिगाड़ी
केकी लगी होली नज़र हमरा उत्तराखंड का नौनीयालो पर  ,   दुःखद



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here