उत्तराखंड : दुल्हन के चाचा को बस न रौंदा, मौत दुःखद, अगले माह थी खुदी की बेटी की शादी।


दुःखद ख़बर ऊधमसिंह नगर के किच्छा निकटवर्ती ग्राम बरा से है बता दे कि शुक्रवार रात को शादी के कार्यक्रम में उस समय मातम छा गया, जब दुल्हन के चाचा की हादसे में मौत हो गई। तब शनिवार सुबह शोकाकुल वातावरण में एक ओर सुबह भतीजी की डोली विदा हुई, वहीं दूसरी तरफ चाचा के शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। ओर दोपहर बाद उनकी अंत्येष्टि की गई। बता दे कि बरा निवासी रामचंद्र उम्र (47) साल पुत्र नन्हे लाल की भतीजी पूजा की रामपुर के मिलक से बरात आई हुई थी। मीडिया को बताया जा रहा है कि रात लगभग 12 बजे दुल्हन के चाचा रामचंद्र बरात के पंडाल के पास स्थित हाईवे पर खड़े थे। इस बीच सितारगंज की ओर जा रही प्राइवेट बस ने रामचंद्र को जोरदार टक्कर मार दी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बस चालक ने कुछ देर के लिए बस रोकी और फिर फरार हो गया।
फिर ग्रामीणों ने बस का पीछा किया और सितारगंज एवं नानकमता पुलिस को हादसे की सूचना दी। देर रात नानकमता पुलिस ने बस को अपने कब्जे में लिया था। दूसरी तरफ हादसे में घायल रामचंद्र को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।
वहीं, हादसे की सूचना पर बरा निवासी जिला पंचायत अध्यक्ष ईश्वरी प्रसाद गंगवार, सुरेश पपनेजा, रामनारायण समेत तमाम लोग मृतक के आवास पर पहुंचे और परिजनों को सांत्वना दी। जिला पंचायत अध्यक्ष गंगवार ने कहा कि मृतक के परिवार को मुआवजा दिलाया जाएगा।

सबसे बड़ी दुख की बात ये है कि अगले माह होनी है रामचंद्र की बेटी की शादी अब कोन बनेगा सहारा।
बता दे कि मृतक रामचंद्र गांव में खेती करते थे। उनकी दो बेटियां और एक बेटा है। एक बेटी विवाहित है जबकि दूसरी बेटी भानमती का विवाह 10 जून को तय हुआ है। इस दुखद घटना के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। बहराल इस दुःखद हादसे ने इनके परिवार को बुरी तरह तोड़ कर रख दिया।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here