मैं हमेशा से कहता हूं कि हमारे पास पर्याप्त संसाधन मौजूद हैं। हमें सदुपयोग करना होगा। मुझे खुशी है कि हमारे पहाड़ की मेहनतकश महिलाओं ने प्रधानमंत्री जी के “वोकल फ़ॉर लोकल” के आह्वाहन को गंभीरता से लिया और मौजूद संसाधनों का बेहतरीन उपयोग किया।

डॉ महेंद्र कुंवर की प्रेरणा से HARC संस्था के तत्वाधान में अलकनंदा स्वायत्त सहकारिता समूह(चमोली) की महिलाओं ने लिंगुडे़ (Diplazium Esculentum) का अचार बनाया है। लिंगुड़ा पहाड़ों में बहुतायत पाया जाता है। यह ऑर्गैनिक तो है ही, इसमें प्रचुर मात्रा में आयरन पाया जाता है।

उत्तराखण्ड को स्वरोजगार से आत्मनिर्भर बनाने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना शुरू की है। इस योजना में ऐसे कई काम किये जा सकते हैं जो आत्मनिर्भर भारत की बुनियाद रखेंगे।
मैं इस नवीन पहल के लिए तमाम महिलाओं को सलाम करते हुए डॉ कुंवर और उनकी टीम को बधाई देता हूं।
VocalForLocal

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के मीडिया सलाहकार रमेश भट्ट की कलम से



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here